जब अमृतसर रॉयल फैमिली क्लब के बीच पहुंचा गृहलक्ष्मी दोपहर

गृहलक्ष्मी टीम

15th July 2017

अमृतसर के  सेलिब्रेशन मॉल स्थित द ग्रैंड विलेज में आयोजित गृहलक्ष्मी दोपहर में आई महिलाओं ने जमकर कार्यक्रम का लुत्फ उठाया। उन्होंने फोटो बूथ पर फोटो भी खिचवाएं, गेम्स में बढ़चढ़कर हिस्सा लिया, एक नई और दिलचस्प रिसिपी भी सीखी और जीते ढ़ेरों ईनाम और टाइटल्स। 

जब अमृतसर रॉयल फैमिली क्लब के बीच पहुंचा गृहलक्ष्मी दोपहर
कार्यक्रम की शुरूआत हुई सवच्छता शपथ के साथ। प्रेसीडेंट वर्तिका मदान के साथ-साथ अमृतसर रॉयल फैमिली क्लब की सभी महिलाओं ने  गृहलक्ष्मी दोपहर की एंकर के साथ ली स्वच्छता की शपथ। 
 
शेफ तनु ने ली लाइव कुकरी क्लास 
गृहलक्ष्मी दोपहर के दौरान शेफ तनु ने महिलाओं को सिखाया 'चिल्ड क्रिस्पी एप्पल रेसिपी' बनाना सिखाया। साथ ही साथ उन्होंने दिए महिलाओं को ढ़ेरों यूज़फुल टिप्स।
 
 
 
ये रहे टाइटल विनर्स और बम्पर प्राइज़ विनर
 
गृहलक्ष्मी दोपहर में जो बात महिलाओं के चेहरे पर खुशी बिखेर देती है वो है हमारे मज़ेदार टाइटल्स और थोड़ी-थोड़ी देर पर कभी सवालों के जवाब देने के लिए तो कभी गेम में सबसे अच्छा पर्फॉर्म करने के लिए मिलने वाले गिफ्ट्स। इतना ही नहीं गृहलक्ष्मी दोपहर के दौरान महिलाओं के पास लकि डिप जीतने के भी कई मौके होते हैं। 
अमृतसर रॉयल फैमिली क्लब में इन लोगों ने जीते गिफ्ट्स और टाइटल्स -
अर्ली बर्ड- सुलेखा
मिस चुपचाप- नेहा सन्धु
चटर-पटर- दलविन्दर कौर
मिस फिट एंड एक्टिव- सनाया जौली
बम्पर प्राइज- नेहा
 

समर क्वीन टाइटल के लिए रैम्प पर उतरी महिलाएं

दो राउन्ड में हुआ गृहलक्ष्मी दोपहर के दौरान समर क्वीन के विनर्स का चयन। हर राउंड में 20 महिलाओं ने भाग लिया और सवाल जवाब में हिस्सा भी लिया। इस राउंड में मुख्य आकर्षण रहा महिलाओं द्वारा किया गया दिलकश फैशन शो। समर क्वीन के टैग के लिए रैम्प पर जलवे बिखेरती अमृतसर फैमिली क्लब की महिलाओं की देखिए एक झलक-

 
 
ये रही समर क्वीन टाइटल विजेता-
सिल्की बनी फर्स्ट रनरअप जबकि शिखा बनी समर क्वीन टाइटल की विनर।
 
ऐसा रहा महिलाओं का रिएक्शन
यूं तो गृहलक्ष्मी दोपहर में आई लेडीज़ के मुस्कुराहटों और उनकी पूरे उत्साह के साथ हर गेम, हर एक्टिविटी में सहभागिता ये समझने के लिए काफी होता है कि महिलाएं एंजॉय कर रही हैं। लेकिन जब हमने उनसे पूछा कि उन्हें कैसा लगा गृहलक्ष्मी दोपहर में आकर तो उनके जवाब सुनने लायक थे। किसी ने कहा नहुत मज़ा आएगा तो किसी ने कहा सोच नहीं सकती थी कि महिलाओं के लिए भी ऐसे कार्यक्रम किए जा सकते हैं।
दलविंदर कौर ने कहा कि मुझे तो गृहलक्ष्मी उस समय से याद है जब मैं पढ़ना नहीं जानती थी। मैं मम्मी की ये मैगज़ीन के पन्ने पलट-पलट कर फोटो और स्वेटर देखा करती थी। आज इसके इस कार्यक्रम में आकर इतनी खुशी हो रही है कि बताना मुश्किल है।                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                   
ये भी पढ़े-
 
 
 
 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

देश भर में लागू हुए समान कर प्रणाली (GST) से क्या आप सहमत हैं ?

गृहलक्ष्मी गपशप

मैं अपनी बेटी को यौन दुर्व्यवहार के खिलाफ कैसे तैयार करूं?

मैं अपनी बेटी को...

संस्कृति शर्मा सिंह, क्लीनिकल साइकोलोजिस्ट, एनएमसी...

बॉडी लैंग्वेज के ट्रिक्स सीखने के लिए करें गृहलक्ष्मी किटी पार्टी में रेजिस्टर

बॉडी लैंग्वेज के...

क्या आप ये जानती हैं कि किसी के बिना कुछ बोले ही उसकी...

संपादक की पसंद

घर की लक्ष्मी

घर की लक्ष्मी

माया को उसके सास-ससुर बात-बात पर ताने मारते। उसका पति...

जब तुम बड़ी हो जाओगी...

जब तुम बड़ी हो जाओगी......

  प्यारी बेटी, जब तुम बड़ी हो जाओगी, दुनिया...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription