GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

त्वचा संबंधी छह आम समस्याएं और उनका समाधान

अर्पणारितेश यादव

13th April 2015

गर्मी के मौसम में त्वचा संबंधी 6 ऐसी समस्याएं हैं, जिससे हर महिला को दोचार होना पड़ता है। पर यदि कुछ बातों को ध्यान रखें तो इन समस्याओं से बचा जा सकता है। वो कैसे? आइए जानें-

गर्मी का मौसम शरीर और त्वचा दोनों पर भारी पड़ता है। जैसे-जैसे तापमान बढ़ता है गर्मी बर्दाश्त से बाहर होने लगती है, शरीर को व खुद को ठंडा, सुरक्षित और संक्रमण से मुक्त रखने के लिए लोगों को ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है। यही बात त्वचा पर भी लागू होती है। इन सारी समस्याओं का एकमात्र उपाय होता है खुद को अच्छी तरह से हाइड्रेटेड रखना, मतलब अपनी त्वचा को सूरज के सीधे संपर्क से बचाना और संक्रमण के लिए जिम्मेदार स्थितियों से बचाव करना और साथ ही कुछ नियमों का पालन करना।

1. समस्या

सनबर्न :- गर्मियों की धूप बेहद तीखी होती है। इससे त्वचा को छील जाती है और त्वचा पर लाल चकत्ते और निशान भी उभर जाते हैं जिससे जलन महसूस होती है। ऐसा उन लोगों को ज्यादा होता है जिनकी त्वचा संवेदनशील होती है। साधारण भाशा में कहे तो सूरज मुलायम और संवेदनशील त्वचा को जला देती है।

उपाय :- इस स्थिति से खुद को बचाने का एक ही उपाय है, जहां तक हो सके धूप के सीधे संपर्क में आने से बचें। इसके साथ ही त्वचा पर नियमित रूप से सन्सक्रीन लगाना भी जरूरी है। अपने चेहरे, गर्दन और बाहों पर बाहर निकलने से 20 मिनट पहले कोई सनब्लॉक क्रीम अच्छी तरह से लगाएं। इतना ही नहीं, त्वचा की सुरक्षा बरकरार रहे इसके लिए हर 4 घंटे के अंतराल में सन्सक्रीन लगाएं। इसके साथ ही संवेदनशील त्वचा वाले लोगों को दिन के समय में शरीर को जहां तक हो सके ढंकने वाले और कॉटन के कपड़े पहनने की सलाह दी जाती है। अपनी त्वचा की गर्मी शांत करने के लिए शाम को एलोवेरा जेल का फेस पैक इस्तेमाल करें।

2. समस्या

डीहाइड्रेशन:-  डीहाइड्रेशन का असर सिर्फ आपके शरीर को ही नहीं बल्कि आपकी त्वचा को भी झेलना पड़ता है। लगातार पसीना आने से शरीर में पानी की कमी होती रहती है। इसकी पूर्ति के लिए अगर पर्याप्त मात्रा में लिक्विड न लिया जाए तो त्वचा रूखी, बेजान, इरिटेटेड और सनबर्न की चपेट में आने के अनुकूल बन जाती है, जिससे होंठ फटने लगते हैं और जगह-जगह रूखे चकत्ते उभर सकते हैं।

उपाय :- इससे बचाव के लिए खूब सारा पानी पीते रहें। हर समय अपने साथ पानी की एक बोतल रखें। हर आधे घंटे में एक बार पानी जरूर पिएं। गर्मियों में तरबूज जैसे फल शरीर और त्वचा के लिए बेहद उपयुक्त होते हैं क्योंकि इनमें खूब सारा पानी होता है। आप कुछ डीप हाइड्रेटिंग ट्रीटमेंट भी ले सकते हैं, जैसे कि हाइड्रेटिंग इलेक्ट्रोपोरेशन थेरेपी, ऑक्सीजन थेरेपी और जुवेडर्म रिफाइन।

3. समस्या

मुहांसे :-  पसीना हमारी त्वचा को धूल-मिट्टी और प्रदूशण के लिए चुंबक जैसा बना देता है, खासतौर से तब जब हम बाहर ज्यादा समय गुजारते हैं। गर्मी और गंदगी का यह मेल मुंहासों के पनपने के लिए उपयुक्त होता है। गंदगी से त्वचा के रोम छिद्र बंद हो जाते हैं और भीतर से गर्मी बढ़ने पर बैक्टीरिया तेजी से पनपते हैं।

उपाय :- मुंहांसों की समस्या को कम करने के लिए त्वचा को हमेशा साफ रखें। अपने साथ हमेशा एक फेसवॉश रखें और त्वचा को साफ रखने के लिए दिन में कम से कम तीन बार चेहरा धोएं। त्वचा के रोमछिद्र बंद न हों इसके लिए हर शाम में कोई अच्छा स्किन क्लींजर लगाएं। एंटी बैक्टीरियल फेसवॉश का इस्तेमाल करें और रात में चेहरे पर मुल्तानी मिट्टी या चंदन पाउडर का लेप लगाएं। इससे आपकी त्वचा में ठंडक बरकरार रहेगी। कई बार मुंहांसों से निजात के लिए मेडिकल उपायों की भी जरूरत पड़ती है। तो अगर आपकी समस्या घरेलू उपायों से ठीक नहीं हो रही है तो किसी त्वचा रोग विशेषज्ञ से मिलें। हो सकता है आपको हार्मोनल करेक्शन की जरूरत हो।

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

जानिए बॉलीवु...

जानिए बॉलीवुड की...

चलिए जानते हैं कुछ एक्ट्रेसेस के बारे में जिन्होंने...

चाणक्य के अन...

चाणक्य के अनुसार...

सदियों से ये सोच चली आ रही है महिलाएं शारीरिक और मानसिक...

संपादक की पसंद

रामायण: घर-घ...

रामायण: घर-घर में...

रामानंद सागर की 'रामायण' लॉकडाउन में जब दोबारा प्रसारित...

खाद्य पदार्थ...

खाद्य पदार्थ जो...

आजकल आप थके-थके रहते हैं। रोमांस करने की आपकी इच्छा...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription