GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

मानसून रोगों से बचने के उपाय

डा. पंकज अग्रवाल

25th July 2017

बरसात के मौसम में बैक्टीरिया और कीटाणुओं से कई बीमारियां हो जाती हैं। इनमें से कुछ बीमारियां आसानी से ठीक हो जाती हैं लेकिन कुछ बीमारियां जीवन भर के लिए रह जाती हैं। डॉ पंकज अग्रवाल, से जानिये कुछ टिप्स कि इन मानसून आप कैसे खुद को बीमारियों से बचा सकते हैं।


मलेरिया - मच्छर से होने वाली इस बिमारी में बुखार, ठण्ड और फ्लू-जैसी बिमारी का अनुभव होता है। इस सीजन की यह सबसे आम बीमारी है।

बचाव का तरीका - चूँकि यह बीमारी मच्छर की वजह से फैलती है, ऐसे में नेट और मच्छर भगाने वाली दवाइयों का इस्तेमाल करें। यह भी ध्यान रखें की घर के आस-पास पानी न जमा होने पाये।

हैजा - हैजा भी एक घातक बीमारी है, बैक्टीरिया के इन्फेक्शन की वजह से यह आंत में इन्फेक्शन करता है।

बचाव का तरीका - दिन में कई बार साबुन और पानी से हाथ धोये। सिर्फ गर्म पानी या बोतलबंद पानी ही पियें। पूरी तरह से पके हुए खाने को ही खाएं। सिर्फ वही फल और सब्जी खाएं जिन्हें आप छील सकते हैं।

वायरल बुखार - पूरी दुनिया में वायरल की बिमारी सबसे आम है,लेकिन मानसून के दिनों में यह काफी बढ़ जाती है।

बचाव का तरीका - सबसे आसान तरीका है खुद को बारिश में भीगने से बचाने का। हल्दी वाले दूध का सेवन करें। गर्म पानी के गरारे करें ताकि गले को आराम मिले। यदि इससे आपको आराम न मिलें, तो डॉक्टर की सहायता लें।

डेंगू - डेंगू भी एक घातक बिमारी है, जिसमें आप की जान को काफी खतरा है।
बचाव का तरीका - मच्छरों से बचने के लिए नेट का इस्तेमाल करें, और जितना हो सके, पूरी बाज़ू के कपड़े पहनें।