GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

ऊन खरीदते समय इन बातों का खास ध्यान रखें

अर्पणा रितेश य़ादव

5th October 2015

बुनाई कला की पहली क्लास में ऊन के बारे में तो आपको पूरी जानकारी मिल गईं। अब दूसरी क्लास में हम बताते हैं कि ऊन खरीदते समय किन बातों का ध्यान रखें ओर किस तरह से ऊन खरीदें।

दूसरा दिन-

- ऊन खरीदते समय पहनने वाले की आयु, रंग और लिंग आदि का ध्यान रखकर ही ऊन खरीदें। बड़े उम्र वालों के लिए हल्के व बच्चों के लिए गहरे व चटकीले शेड ही संदर लगते हैं। इसी तरह कम उम्र की लड़कियों व महिलाओं की उम्र का ध्यान रख कर शेड खरीदें। 
- नवजात शिशुओं के लिए बाबा वूल ही खरीदें, जो मुलायम व हल्की हो। फर वाली ऊन का प्रयोग ना करें। 
-ऊन को हमेशा दिन में शोरूम से बाहर आकर ही देखें क्योंकि शोरूम की रोशनी में शेड में हल्का अंतर मालूम नहीं पड़ता। पर जब स्वेटर बनाने पर वह अंतर सामने आता है। 
- हमेषा अच्छी क्वालिटी की ऊन का चुनाव करें। कभी भी सस्ती किस्म की ऊन न खरीदें। ऊन को छूकर देखें, अगर ऊन चुभती है तो कभी भी न खरीदें। हमेशा हाथों को मुलायम लगने वाली ऊन खरीदें। 

 

 

 -ऊन जितनी हल्की होगी उतनी ही अच्छी होगी। हल्के वजन वाली ऊन लंगी व मुलायम होती है। ऊन का गोला हमेशा ढीला लपेटें। कसकर गोला बनाने से ऊन चमक खो देती है और ऊन की नमी भी कम हो जाती है। 

-बुनाई शुरू करने से पहले हाथों को साबुन से अच्छी तरह से धों लें और हाथ सुखाकर ही अच्छी तरह से बुनना शुरू करें, वरना हाथों पर लगी गंदगी, चिकनाई स्वेटर को रंगहीन बना देती है

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

जानिए बॉलीवु...

जानिए बॉलीवुड की...

चलिए जानते हैं कुछ एक्ट्रेसेस के बारे में जिन्होंने...

चाणक्य के अन...

चाणक्य के अनुसार...

सदियों से ये सोच चली आ रही है महिलाएं शारीरिक और मानसिक...

संपादक की पसंद

रामायण: घर-घ...

रामायण: घर-घर में...

रामानंद सागर की 'रामायण' लॉकडाउन में जब दोबारा प्रसारित...

खाद्य पदार्थ...

खाद्य पदार्थ जो...

आजकल आप थके-थके रहते हैं। रोमांस करने की आपकी इच्छा...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription