GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

जानिए क्या है सेकेंड हैंड स्मोकिंग, जिसका सबसे अधिक शिकार होती हैं महिलाएं

यशोधरा वीरोदय

19th September 2019

अगर आपके घर में आपके पति या घर का कोई दूसरा सदस्य स्मोकिंग कर रहा है, तो आप भी उसके जरिए सेकंड हैंड स्मोकिंग का शिकार हो सकती हैं

जानिए क्या है सेकेंड हैंड स्मोकिंग, जिसका सबसे अधिक शिकार होती हैं महिलाएं
अगर आप स्मोकिंग नहीं करती हैं और इसलिए आप सोचती हैं कि आप इसके नुकसान से बची रह जाएंगी, तो आप गलत हैं। दरअसल, भले ही सीधे तौर पर आप सिगरेट या दूसरी धूम्रपान की चीजों को हाथ  ना लगाती हो, पर अगर आपके घर में आपके पति या घर का कोई दूसरा सदस्य स्मोकिंग कर रहा है, तो आप भी उसके जरिए सेकंड हैंड स्मोकिंग का शिकार हो सकती हैं। असल में इसका शिकार ज्यादातर महिलाएं होती हैं। तो चलिए जानते हैं कि क्या है सेकंड हैंड स्मोंकिग और क्या है इसके नुकसान?

धुंए को निगलना

असल में, अगर कोई व्यक्ति स्मोकिंग कर रहा है और उसके सामने या आसपास कोई दूसरा व्यक्ति जोकि उसके स्मोक के संपर्क में आता है और उस धुंए को निगलता है, तो दूसरा व्यक्ति सीधे तौर पर स्मोकिंग ना करते हुए भी सेकंड हैंड स्मोकिंग का शिकार बन जाता है। इसमें खतरनाक बात ये है कि सीधे तौर पर सिगरेट पीने वाला शख्स, जहां फिल्टर से छनते हुए धुएं को अंदर लेता है, वहीं जो दूसरे व्यक्ति उसके आसपास होते हैं, वे बिना छने हुए धुएं को ग्रहण को मजबूर होते हैं।

सेहत के लिए हानिकारक

ऐसे में भले ही आप सीधे तौर पर स्मोकिंग नहीं कर रही हैं, पर सेकंड हैंड स्मोकिंग का शिकार बन जाती हैं, जो कि काफी नुकसानदायक है। आपको बता दें कि स्मोकिंग वाले धुंए में सामान्य हवा की तुलना में 3 गुना निकोटिन, 3 गुना टार और 50 गुना अमोनिया होती है जोकि आपके सेहत के लिए हानिकारक है।

कैंसर का खतरा

स्वास्थ्य विशेषज्ञों की माने तो सेकंड हैंड स्मोकिंग के चलते फेफड़े सम्बंधी रोगों के साथ ही मुंह, गले के कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है। साथ इसके कारण दिल के रोगों का खतरा भी काफी हद तक बढ़ सकता है।

बच्चे पर दुष्प्रभाव

इसके अलावा अगर गर्भवती महिलाएं सेकंड स्मोकिंग का शिकार होती हैं, तो उनके साथ साथ गर्भ में पल रहे बच्चे पर भी इसका दुष्प्रभाव पड़ता है।

धुंए के संपर्क से बचें

इसलिए जितना हो सके इससे बचें। अगर आपके पति या घर का कोई भी सदस्य स्मोकिंग करता है, तो कम से कम उन्हें घर में या अपने सामने स्मोकिंग ना करने दें। या किसी भी तरह से सिगरेट के धुंए के संपर्क में आने से बचें।

ये भी पढ़े-

कहीं आप भी तो नहीं लेती हैं बिना सोचे-समझे पेन किलर्स ?

अगर बचना है वायरल फीवर से तो इन 5 घरेलू नुस्खों को आजमाएं

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

दिवाली पर ये 6 चीज़ें सबसे पहले घर से करें...

default

इन गलतियों के चलते आपकी पूजा हो सकती है निष्फल,...

default

भारत के इन सुप्रसिद्ध हिस्टोरिकल प्लेसेस...

default

आज 1 अक्टूबर से बदल चुके हैं ये नियम, क्या...