GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

गारंटी और वारंटी का फेर

स्पर्धा रानी

28th October 2015

बाजार से कोई भी सामान खरीदते वक्त जरूरी है इसकी गारंटी-वारंटी के बारे में जानना। अगर आप वारंटी और गारंटी का अंतर नहीं जानती तो पहले इसकी विस्तृत जानकारी प्राप्त करें।

गारंटी और वारंटी का फेर

अक्सर देखने को मिलता है कि कई महिलाओं को किचन से जुड़े सामान की न तो वारंटी और न ही गारंटी में फर्क समझ आता है और न ही वे घर में खराब हो रही चीजों के बारे में कंपनी के प्रतिनिधि से सही तरीके से बात कर पाती है, जोकि गलत है। क्योंकि बाजार में सब सही तरीके से चलता रहे, कंपनियों की आमदनी होती रहे, इसमें सबसे बड़ी भूमिका हम उपभोक्ताओं की ही है। जब किचन का सामान खरीदने की बारी आती है तो इसमें सबसे बड़ा योगदान महिलाओं का होता है। स्टॉक एक्सचेंज में इन कंपनियों का जो हिस्सा है, वह भी महिलाओं की ही वजह से है। बतौर खरीददार आपको क्या चाहिए? इससे आप कंपनियों को अच्छी गुणवत्ता के उत्पाद प्रदान करने को मजबूर कर सकते हैं। इसलिए, आप लोगों को वारंटी और गारंटी के बीच के फर्क को सही तरीके से समझना जरूरी है।

 

समझें वारंटी और गारंटी का अर्थ

यदि डिक्शनरी में देखेंगे तो हमें पता चलेगा कि इन दो शब्दों को पर्यायवाची के तौर पर लिया गया है। लेकिन बाजार के संदर्भ में देखेंगे तो इन दोनों के बीच सूक्ष्म अंतर है।

 

गारंटी का अर्थ-

किसी भी उत्पाद के बिक्री के बाद के प्रदर्शन से है। इसका तात्पर्य हुआ कि उक्त उत्पाद का निर्माता अपने उत्पाद के पीछे उस तरह खड़ा है, जैसे- लोन के पीछे गारंटर खड़ा रहता है। यह एक औपचारिक वादा है, एक अनुबंध है कि यदि उत्पाद का प्रदर्शन बताई गई क्षमता से नीचे का होगा तो उत्पाद की मरम्मत की जाएगी या उसे बदला जाएगा या रुपये वापस किए जाएंगे।


वारंटी का अर्थ-

उत्पादों की बिक्री से ही संबंधित है और इसमें कहा जाता है कि इस उत्पाद का एक विशेष स्तर होगा। वारंटी उस वादे की तरह है, जो अधिक ठोस बातें करता है, जैसे किसी उत्पाद या मशीन के हिस्से के बारे में। यह वादा करता है कि जूसर का मोटर एक या दो साल के लिए सही तरीके से काम करेगा। यदि ऐसा नहीं होगा तो निर्माता मोटर को ठीक करेगा या बदल देगा। दोनों प्रदर्शन से जुड़े हैं और एक तरह के एक-दूसरे को ओवरलैप करते हैं। इसे इस तरह से समझा जा सकता है कि एक चोर उत्पाद चुराते समय उस कीमती अलार्म को बजाता है, जिसकी पहुंच पुलिस तक है। यह एक वारंटी है। लेकिन इसकी गारंटी नहीं है कि पुलिस घटनास्थल पर पहुंच ही जाए।

 

इम्प्लाइड और एक्सप्रेस वारंटी

वारंटी में भी इम्प्लाइड और एक्सप्रेस हैं। इम्प्लाइड वारंटी विशेष प्रयोजन के लिए किसी भी उत्पाद की बिक्री और फिटनेस को कवर करती है। यह एक वादा है कि बेचा जाने वाला सामान उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन करेगा। जैसे कि आपके फ्रिज का काम चीजों को ठंडा रखना है। यदि ऐसा नहीं होता है तो यह बिक्री के लिए फिट नहीं है।

 

उनका लिखना जरूरी है कि कंपनी उक्त उत्पाद की मरम्मत करेगी, बदलेगी या रुपये वापस करेगी। किस तरह यह सुविधा ग्राहक उठा सकते हैं ताकि वे कीमत, फीचर्स और वारंटी कवरेज तीनों को तौलने के बाद ही सामान खरीद सकें। लेकिन अपने यहां कई उत्पादों पर यह स्पष्टता नहीं रहती है। विशेषकर लोकल सामान में। कई ब्रांडेड कंपनियों के विभिन्न उत्पादों में वारंटी के नियम-कानून देखेंगे तो पता चलता है कि उत्पाद भले ही अलग-अलग हों लेकिन वारंटी एक सी ही है। इसके लिए हमें कुछ नामी कंपनियों की वारंटी के बारे में जानने की जरुरत हैं। इसमें सबसे जरुरी यह है कि वारंटी कार्ड पूरा भरा हुआ होना चाहिए। इसमें डीलर का स्टाम्प और दस्तखत भी जरूर होने चाहिए।

सैमसंग

चाहे माइक्रोवेव हो या फ्रिज, वारंटी के नियम एक ही हैं। बस माइक्रोवेव में वारंटी का समय एक साल का है, जिसमें माइक्रोवेव का मुख्य द्वार फिर चाहे वह प्लास्टिक का ही क्यों न हो, कवर नहीं होता। इसी तरह फ्रिज की वारंटी भी एक साल की है लेकिन इसके कंप्रेसर की पांच साल की है। इसकी भी प्लास्टिक, शीशे की चीजें, ट्यूब और बल्ब वारंटी के दायरे में नहीं आते हैं। सैमसंग के उत्पादों में वारंटी पहले ग्राहक के लिए ही सीमित है। यानी यदि आपने सेकेंड हैंड फ्रिज खरीदा है और वह वारंटी के तय समय सीमा के अंदर है तो भी मान्य नहीं होगा। किसी भी तरह की मरम्मत या बदलाव कंपनी के सर्विस सेंटर से ही हो सकता है। यदि विक्रेता की दुकान से घर लाते उत्पाद का कोई हिस्सा टूट गया तो मरम्मत संबंधित सर्विस सेंटर ही करेगा लेकिन इसके लिए आपको उस टूटे सामान की कीमत देनी होगी।

एलजी

एलजी का फ्रिज भी 14 साल की वारंटी के साथ आता है। इसमें एक साल की वारंटी लाइट बल्ब, कंज्यूमेबल, लूज प्लास्टिक पाट्र्स, शीशे के सामान के अलावा हर चीज पर लागू होता है। इसके अलावा 4 अधिक साल की वारंटी कंप्रेसर की है। गैस चार्ज तभी इसमें शामिल होगा, जब कंप्रेसर खराब होगा। अन्यथा गैस की कीमत ग्राहक को ही देनी होगी। वारंटी के दौरान केवल फ्रिज के हिस्से बदले या मरम्मत किए जाएंगे, सर्विस शुल्क ग्राहक को देना होगा। मरम्मत और बदलाव की जिम्मेदारी डीलर की ही होगी। यदि ग्राहक वारंटी के समय के दौरान अपना निवास बदलता है तो उसे सर्विस सेंटर या हेल्प लाइन पर फोन करके इस बारे में सूचना देनी होगी। यदि पूरे यूनिट को बदलने की जरूरत होगी तो वही मॉडल मिलेगा। यदि वह मॉडल उपलब्ध न हो तो उसी कीमत का दूसरा मॉडल दिया जाएगा। लेकिन यह एलजी का निर्णय होगा कि यूनिट को बदलने की जरूरत है या नहीं। 10 साल की वारंटी चारकोल लाइटिंग हीटर वाले माइक्रोवेव अवन पर उपलब्ध है, वह भी चारकोल हीटर वाले हिस्से के लिए। स्टार्टअप किट की कोई गारंटी, वारंटी या रीप्लेसमेंट नहीं होता।

इलेक्ट्रोलक्स

इलेक्ट्रोलक्स के फ्रिज पर एक साल की वारंटी और माइक्रोवेव के लिए तीन साल की वारंटी तय की गई है। लेकिन इसके लिए खरीदारी से 90 दिन के अंदर उत्पाद की वारंटी को रजिस्टर करना जरूरी है। जरुरत पडऩे पर किसी भी तरह की मरम्मत इलेक्ट्रोलक्स इंडिया के सेंटर पर ही की जाती है।