शारदीय नवरात्रि 2019: नौ दुर्गा पूजन की ऐसे करें तैयारी

यशोधरा वीरोदय

26th September 2019

हिंदू धर्म में आस्था रखने वाले लोगों के लिए शारदीय नवरात्रि का पूजन विशेष महत्व रखता है। अगर आप भी इस बार कलश स्थापना करने जा रहे हैं, तो इसकी तैयारी पूरी कर लें।

शारदीय नवरात्रि 2019: नौ दुर्गा पूजन की ऐसे करें तैयारी
जी हां, पितृ पक्ष इस शनिवार यानि कि 28 सितम्बर को खत्म होने जा रहे हैं और इसके अगले ही दिन 29 सितम्बर से शारदीय नवरात्रि प्रारंभ होने जा रहे हैं। ऐसे में हो सकता है कि पितृ पक्ष के चलते आपको नवरात्रि की तैयारी के लिए समय नहीं मिल पाया हो, पर आपको नवरात्रि की तैयारी तो करनी ही है, इसलिए आप पूजन सामग्री की लिस्ट बना कर रख लें ताकि पितृपक्ष के समाप्त होते ही आप नवरात्रि का पूजन कर सकें। आज हम आपको नवरात्रि पूजन की जरूरत की चीजों की सभी लिस्ट लेकर आए हैं।

नौ दु्र्गा पूजन की विशेष सामग्री

माता की प्रतिमा या तस्वीर स्थापना के लिए चौकी, चौकी पर बिछाने के लिए पीला कपड़ा, मां दुर्गा की प्रतिमा या मूर्ति, कलश, 'दुर्गासप्तशती' किताब, ताजा आम के पत्ते, लाल फूल माला या फूल,एक जटा वाला नारियल,पान,सुपारी,कपूर,रोली, सिंदूर,मौली (कलावा),चावल,इलायची,लौंग।

माता के श्रंगार की सामग्री

लाल चुनरी,चूड़ी,सिंदूर,महावर, बिंदी, मेहंदी, काजल, चोटी, गले के लिए माला या मंगल सूत्र,पायल,बिछिया,इत्र इत्यादि।

अखंड ज्योति जलाने के लिए सामग्री

मिट्टी या पीतल का साफ दीपक,घी,बाती के लिए रुई या बाती,दीपक पर लगाने के लिए रोली,दीपक के नीचे रखने के लिए चावल।
 

कलश के लिए सामग्री

पीतल या मिट्टी का कलश,कलश और नारियल में बांधने के लिए कलावा,आम के पत्ते (5, 7 या 11 की संख्या में),कलश पर स्वास्तिक बनाने के लिए रोली,कलश में भरने के लिए गंगा जल और शुद्ध जल,जल में डालने के लिए केसर, जायफल, सिक्का, कलश के नीचे रखने के लिए चावल या गेहूं।

जवारे बोने के लिए सामग्री

मिट्टी का बर्तन, साफ मिट्टी, जवारे बोने के लिए जौ या गेहूं,मिट्टी के बर्तन पर बांधने के लिए कलावा।
 

मां दुर्गा के पूजन में इन बातों का रखें ध्यान

देवी पूजन के लिए तुलसी की पत्तियां या दूर्वा ना चढ़ाएं।
अगर घर में जवारे बोए हैं और अखंड ज्योति जलाई है तो घर खाली न छोड़ें।

यह भी पढ़ें -जहां दर्शन के लिए पुरुषों को करने होते हैं सोलह श्रृंगार

धर्म -अध्यात्म सम्बन्धी यह आलेख आपको कैसा लगा ?  अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही  धर्म -अध्यात्म से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें-editor@grehlakshmi.com

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

नवरात्रि में...

नवरात्रि में ये वास्तु टिप्स लाएंगे आपके...

शत्रुओं पर व...

शत्रुओं पर विजय चाहते हैं तो इस दशहरा करें...

नवरात्रि में...

नवरात्रि में क्यों नहीं किए जाते विवाह आयोजन...

नवरात्रि में...

नवरात्रि में कन्या पूजन का क्या है महत्त्व...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

क्या है वॉटर...

क्या है वॉटर वेट?...

आपने कुछ खाया और खाते ही अचानक आपको महसूस होने लगा...

विजडम टीथ या...

विजडम टीथ यानी अकल...

पिछले कुछ दिनों से शिल्पा के मुंह में बहुत दर्द हो...

संपादक की पसंद

नारदजी के कि...

नारदजी के किस श्राप...

कहते हैं कि मां लक्ष्मी की पूजा करने से पैसों की कमी...

पहली बार खुद...

पहली बार खुद अपने...

मेहंदी लगाना एक कला है और इस कला को आजमाने की कोशिश...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription