GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

चाणक्य के अनुसार भूलकर भी ये 4 बातें किसी से शेयर नहीं करनी चाहिए

यशोधरा वीरोदय

9th October 2019

चाणक्य की नीतियां आज के समय में भी पुरूष और महिला दोनों के लिए बेहद उपयोगी है, अगर इनका पालन किया जाए तो दुनियादारी की समस्याओं से बच सकते हैं।

चाणक्य के अनुसार भूलकर भी ये 4 बातें किसी से शेयर नहीं करनी चाहिए
चाणक्य प्राचीन भारत के महान विद्वान और राजनीतिज्ञ थें, जिन्होने अपनी नीतियों के जरिए राजा से लेकर आम जनता का मार्गदर्शन किया। चाणक्य की ये नीतियां आज के समय में भी पुरूष और महिला दोनों के लिए बेहद उपयोगी है, अगर इनका पालन किया जाए तो दुनियादारी की समस्याओं से बच सकते हैं। आज हम आपके लिए चाणक्य की ऐसी ही बेहद उपयोगी नीति लेकर आए हैं। दरअसल, चाणक्य के अनुसार 4 बातें किसी से भी शेयर नहीं करनी चाहिए। आइए जानते हैं कि ये कौन 4 बाते हैं...
दरअसल, चाणक्य ने कहा है...
अर्थनाशं मनस्तापं गृहिणीचरितानि च। नीचवाक्यं चाऽपमानं मतिमान्न प्रकाशयेत्।।
यानी कि अर्थनाश, मन के संताप, गृहिणी के चरित्र और अपने साथ हुए अपमान का कभी भी खुलासा नहीं करना चाहिए। चलिए आपको इन चारों के बारे में जरा विस्तार से बताते हैं। 

धन हानि

अर्थनाश यानि कि अपने साथ हुई धन हानि के बारे में किसी को नहीं बताना चाहिए। क्योंकि आपका धन आपकी शक्ति होती है और अगर किसी को ये पता चल जाए कि आप आर्थिक रूप से कमजोर हैं, तो फिर हो सकता है वो आपका साथ छोड़ दें। इसलिए बेहतर यही है कि आप इस बारे में किसी को ना बताएं।

मन का संताप

अपने मन के किसी गहरे दुख या व्यथा के बारे में भी किसी को नहीं बताना चाहिए। क्योंकि लोग आपके दुख को कम करने की बजाए उसका मजाक बनाते हैं। इसलिए इसे अपने मन में ही रखना चाहिए।

गृहिणी का चरित्र

यहां गृहिणीचरिता से अभिप्राय पत्नी के चरित्र और स्वभाव से है, चाणक्य का कहना है कि पत्नी के स्वभाव के बारे में किसी को नहीं बताना चाहिए। ये बात पतियों के बारे में भी लागू होती है, कि महिलाओं को अपने पति के चरित्र और स्वभाव के बारे में किसी से नहीं बताना चाहिए। क्योंकि ये आपकी आपसी दाम्पत्य जीवन का मामला होता है, इसे दुनिया के सामने ना ही लाए तो ही बेहतर होगा।

अपमान या अपशब्द

चाणक्य ने कहा कि है कि अगर आपके साथ कोई अपमान करने वाली घटना घटित हुई है या फिर किसी ने आपसे अपशब्द कहा है, तो इसे भी किसी से नहीं बताना चाहिए। क्योंकि लोग बिना घटना की वजह जाने आप पर ही हंसेंगे। 
स्पष्ट है कि चाणक्य की ये नीतियां आज के समय में भी सभी के लिए बेहद उपयोगी हैं।

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

चाणक्य नीति ऐसे लोगों से भूले से भी नहीं...

default

चाणक्य के अनुसार इन बातों में महिलाएं पुरुषों...

default

चाणक्य नीति: क्या है सच्चे मित्र की पहचान...

default

शास्त्रानुसार सुबह के समय भूलकर भी नहीं करने...

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

कम हो गया है...

कम हो गया है अब...

‘‘मैंने सुना है कि आजकल एपिसिओटॉमी का चलन नहीं रहा...

सेक्स ना करन...

सेक्स ना करने के...

यूं तो हर इंसान अपने जीवन में सेक्स ज़रूर करता है,...

संपादक की पसंद

केविनकेयर के...

केविनकेयर के "इनोवेटिव...

भारतीय एफएफसीजी ग्रुप केविनकेयर ने अभिनेता अक्षय कुमार...

इन व्यंजनों ...

इन व्यंजनों को बनाकर,...

सभी भारतीय त्यौहारों के उपवास और अनुष्ठानों के बाद...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription