GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

प्लास्टिक बैन को सफल बनाने के लिए उठाये ये कदम

यशोधरा वीरोदय

15th October 2019

भारत सरकार,सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध के साथ प्लास्टिक के कचरे से निपटने के लिए अपने कदम बढ़ा चुकी है, पर क्या सरकार का ये प्रतिबंध वास्तव में प्लास्टिक के कहर से निपटने में कारगर हो सकेगा। क्योंकि प्लास्टिक अब सिर्फ किसी एक चीज या सामान तक सीमित नहीं रहा बल्कि ये हमारे रोजर्मरा की इस्तेमाल की जाने वाली चीजों के जरिए हमारी आदतों में शुमार हो चुका है। जिसको छोड़ना बेहद जरूरी है।

प्लास्टिक बैन को सफल बनाने के लिए उठाये ये कदम
दरअसल, हमे प्लास्टिक के उपयोग की जो लत लगी है, उससे बदलना ही इस समस्या से निपटने का सबसे कारगर उपाय है। असल में, प्लास्टिक का इस्तेमाल हम अपनी स्वेच्छा से कर रहे हैं, ऐसा नहीं है कि हमारे पास इसका कोई दूसरा विकल्प मौजूद नहीं है। क्योंकि प्लास्टिक की चीजें बाजार में आने से पहले भी हमारा काम चल रहा था, प्लास्टिक के बजाए दूसरी धातुओं की चीजें उपयोग में लाई जाती थीं, पर जब प्लास्टिक का विकल्प हमारे सामने आया तो हमने प्लास्टिक को अपना लिया और वो भी अधिकता के साथ। ऐसे में प्लास्टिक की इस बुरी लत से निजात पाना है तो आपको अपनी आदत बदलनी होगी। इसलिए आज से और अभी से अपनी आदतों पर गौर कीजिए और प्लास्टिक के इस्तेमाल को कम से कम करने की कोशिश कीजिए। जैसे...
  • घर-ऑफिस हर जगह से सिंगल यूज वाले प्लास्टिक को निकाल बाहर कीजिए।
  • बाहर निकलते वक्त हमेशा अपने साथ एक कपड़े का थैला साथ रखें, ताकी अगर आप बाहर से कुछ भी खरीदते हैं तो आपको उसे रखने के लिए प्लास्टिक का बैग ना लेना पड़ें।
  • घर के कुड़े को भी जहां तक हो सके खराब पेपर में पैक करें।
  • पुराने प्लास्टिक के बॉटल को फेंकने के बजाए उन्हें प्लांट लगाने के लिए या घर के दूसरे काम में दोबारा इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • पीने का पानी हमेशा तांबे या दूसरी धातुओं के बॉटल में रखें।
  • ऑफिस के लंच स्टील या दूसरे धातुओं के बतर्नों में ही रखें। 

यह भी पढ़ें 

तेजस एक्सप्रेस में यात्रियों को मिलेगा बायोडिग्रेबल वॉटर बॉटल

नए ट्रैफिक रूल्स की यहां लें पूरी जानकारी

आज 1 अक्टूबर से बदल चुके हैं ये नियम, क्या आपको पता है?

आप हमें फेसबुक , ट्विटर और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकते हैं।

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

कहां से आई दिवाली पर ताश खेलने की परम्परा...

default

क्या है सिंगल यूज प्लास्टिक और क्यों है ये...

default

तेजस एक्सप्रेस में यात्रियों को मिलेगा बायोडिग्रेबल...

default

आपको अमीर नहीं बनने देती ये 4 आदतें