GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

सेहत का खजाना हैं अंकुरित दालें

प्रतिभा अग्निहोत्री

26th December 2016

सेहत का खजाना हैं अंकुरित दालें


आज की भागमभाग भरी जिदंगी की सबसे बड़ी चुनौती है संतुलित और स्वास्थय वर्धक भोजन, इसकी पूर्ति अंकुरित दालों को अपने भोजन में शामिल करके की जा सकती है। आहार विशेषज्ञों के अनुसार अंकुरित दालें थकान, प्रदुषण और बाहर के खाने से उत्पन्न होने वाले एसिड्स को बेअसर कर देती हैं। साथ ही उर्जा के स्तर को भी बढ़ा देती है इनमें कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है अतः यह वजन को भी संतुलित रखती हैं।

 

अंकुति दालों से होते हैं ये लाभ


- अंकुरित दालें फाइबर का एक प्राकृतिक स्त्रोत है। फाइबर पाचन तंत्र को दुरूस्त रखता है और नाश्ते व लंच के बीच के समय में पेट को भरा रखता है। इससे हम अस्वास्थ्यकर चीजों को खाने से बच जाते हैं और आहार भी निंयत्रित हो जाता है।
- इन दालों में एक परफेक्ट प्रोटीन होता है जो स्वस्थय आहार को सपोर्ट करता है।
- रक्त को शुद्ध करके त्वचा और बालों के सौंदर्य को निखारती हैं।
- एक कटोरी अंकुरित दालों का प्रतिदिन सेवन करने से बालों के झड़ने की समस्या से निजात पायी जा सकती है।
- अंकुरित दालें आक्सीजन का बहुत अच्छा स्त्रोत होती है। आक्सीजन युक्त खाद्य पदार्थ शरीर में उपस्थित अनेकों प्रकार के वैक्टीरिया को समाप्त करने में मदद करते हैं।
- अंकुरित दालों से शरीर को प्रोटीन, कार्बोहाइडेट, विटामिन, और खनिज प्राप्त होते हैं। जो स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभदायक होते हैं।
इनमें कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है। इसलिए यह वजन को नियंत्रित करने में भी मददगार होती है। 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

कैसे करें दालों को अंकुरित जानें 

दालों को अंकुरित करने के लिए किसी भी साबुत अनाज को 8 से 10 घंटे के लिए भिगो दें। अब इसका पानी निकालकर साफ सूती कपड़े में 10 से12 घंटे के लिए बांधकर रख दें। 10 घंटे बाद दालें अंकुरित हो जाएगीं। इन्हें साफ पानी से धोकर प्रयोग करें। इसके अतिरिक्त आप पानी से निकालकर कैसरोल में बंद करके रात भर के लिए रख दें। सुबह तक अनाज अंकुरित हो जाएगा। आजकल बाजार में स्प्राउट मेकर भी उपलब्ध है आप उसका भी प्रयोग कर सकती है।


ध्यान रखने योग्य बातें


- अकुंरित करने के लिए सदैव साफ और साबुत अनाज का ही प्रयोग करें।
- अनाज को धोकर साफ पानी में ही भिगोंए। सोडा आदि डालने से बचें क्योंकि इससे अनाजों की पौष्टिकता कम हो जाती है।
- गर्मियों में अनाज 8 से 10 घंटों में अकुंरित हो जाता है। जब कि सर्दियों में यह 12 से 14 घंटे में होता है।
- गर्मियों में अंकुरित होने के तुरंत बाद इन्हें पॉट में से निकाल लें अन्यथा बदबू आने लगती है।
- अंकुरित अनाज को साफ पानी से चलनी में डालकर धोएं हाथ से रगड़ें नहीं अन्यथा छिलके निकल जाएंगें।
- इन अनाजों को कम तेल और मसालों के साथ कम पकाएं बहुत अधिक पकाने से उनके पौष्टिक तत्व नष्ट हो जाते हैं।
- बांधने के लिए साफ सूती या मलमल के कपड़े का ही प्रयोग करें। यदि आप रोज अंकुरित दालों का प्रयोग करती है। तो दो कपड़े रखें ताकि आप एक कपड़े को रोज साबुन से धोकर डाल सकें।

 

ये भी पढ़े-

 

बड़े काम के हैं नींबू के ये घरेलू नुुस्खें

वेट लॉस के लिए ट्राई करें ये 7 होम रेमेडीज़

जब कॉन्स्टिपेशन हो, तो ट्राई करें ये 7 टिप्स

मुंह के छालों को इन 10 टिप्स से करें ठीक


आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। 

 

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

अच्छे शारीरि...

अच्छे शारीरिक, मानसिक...

इलाज के लिए हर तरह के माध्यम के बाद अब लोग हीलिंग थेरेपी...

आसान बजट पर ...

आसान बजट पर पूरा...

आपकी शादी अगले कुछ दिनों में होने वाली है। आपने इसके...

संपादक की पसंद

आध्यात्म ऐसे...

आध्यात्म ऐसे रखेगा...

आध्यात्म को कई सारी दिक्कतों का हल माना जाता है। ये...

बच्चों को हा...

बच्चों को हाइड्रेटेड...

बच्चों के लिए गर्मी का मौसम डिहाइड्रेशन का कारण बन...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription