GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

जानिए फलों की ताकत

विजया मिश्रा

15th January 2016

अगर आप खाने की रोजमर्रा की आदतों में फलों को शामिल नहीं करते तो इस आदत को बदल दें। अपनी दिनचर्या में फलों को जरूर शामिल करें क्योंकि शायद आप नहीं जानते कि फलों की ताकत क्या होती है।

जानिए फलों की ताकत

फलों से बनाएं सेहत



स्टेमिना बढ़ाए

दौड़भाग और ढेर सारा काम करते-करते आपका स्टेमिना जवाब देने लग जाता है, ऐसे वक्त फलों का सहारा लेना अत्यंत आवश्यक है। आप भले ही कितना भी पोषक भोजन करते हैं लेकिन आपको फलों के जरिए जो पोषण मिलता है वह भोजन के जरिए नहीं मिल सकता। सेब, केला, अंगूर कुछ ऐसे फल सुपरफूड्स की श्रेणी में आते हैं।

स्वस्थ रखे

प्रदूषण युक्त वातारवरण और मिलावट के इस दौर में फल औषधि का कार्य करते हैं। बड़ी से बड़ी बीमारियों से लडऩे की ताकत देते हैं। प्रकृति द्वारा मनुष्यों को तोहफे के रूप में मिले हैं यह फल। सेब के बारे में एक कहावत है कि सेब को अपने आहार में शामिल करने से आप हमेशा डॉक्टर से दूर रहते हैं।


प्राकृतिक पोषक तत्वों से भरपूर

खुद को स्वस्थ रखने के लिए आप क्या कुछ नहीं करते। कभी आप दवाइयां खाते हैं तो हैल्थ सप्लिमेंट्स लेते हैं लेकिन रोजाना फलों के सेवन से आपको इन सभी चीजो की जरूरत ही नहीं होगी। क्योंकि फलों में वो सभी पोषक तत्व मौजूद होते हैं जिनकी जरूरत आपके शरीर को होती है। पपीता, संतरा, कीवी, अनार जैसे कई फल आपके शरीर को बेहतरीन पोषण देते हैं।

सक्रिय रखे

अगर आप अपनी दिनचर्या में फलों को शामिल करेंगे तो यकीन मानिए आप हर दिन एक्टिव रहेंगे। अनाज के साथ साथ फलों की ताकत को नजरअंदाज ना करें। हर दिन एक या दो फल जरूर खाएं। इससे आप एक्टिव रहेंगे। साथ ही बीमारियों से दूर भी।

प्राकृतिक एंटीबायोटिक

आपको जानकर हैरानी होगी कि फल प्राकृतिक एंटीबायोटिक का कार्य भी बखूबी करते हैं।विटामिन सी की मात्रा से भरपूर फलों के लगातार सेवन से आपका शरीर रोगों से लडऩे के लिए तैयार रहता है। यानी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ानी है तो विटामिन सी से युक्त फल खाइए और रोगों को अपने से कोसों दूर रखिए।

 पेट साफ रखे

फलों से जहां तरह-तरह के फायदे होते हैं वहीं फल आपके पेट को सही और साफ रखने में भी मददगार हैं। स्वस्थ रहने के लिए आपका पेट सही रहना जरूरी है। रोज फलों के सेवन से आप कब्ज जैसी समस्या से दूर रहेंगे।

बढ़ती उम्र से निजात देते फल

जी हां, अगर आप चाहते हैं कि आप हमेशा एक्टिव और जवां रहें तो अपने आहार में हर रोज एक या दो फल जरूर शामिल करें। इससे एक तरफ जहां आप रहेंगे फिट वहीं आप अपनी बढ़ती उम्र के प्रभावों से भी रहेंगे मुक्त। रोजाना फलों के सेवन से आप झुर्रियों से भी बच सकते हैं।

मोटापे से करे रक्षा

फलों का एक और सबसे बेहतरीन गुण है मोटापे से रक्षा करना। अपने शरीर को हफ्ते में एक दिन सिर्फ फलों के आहार पर रखें और फिर देखिए परिणाम। बाकी दिन भी दो से तीन फल अपने ब्रेकफास्ट में शामिल करें। हां मगर ध्यान रहे, वही फल खाएं जो आपकी फिटनेस के लिए कारगर साबित हों। जैसे सेब, पपीता, अन्नानास वगैरह खाकर वजन नियंत्रित रख सकते हैं।

मौसमी फल हैं सुपरफूड्स

कुछ फल हमेशा मिलते हैं लेकिन कुछ फल मौसम के हिसाब से मिलते हैं। अगर हम मौसमी फलों का भी सेवन करें तो यह स्वास्थ्य के लिए और भी बेहतर होगा।

 
सर्दियों के सुपरफ्रूट्स

सर्दियों के मौसम में अपने शरीर को फिट रखने के लिए फल जरूर खाएं। सर्दियों में वजन बढऩे जैसी समस्या ज्यादा देखी जाती है। इसलिए इस समस्या से बचने के लिए आप ज्यादा से ज्यादा फल खाएं।

संतरा


संतरा सर्दियों का एक बेहतरीन फल है। इसमें विटामिन सी पाया जाता है, जिसके सेवन से सर्दी-जुखाम जैसी समस्याएं नहीं होती, साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ जाती है। तो सर्दियों में रोज खाईए संतरा।

अनार

अनार हर मौसम में मिलता है। अनार के लाल दानों में पॉलीफिनॉल नामक पोषक तत्व होता है जो शरीर में खून की कमी नहीं होने देता है। सर्दियों में होने वाली सूजन से निजात भी दिलाता है। इसके अलावा शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को यह बढ़ता है।

अमरुद

सर्दियों में मिलने वाला एक और सुपरफल है अमरुद। इस फल में फोलेट की पर्याप्त मात्रा पाई जाती है जो महिलाओं में फर्टिलिटी बढ़ाने में मददगार है। इससे वजन भी नियंत्रित रहता है, थाइरॉइड की समस्या से भी निजात दिलाता है।


फलों को लेकर कारगर टिप्स 

  • ताजे फलों का सेवन करें।
  • बाजार में कटी फ्रूट चाट पर भरोसा ना करें।
  • फलों को अच्छी तरह धोकर खाएं।
  • ज्यादा चटकीले, चमकते फलों को ना खरीदें।
  • वर्कआउट से पहले फल खाएं।
  • फल खाली पेट खाएं।
  •  खाना खाने से एक या दो घंटे पहले फल खाना अच्छा होता है
  • मौसमी फल चुने।
  •  अलग-अलग रंगों के दो से तीन फल नियमित रूप से खाएं।
  • खाने के तुरंत बाद फल न खाएं।
  • ऐसे रखें फलों को ताजा
  • कुछ फलों जैसे सेब, बैरीज और अंगूरों को ताजा रखने के लिए हमेशा फ्रिज का इस्तेमाल करें।
  •  केले और अनन्नास को फ्रिज के बाहर ही रखें।
  •  फ्रिज में खराब फल न रखें क्योंकि एक खराब फल बाकी सभी फलों को खराब कर सकता है।
  •  रस भरे फल जैसे स्ट्रॉबेरी, जामुन वगैरह को पानी में धो और सुखा कर फ्रिज में रख सकते हैं।
  •  सेब, केला, नाशपाती, अमरूद काट कर रखने पर अक्सर काले होने लगते हैं, इससे बचने के लिए कटे हिस्से पर थोड़ा सा नीबू का रस लगा दें।

 

ये फल नियंत्रित रखते हैं कोलेस्टेरॉल

स्ट्रॉबेरी, लाल अंगूर, नींबू, एवोकाडो, खुबानी, माल्टा, ब्लूबेरी, कीवी ऐसे फल होतेे हैं जिनके नियमित सेवन से आपका कोलेस्टेरॉल नियंत्रित रहता है। तो प्रकृति के इस वरदान का आप सभी उठाइए लाभ और रहिए हमेशा फिट। क्योंकि फल हैं हमारे शरीर के लिए उत्तम आहार।