GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

मां खिलाती थीं पौष्टिक खाना- शेफ हरपाल सिंह सोखी

शेफ हरपाल सिंह सोखी

1st February 2016

सर्दियों में आप अपने शरीर को कैसे स्वस्थ बनाएं जानिए शेफ हरपाल शोखी से सर्दियों से जुड़ी स्वास्थ्यवर्धक जानकारी और रेसिपीज़ के साथ कुछ यादें ।

मां खिलाती थीं पौष्टिक खाना- शेफ हरपाल सिंह सोखी


सर्दियों के मौसम में ठंडक का एहसास पतझड़ और बसंत के बीच के दिनों में होता है। सर्दियां आने के पीछे वजह है पृथ्वी का सूर्य से दूर होना। यह मेरा सबसे पसंदीदा मौसम है। सर्दियों में बेहतर जायका हमारे शरीर को पोषण के साथ गर्मी प्रदान करता है। जैसा कि हम जानते हैं शरीर में रोगों से लड़ने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए वह खाना शामिल करना चाहिए जो ताजा, ऑर्गेनिक, पचने में आसान, शुद्ध और पौष्टिक हो।  इसके लिए हमें गर्म पदार्थ को अपने खाने में शामिल करने की जरुरत होती है,जो हमारे भूख को शांत करने में मददगार हो। कुछ सब्जियां उगने में समय लेती हैं और वह जड़ों के अंदर होती हैं यह गर्म होती हैं, ऐसे सब्जियों के सेवन का बेहतर मौसम सर्दियां ही हैं।

यकीनन ड्राई फ्रूट जिनमें डेट्स, नट्स और तिलहन (तिल) भी गर्म होते हैं। यह साल का एक ऐसा समय होता है जब आप गर्मियों के महीनों से ज्यादा स्पाइसी जायके का लुत्फ लेना चाहते हैं।  इतना ही नहीं नॉन वेजेटेरियन फूड भी गर्म खाने की श्रेणी में आते हैं जैसे दूध, मीट, मछली और मुर्गा। सभी तरह के अनाज, प्रोटीन और वसायुक्त भोजन शरीर को ऊर्जा देते हैं। सबसे ज्यादा ऊर्जा प्रदान करने वाली सब्जियों में गाजर, आलू, प्याज, लहसुन, मूली, रतालू  , बीट , शलजम  बेहतरीन होते हैं तो वहीं सर्दियों में हरी सब्जियां जैसे पालक, मेथी, सरसों, मूली और पुदीना को तवज्जो दी जाती है।  

लोगों की बात करें तो ज्यादातर बच्चे ठंड के दिनों में बीमार पड़ जाते हैं और खांसी-बुखार के शिकार हो जाते हैं। ऐसे में इससे बचने के लिए अदरक का इस्तेमाल काफी हद तक फायदा पहुंचाता है। यह वसायुक्त भोजन को पचाने में और प्रोटीन की मात्रा को भी बैलेंस रखता है। यही नहीं गैस और एसिडिटी के ट्रीटमेंट के लिए यह सबसे अच्छा तरीका है।   ठंड का मौसम आपके वर्कआउट रूटीन में बाधा डाल सकता है और आपके मूड को स्विंग करता रहता है और यह आपके तनाव देता है जिसकी वजह से आप ओवरइटिंग भी कर लेते हैं इसलिए अपने भोजन में प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट को शामिल करें। इससे सेरोटोनिन बैलेंस रहती है और आपका मस्तिष्क संतुलित रहता है। और लो ब्लड प्रेशर की शिकायत नहीं रहती। अपने भोजन में एक तिहाई प्रोटीन और दो तिहाई सब्जियां और सलाद का सेवन अच्छा माना जाता है। अपने खाने में पत्तेदार सब्जियां, नट्स, अनाज और दाल, ताजे और ड्राई फ्रूट्स, मसाले, जड़ी-बूटी वगैरह शामिल करें। सर्दियों में ऐसे खाने से दूर रहें जैसे पनीर, सोडा, फ्राइड साइड्स, क्रीमयुक्त सूप यह खाना सिर्फ आपको कैलोरीज ही देते हैं।

मुझे याद है मां को मेरी सेहत का कितना ख्याल रहता और घर में बनाए गए खाने में सरसों का साग, मक्के की रोटी, बाजरा खिचड़ी, मूंगफली और गुड़ लड्डू, मेथी लड्डू को शामिल कर सेहतमंद खाना खिलाया करतीं। यही नहीं मां के हाथों का चिकन करी का स्टाइल और न जाने क्या क्या...

दोस्तों मैं आपसे सर्दियों की कुछ ऐसी ही रेसपी शेयर करूंगा जिसका आनंद आप अपने किचन में बनाकर ले सकते हैं।    

नचनी एंड ओट्स मूठिया मेथी सब्जी

मूठिया के लिए सामग्री :
रगी का आटा या नचनी - ½ कप
गेहूं का आटा -1/2 कप
बेसन - 2 बड़ा चम्मच
मसाला ओट्स - 2 बड़ा चम्मच
अदरक का पेस्ट - 4 छोटा चम्मच
अदरक-मिर्च का पेस्ट- 4 छोटा चम्मच
हल्दी पाउडर - 1/2 छोटा चम्मच
कम वसायुक्त दही - 4 बड़ा चम्मच
नमक- स्वादानुसार
बेकिंग सोडा - एक चुटकी
तेल- चिकनाई के लिए
सरसों का दाना - 1 छोटा चम्मच
तिल -1 छोटा चम्मच
हींग - ¼ छोटा चम्मच

मेथी की सब्जी के लिए :

मेथी के कटे पत्ते - 2 कप
कटा टमाटर - 1
तेल- 1 बड़ा चम्मच
मिर्च पाउडर - ½ छोटा चम्मच
धनिया पाउडर - 1/4 छोटा चम्मच
हल्दी पाउडर- 2 छोटा चम्मच
हींग- 2 चुटकी
सरसों का दाना- 1/2 छोटा चम्मच


मुठिया बनाने की विधि:

स्टेप1- आटा, ओट्स, लहसुन का पेस्ट, अदरक-हरी मिर्च का पेस्ट, हल्दी पाउडर को दही के साथ मिश्रण करें और नमक मिलाएं। एक कटोरे में पानी की उचित मात्रा मिलाकर अच्छी तरह गूंथे।

स्टेप 2- हाथों में ¼ छोटा चम्मच तेल लगाएं और मिश्रण को 30 गोले का शेप दें और सभी बॉल को पालक और कसूरी मेथी पत्ती के मिश्रण में बराबर लपेटें। ¼ छोटा चम्मच तेल स्टीमर के तले में लगाकर इन रोल्स को 15 मिनट तक पकने दें। अब इसे ठंडा करें। और 12 मिलीमीटर (1/2 इंच) की स्लाइस में काटें।

मेथी की सब्जी के लिए विधि:

स्टेप 3- एक गहरे पैन में 3 कप पानी डालकर मेथी के पत्तों को 2-3 मिनट तक उबालें धोकर एक तरफ रख दें।

स्टेप 4- एक पैन में तेल गरम करें और सरसो के दाने डालें। जब दाने चटकने लगें तो इसमें हींग,टमाटर और सभी सूखे मसाले डालकर अच्छी तरह मिलाएं और हल्की आंच पर तब तक पकाएं जब तक मसाला तेल ना छोड़ दे। 

स्टेप 5- अब इसमें एक बड़ा चम्मच पानी डालकर अच्छी तरह मिलाएं और थोड़ी देर उबालें। इसमें मेथी की पत्तियां डालकर अच्छी तरह मिलाकर पकाएं। 

स्टेप 6- इसमें मूठिया को डालकर पकाएं। पकने के बाद गैस से उतार लें। इस गरमागरम पतली चपाती के साथ सर्व करें।

 

गुड़ मावा सैंडविच रोटी 

रोटियां- 8
कसा हुआ गुड़ - 2 कप
मावा कसा हुआ -2 कप
मिले जुले नट्स (कटे हुए)-4 बड़े चम्मच
दालचीनी पाउडर-½ छोटा चम्मच
इलायची पाउडर-½ छोटा चम्मच
घी-4 बड़ा चम्मच

सैंडविच रोटी बनाने की विधि:

स्टेप1-  दो रोटियां एक साथ लें, एक रोटी पर कसा हुआ गुड़ छिड़कें और दूसरे पर कसा हुआ मावा। अब सारे नट्स,दालचीनी पाउडर और इलायची पाउडर  रोटी की दोनों साइड पर छिड़के दोनों रोटियों आराम से दबाएं।

स्टेप-2-  नॉनस्टिक तवे को गर्म करें, घी डालकर रोटी को दोनों साइड्स से गोल्डन ब्राउन होने तक पकाएं और क्रिस्पी होने दें और इसको टुकड़ों में काटकर गर्मागरम परोसें।

 

 

 

 

 

 

 

 



 

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

कम हो गया है...

कम हो गया है अब...

‘‘मैंने सुना है कि आजकल एपिसिओटॉमी का चलन नहीं रहा...

सेक्स ना करन...

सेक्स ना करने के...

यूं तो हर इंसान अपने जीवन में सेक्स ज़रूर करता है,...

संपादक की पसंद

पूजा में बां...

पूजा में बांधा जाने...

किसी भी पूजा की शुरुआत या समाप्ति के बाद या फिर किसी...

इन हाथों में...

इन हाथों में लिख...

हर दुल्हन अपने होने वाले पति का नाम लिखवाना पसंद करती...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription