बच्चे की देखभाल के दौरान न्यू पेरेंट्स इन बातों का रखे ख्याल

गृहलक्ष्मी टीम

11th June 2018

शिशु के पालन पोषण में छोटी छोटी कई बातों का ख्याल रखना पड़ता है, फिर चाहे उसकी त्वचा से संबंधित सावधानी हो या फिर उसके स्वास्थ्य से जुड़ी कोई परेशानी। कुछ ऐसी ध्यान देने योग्य बातें जिनसे आप अपने बच्चे का स्वस्थ विकास कर सकते हैं। पढ़िए- 

  • लोशन और साबुन का प्रयोग कम करें।
  • बेबी माइल्ड क्रीम सोप और शैंपू का इस्तेमाल करें।
  • तेल मालिश करने से हड्डियां मजबूत होती हैं।
  • गीली नैपी तुरंत चेंज करें।
  • हमेशा डायपर ना पहनाएं।
  • बच्चों को पेट के बल ना सुलाएं।
  • छह महीने तक मां अपना दूध पिलाएं। छह महीने बाद धीरे-धीरे स्वास्थ्यवर्धक आहार जैसे दाल का पानी, खिचड़ी वगैरह दें।
  • नियमित रूप से टीकाकरण करवाएं।
  • फिनायल, मच्छर मारने वाली गोलियां, दवाईयां वगैरह बच्चे की पहुंच से दूर रखें।
  • वॉकर का प्रयोग कम करें।
  • बच्चे को आरामदायक कपड़े पहनाएं।
  • शिशु से बात करने की कोशिश करें, उसे बहलाएं, हाथों में लेकर टहलें।
  • शिशु को नहलाते समय हमेशा ध्यान रखें कि पानी अधिक नहीं हो। कुछ इंच पानी में भी बच्चे के डूबने की संभावना रहती है।
  • बच्चों को गुनगुने पानी से नहलाएं।
  • बच्चों के साथ खुद भी खेंले।
  • स्तनपान कराते वक्त बच्चे और खुद का पोस्चर सही रखें ताकि बच्चे को भी आराम मिले और आप भी सहज रहें।
  • स्तनपान कराने के दिनों में अपने खानपान का विशेष ध्यान रखें।
  • समय-समय पर शिशु को डॉक्टर के पास चेकअप के लिए लें जाएं।
  • बच्चे को एक्टिव बनाएं।
  • दूध की बॉटल को हर बार प्रयोग करने से पहले पानी में उबालें।
  • बच्चे की आंखों में काजल का प्रयोग ना करें।
 

 


(जेपी हॉस्पिटल, नोएडा की सीनियर कंसल्टेंट और बाल रोग चिकित्सक डॉ. आशु साहनी से बातचीत पर आधारित)

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

चित्त की महत...

चित्त की महत्ता...

श्री गुरुदेव की कृपा के बिना कुछ भी संभव नहीं। अध्यात्म...

तुम अपना भाग...

तुम अपना भाग्य फिर...

एक बार ऐसा हुआ कि पोप अमेरिका गए, वहां पर उनकी कई वचनबद्घताएं...

संपादक की पसंद

शांति के क्ष...

शांति के क्षण -...

मानसिक शांति के अत्यन्त सशक्त क्षण केवल दुर्बल खालीपन...

सुख खोजने की...

सुख खोजने की कला...

एक महिला बोली : मुनिश्री! मैं बड़ी दु:खी हूं। यों तो...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription