GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

जरूरी है मैनीक्योर-पैडीक्योर

अर्पणारितेश यादव

21st May 2016

खूबसूरती सिर्फ चेहरे से नहीं झलकती बल्कि हाथ-पैरों से भी नजर आती है इसलिए चेहरे की तरह ही हाथ-पैरों की देखभाल भी जरूर करनी चाहिए।

मैनीक्योर और पैडीक्योर से हाथ-पैरों में निखार आता है और साथ ही आकर्षक दिखने से आत्मविश्वास भी बढ़ता है। इससे नाखूनों का जल्दी-जल्दी कमजोर होकर टूटने, पीला पड़ने और खराब होने की समस्याओं से निजात मिलती है। ये हाथों व पैरों पर झुर्रियां पड़ने से बचाता है। मैनीक्योर-पैडीक्योर से जोड़ों के दर्द, साइनस सर्दी और बलगम से राहत मिलती है। ये तनाव को भी कम करते हैं।इसलिए हाथ-पैरों की खूबसूरती बढ़ाने के लिए इन्हें लगातार करवाते रहना चाहिए। इससे छोटे और खराब नाखूनों को भी खूबसूरत बनाया जा सकता है। 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

कैसे करें मैनीक्योर पैडीक्योर:-

  • पुरानी नेलपाॅलिश हटाएं।
  • पसंदानुसार नाखूनों को काटें और आकार दें।
  • नाखूनों पर क्यूटिकल क्रीम लगाएं।
  • थोड़ी देर के लिए सिटरस हैंड एंड फूट बाथ में 5 मिनट तक भिगोएं रखें।
  • सिटरस हैंड एंड फुट बाथ को घुमावदार प्रक्रिया से मसाज करें। फिर धो दें।
  • नेलब्रश की सहायता से नाखूनों के आसपास की मृत त्वचा को साफ करें।
  • शुष्क हथेलियों और एड़ियों से सख्त और मृत त्वचा हटाने के लिए प्यूमिक स्टोन का प्रयोग करें।
  • बाथ ब्रश से हाथों-पैरों की सफाई करें।
  • सिटरस हैंड एंड फुट मसाज क्रीम लगाएं। बांहों और टांगों पर इससे मसाज करें।
  • गर्म पानी में भीगे तौलिए से क्रीम हटाएं। फिर सिटरस हैंड एंड फुट मास्क लगाएं।
  • सूखने के बाद साफ कर दें। हाथ -पैर सूखने के बाद सिटरस हैंड एंड फुट माॅयश्चराजर लगाएं। इससे त्वचा कोमल होगी।
  • नाखूनों को चमक देने के लिए नेल बफर का इस्तेमाल करें।
  • इसके बाद नाखूनों पर नेल बेस लगाकर नेल पेंट लगाएं। फिर टाॅप कोट लगाएं।

हाथों व पैरों की देखभाल:-

मैनीक्योर के अलावा रोजमर्रा में भी हाथों व पैरों की देखभाल जरूरी है। जैसे-नहाते समय हाथों और पैरों का खास ध्यान रखना चाहिए। बाथ ब्रश से अच्छी तरह सफाई करें। लगभग एक मिनट तक बाथ ब्रश और बाथ सोप से मसाज करने से गंदगी हट जाएगी साथ ही रक्त संचार भी बेहतर होगा। 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

हर चौथे दिन जई में एक छोटा चम्मच नींबू का रस और दूध मिलाकर पेस्ट बनाएं। हाथों और पैरों में लगाएं और पांच मिनट बाद धो दें। नहाने के बाद हमेशा शरीर पर माॅयश्चराइजर लगाएं। हाथों-पैरों पर बाल हों तो वे भद्दे लगते हैं। इसलिए अगर बाल हों तो उन्हें साफ करना बेहद जरूरी है। बालों को हटाने के लिए वैक्सिंग करें। हाथ पैरों पर साबुन के प्रयोग से काफी रूखापन आ जाता है, इसे दूर करने के लिए माॅयश्चराइजर लगाएं।

आइए जानें घर पर माॅयश्चराइजर कैसे बनाएं:-

 

 

 

 

 

 

 

छह छोटा चम्मच पेट्रोलियम जेली, दो छोटा चम्मच ग्लिसरीन,आधा छोटा चम्मच नींबू का रस, इन सबको मिलाकर पेस्ट बना लें। यह माॅयश्चराइजर शुष्क त्वचा पर बहुत कारगर हैं। इसे हाथों -पैंरों पर लगाकर अच्छी तरह मलें। इसके बाद टिशु पेपर से दबाकर नमी सोख लें। इसे सोने से पहले प्रयोग में लाएं। एड़ियों के फटने की समस्या बहुत ही आम है। इससे बचाव के लिए एड़ियों को रोज नहाते समय प्यूमिक स्टोन से रगड़ कर साफ करें। घर और रोजाना के कामों से एड़ियां बहुत सख्त हो जाती हैं। इन्हें मुलायम करने के लिए हाथों पर अच्छी सी क्रीम लगाकर मसाज करें ताकि इसके बाद गीले और नर्म तौलिए से हाथ पोंछ लें। साथ ही जब भी बर्तन आदि साफ करें तो बाद में हैंड क्रीम लगाना न भूलें। हमेशा हाथों को साफ रखें। साबुन लगाकर लगभग 25 सेकेंड तक हाथ मलकर फिर साफ पानी से धोएं। ऐसा करने से हाथ अच्छी तरह साफ हो जाते हैं।