GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

जीजाजी की वजह से

भारती राजा

31st May 2017

जीजाजी की वजह से


शादी के कुछ समय बाद गर्मियों की छुट्टी में हम लोग दीदी के यहां घूमने गए थे। खाने में जीजाजी को दही-बड़े बहुत पसंद हैं। फिर गर्मी का मौसम भी था, अत: दीदी ने दही-बड़े मंगवा कर फ्रिज में रख दिए थे। मुझे दही-बड़े बिल्कुल पसंद नहीं हैं। इन्हें भी ज्यादा पसंद नहीं थे दही-बड़े। दोपहर को सभी खाने की मेज पर बैठे, जीजाजी बार-बार दही-बड़े खाने के लिए फोर्स कर रहे थे। जब वह बहुत जिद करने लगे तो मैंने दही-बड़े खा लिए। जैसे ही मैं खाकर उठी कि थोड़ी देर में उल्टी जैसा लगने लगा और उल्टी हो गई। मैं दीदी के कमरे में आराम करने चली गई। जब दीदी की सास को पता चला कि मेरी तबियत खराब हो गई है तो वह मेरे पास हाल पूछने आई। कमरे में दीदी, जीजाजी और मेरे पति भी मौजूद थे। उनकी सास ने मुझसे पूछा, 'बेटा, ऐसे उल्टी कैसे हो गई। मैं वैसे भी जीजाजी के प्रति गुस्से से भरी हुई थी और गुस्से में मेरे मुंह से निकल गया। ये सब जीजाजी के कारण ही हुआ है, इन्हीं की वजह से मैं यह भुगत रही हूं। दीदी की सास आश्चर्य से मेरे चेहरे की ओर देखने लगी। मेरी बात सुन कर दीदी, जीजाजी और ये जोर-जोर से हंस रहे थे। जब मुझे मेरी कही बात का अर्थ समझ में आया तो मेरा चेहरा शर्म से लाल हो गया और मैं भाग कर दूसरे कमरे में चली गई। कमरे में ठहाके गूंज उठे। 

ये भी पढ़ें-

देखते नहीं, साली फ्री मिली है

मैं पास हो गई

पत्नी धर्म निभाया

कोल्ड ड्रिंक पीनी नहीं आती

 

आप हमें फेसबुकट्विटरगूगल प्लस और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकते हैं।