GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

सूरज का ट्रिप

प्रीति धवन

23rd August 2017

सूरज का ट्रिप

मुझे याद है जब मैं स्कूल जाती थी। घर के हालात ठीक-ठाक थे, परंतु आसपास के दोस्त व सहेलियां अमीर घरों के थे। हम छुट्टियों में शिमला घूमने जाते और वो स्विटजरलैंड। एक बार तीसरी क्लास में टीचर ने पढ़ाया कि पृथ्वी सूरज का चक्कर लगाती है। यह बात मेरे दिमाग में बैठ गई। छुट्टियां हुई सब बताने लगे कि वो कहां-कहां जा रहे हैं। मुझ से पूछा तो मैं बोली हम तो सूरज का ट्रिप लगाने जा रहे हैं। तुम से दूर और बेहतर। सब हैरान रह गए कि हम सूरज का ट्रिप लगाने जा रहे हैं। आज भी कहीं घूमने का प्रोग्राम बनते ही यह बात याद आ जाती है और बहुत हंसी आती है कि कैसे मैंने सबको बुद्धू बनाया।

ये भी पढ़ें-

जन्माष्टमी का चंदा

अभी से पढ़ाई में जुट जाती हूं

पॉपकॉर्न तो छोड़ जाए...

 आप हमें फेसबुकट्विटरगूगल प्लस और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकते हैं।