सूरज का ट्रिप

प्रीति धवन

23rd August 2017

सूरज का ट्रिप

मुझे याद है जब मैं स्कूल जाती थी। घर के हालात ठीक-ठाक थे, परंतु आसपास के दोस्त व सहेलियां अमीर घरों के थे। हम छुट्टियों में शिमला घूमने जाते और वो स्विटजरलैंड। एक बार तीसरी क्लास में टीचर ने पढ़ाया कि पृथ्वी सूरज का चक्कर लगाती है। यह बात मेरे दिमाग में बैठ गई। छुट्टियां हुई सब बताने लगे कि वो कहां-कहां जा रहे हैं। मुझ से पूछा तो मैं बोली हम तो सूरज का ट्रिप लगाने जा रहे हैं। तुम से दूर और बेहतर। सब हैरान रह गए कि हम सूरज का ट्रिप लगाने जा रहे हैं। आज भी कहीं घूमने का प्रोग्राम बनते ही यह बात याद आ जाती है और बहुत हंसी आती है कि कैसे मैंने सबको बुद्धू बनाया।

ये भी पढ़ें-

जन्माष्टमी का चंदा

अभी से पढ़ाई में जुट जाती हूं

पॉपकॉर्न तो छोड़ जाए...

 आप हमें फेसबुकट्विटरगूगल प्लस और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकते हैं।

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

कोरोना काल म...

कोरोना काल में आज...

शक्ति का नाम नारी, धैर्य, ममता की पूरक एवम्‌ समस्त...

मनी कंट्रोल:...

मनी कंट्रोल: बचत...

बचत करना जरूरी है लेकिन खर्च भी बहुत जरूरी है। तो बात...

संपादक की पसंद

कोलेस्ट्रॉल ...

कोलेस्ट्रॉल कम करने...

कोलेस्ट्रॉल कम करने के आसान तरीके

सिर्फ एक दिन...

सिर्फ एक दिन में...

एक दिन में कोई शहर घूमना हो तो आप कौन सा शहर घूमना...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription