GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

जानें आपकी प्रेगनेंसी प्रोफाइल क्या है?

गृहलक्ष्मी टीम

20th July 2017

प्रेगनेंसी प्रोफाइल से आप कुल मिलाकर अपनी गर्भावस्था का इतिहास कह सकती हैं जिसका आपकी इस गर्भावस्था पर काफी असर पड़ सकता है। आपको अपने इस प्रोफाइल की पूरी जानकारी लेनी है, ताकि डॉक्टर से मिलने पर, इस बारे में बात की जा सके।

जानें आपकी प्रेगनेंसी प्रोफाइल क्या है?

जांच के नतीजे आ चुके हैं; आप मां बनने वाली हैं। गर्भाशय के बढ़ते आकार के साथ-साथ उत्तेजना और प्रश्नों की सूची भी बढ़ रही है। इसमें कोई शक नहीं कि आप कई अजीबो गरीब लगने वाले, गर्भावस्था के लक्षणों से जूझ रही हैं लेकिन इनमें से कई तो आपके प्रेगनेंसी प्रोफाइल से जुड़े हो सकते हैं। 

‘‘मैं गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करने के दौरान ही गर्भवती हो गई। मैं पूरा महीना गोलियां लेती रही क्योंकि मुझे गर्भावस्था का पता ही नहीं चला। क्या इससे मेरे शिशु पर कोई असर पड़ेगा?''
वैसे तो गोलियों का सेवन बंद करने के बाद एक मासिक चक्र पूरा होता और फिर आप गर्भ धारण करतीं तो ठीक रहता लेकिन यह तो अचानक ही हुआ इसलिए कुछ नहीं किया जा सकता। इसमें इतना गंभीर होने या चिंता करने वाली कोई बात नहीं है। इस बात के कोई सबूत नहीं मिलते कि ऐसी अवस्था में शिशु को कोई हानि हो सकती है। अगर मन की तसल्ली चाहती हैं तो अपने डॉक्टर की राय भी ले लें।       
                                                               
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
‘‘मैंने कंडोम और स्पर्मीसाइड्स इस्तेमाल करने के दौरान ही गर्भधारण कर लिया और अनजाने में उनका इस्तेमाल करती रही। क्या मुझे शिशु की तरफ से कोई परेशानी हो सकती है?''
अगर आप कंडोम स्पर्मीसाइड के साथ डाइफरागम या फिर स्पर्मीसाइड युक्त डाइफरागम वगैरह रखने के दौरान गर्भवती हो गई हैं तो जान लें कि स्पर्मीसाइड और जन्मजात विकारों में कोई लेने-देन नहीं है। यह भी पता चला है कि गर्भावस्था के आरंभ में इनके इस्तेमाल से कोई समस्या नहीं होती। चाहे आप अनजाने में ही गर्भवती हो गई हैं लेकिन इसका पूरा आनंद लें। 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
‘‘मैं गर्भनिरोधक के तौर पर आई यू डी इस्तेमाल करती आ रही थी, लेकिन मुझे हाल ही में पता चला कि मैं गर्भवती हूं। क्या मेरा गर्भकाल स्वस्थ व सुरक्षित होगा?'' 
हालांकि गर्भनिरोधक के इस्तेमाल के बावजूद गर्भवती हो जाना थोड़ा परेशान कर देने वाला हो सकता है। वैसे 1000 में से 1 मामला ही ऐसा होता है, जब आई यू डी होने के बावजूद गर्भ ठहर जाए या तो यह अपने स्थान से खिसक गया होगा या सही तरह से लगा ही नहीं होगा। आपके सामने दो ही विकल्प हैं, जिनके बारे में जल्द से जल्द डॉक्टर से बातचीत करनी चाहिए। आई यू डी रखना है या निकालना है। डॉक्टर जांच के बाद बताएंगे कि आपके मामले में क्या करना चाहिए। अगर आई यू डी अपने स्थान से खिसक गई है और उसका धागा दिख रहा है तो उससे निकाला जा सकता है वरना वह प्रसव के समय बाहर आएगी अगर इसका धागा गर्भावस्था के प्रारंभ में ही दिखाई दे जाता है तो संक्रमण का खतरा काफी बढ़ जाता है। यदि इसे जल्दी से निकाल दिया जाए तभी सफल व स्वस्थ गर्भावस्था की उम्मीद की जा सकती है। यदि इसे न निकाला गया तो गर्भपात भी हो सकता है। अगर पहली तिमाही के दौरान भी यह अंदर ही हो तो किसी भी तरह के रक्तस्राव,ऐंठन या बुखार के लिए सावधान रहें क्योंकि आपको इसकी वजह से कई तरह की जटिलताओं का सामना करना पड़ सकता है। डॉक्टर को सभी लक्षण बताने में देर न करें।
 

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

जानिए बॉलीवु...

जानिए बॉलीवुड की...

चलिए जानते हैं कुछ एक्ट्रेसेस के बारे में जिन्होंने...

चाणक्य के अन...

चाणक्य के अनुसार...

सदियों से ये सोच चली आ रही है महिलाएं शारीरिक और मानसिक...

संपादक की पसंद

रामायण: घर-घ...

रामायण: घर-घर में...

रामानंद सागर की 'रामायण' लॉकडाउन में जब दोबारा प्रसारित...

खाद्य पदार्थ...

खाद्य पदार्थ जो...

आजकल आप थके-थके रहते हैं। रोमांस करने की आपकी इच्छा...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription