GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

बाबाजी का ठुल्लू

महारानी बेरी

30th May 2017

बाबाजी का ठुल्लू

 

बात कुछ ही दिनों पहले की है, शिवरात्रि का दिन था। मैं अपने पोते को लेकर मंदिर पूजा करने गई। काफी लंबी लाइन थी, व्रत का दिन था। वह मेरे साथ खड़ा-खड़ा थक गया था। बार-बार पूछे जा रहा था, 'हमारा नम्बर कब आएगा? फिर हमारा नम्बर आ गया।

हम मंदिर में गए, काफी लोग थे। हमें पूजा करने में देर हो रही थी। पोता फिर झट से आगे बढ़ गया, जैसे ही उसने शिवजी की मूर्ति देखा वह झट से जोर से बोल पड़ा, दादी-दादी यहां से घर चलो। यहां तो बाबाजी का ठुल्लू दिखा रहे हैं, जैसा टीवी में दिखाते हैं और उसने भीड़ में अपने हाथों से इशारा करके दिखाया। कई लोग हंसने लगे, लेकिन कई उसे डांटने लगे। लेकिन मैं शर्म से लाल हो गई।

 

 ये भी पढ़ें-

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

जानिए बॉलीवु...

जानिए बॉलीवुड की...

चलिए जानते हैं कुछ एक्ट्रेसेस के बारे में जिन्होंने...

चाणक्य के अन...

चाणक्य के अनुसार...

सदियों से ये सोच चली आ रही है महिलाएं शारीरिक और मानसिक...

संपादक की पसंद

रामायण: घर-घ...

रामायण: घर-घर में...

रामानंद सागर की 'रामायण' लॉकडाउन में जब दोबारा प्रसारित...

खाद्य पदार्थ...

खाद्य पदार्थ जो...

आजकल आप थके-थके रहते हैं। रोमांस करने की आपकी इच्छा...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription