GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

बेहतर कम्युनिकेशन स्किल्स है मॉडलिंग के लिए बेहद जरूरी

नीति वर्मा

25th June 2018

मॉडलिंग पैसा, ग्लैमर और  लोकप्रियता से भरा कैरियर है। मार्केटिंग एजेंसियों और विज्ञापन कंपनियों को बड़े पैमाने पर नए एवं ताजगी भरे चेहरे के साथ आकर्षक और युवा मॉडल्स की तलाश हमेशा रहती है।

दुनिया भर में लाखों कंपनियों द्वारा विविध प्रकार के उत्पादों को मार्केटिंग की विभिन्न युक्तियों द्वारा भावी ग्राहकों को आकर्षित कर विश्व भर के बाज़ारों मे बेचा जाता है। इन उत्पादों को बेचने के लिये विज्ञापनों में मॉडल्स द्वारा न सिर्फ प्रोडक्ट्स की विशेषताओं का बखान नपे-तुले शब्दों में किया जाता है बल्कि उक्त मॉडल के व्यक्तित्व के निखार को भी प्रोडक्ट से जोड़कर दर्शाया जाता है। ऐसे में उत्पादों की बिक्री के लिये मार्केटिंग मे माडल्स की भूमिका अहम होती है।

 

 

लम्बी कद-काठी, आकर्षक चेहरा, छरहरा बदन तथा तीखे नाक-नक्श एक मॉडल के बेसिक गुण हैं। इनके अलावा कई अन्य गुणों को भी कसौटी पर परखा जाता है। मॉडलिंग के क्षेत्र में कदम रखने वाले युवाओं में भरपूर आत्मविश्वास झलकना बहुत जरुरी है। क्योंकि उन्हें बार बार सैकड़ों-हज़ारों लोगों के बीच स्वयं को प्रदर्शित करना पड़ता है। एक अच्छे मॉडल में, संयमित ढंग से अपनी बातों को दूसरों के समक्ष रखने का कौशल होना चाहिए। साथ ही अन्य लोगों की बातों को अत्यंत धैर्यपूर्वक सुनने का गुण भी होना व्यक्तित्व को आकर्षक बनने में काफी उपयोगी सिद्ध होता है।

 

एक अच्छे माडल के लिये बेहतर कम्युनिकेशन स्किल भी जरूरी है। चाहे जिस भाषा में आप लोगों से प्रोफेशनल स्तर पर बात करें, इतना अवश्य ध्यान रखें कि शब्दों के चयन और भाषा के धाराप्रवाह के बीच समन्वयन होना चाहिए। इसमें उच्चारण की शुद्धता का विशेष तौर पर ध्यान रखना ज़रूरी है। सबसे अच्छी सलाह है कि आधी-अधूरी भाषा का जानकार होने पर बेहतर यही रहेगा कि उस भाषा के प्रयोग से बचा जाए।

 

 

अनुशासित जीवन मॉडल्स के लिये बहुत जरूरी है। क्योंकि मॉडल्स को अन्य लोगों की तुलना में अपने शरीर और स्वास्थ्य पर कहीं अधिक ध्यान देने की ज़रूरत पड़ती है। यही कारण है कि अधिकाँश मॉडल्स और स्टार्स द्वारा खान-पान, दिनचर्या, आराम के समय आदि के लिये अत्यंत कठोर अनुशासन अपनाया जाता है। मॉडल्स के लिये यह ज़रूरी हो जाता है कि उनकी चाल-ढाल में नफासत हो, उठने-बैठने के तौर तरीकों में अदा हो तथा उनके व्यक्तित्व में ख़ास अदा हो।

ये सब बातें मॉडलिंग की ट्रेनिंग प्रक्रिया के दौरान सिखाई जाती हैं। इसलिये अच्छा होगा कि मॉडलिंग के क्षेत्र मे आने के लिये आप किसी प्रोफेशनल इंस्टीट्यूट को ज्वाईन करें। दिल्ली, मुंबई मे एेसे कई प्रतिष्ठित इंस्टीट्यूट हैं। कुछ एजेंसियों द्वारा मॉडलिंग सम्बंधित शॉर्ट टर्म कोर्स भी करवाए जाते हैं। समय रहते ऐसी ट्रेनिंग कर लेनी चाहिए। मॉडल्स और इस क्षेत्र के अन्य प्रोफेशनल्स द्वारा इस फील्ड से सम्बंधित बारीकियां बतायी जाती हैं।

 

लेकिन एेसा करना बहुत जरूरी भी नही है। क्योंकि बहुत से एेसे सफल मॉडल भी हुयें हैं जिन्होने कोई इंस्टीट्यूट नही ज्वाईन किया। अगर आपको लगता है कि ये सब क्वालिटीज़ आप मे मौजूद हैं तो आप सबसे पहले किसी प्रोफेशनल फोटोग्राफर से अपना फोटो प्रोफाइल शूट करवाएं। साथ ही अपना बायोडाटा तैयार करें। यह अवश्य ध्यान रखें कि ये सब ही किसी भी विज्ञापन एजेंसी में आपका पहला परिचय देंगी।

 

ये भी पढ़े- 

शादी के लिए तैयार हैं आरती, रनवीर सिंह जैसा लड़का है पसंद 

ब्रेकअप की खबरों पर रणवीर ने कुछ ऐसे लगाया विराम

रणवीर से सीखिए कैसे उठाते हैं सोलो ट्रैवलिंग का मजा

 

आप हमें फेसबुकट्विटरगूगल प्लस और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर  सकती हैं।