घर में रखें ये चीजें, दूर हो जाएगा वास्तु दोष

मोना

12th July 2018

घर में वास्तु दोष से अशांति, बीमारी और अधिक खर्च जैसी कई समस्याएं आती हैं।

कई बार ऐसा लगता है कि मेहनत की कमाई पानी की तरह बह जा रही है। बेवजह के कई खर्च सामने आ जाते हैं। परिवार में अशांति रहती है। ये सब वास्तु दोष के कारण होता है। यदि आप भी ऐसी समस्याओं से परेशान हैं, तो आपको कुछ उपाय करने की जरूरत है। आइये आपको बताते हैं कि कौन से उपाय करके आप अपने घर का वास्तु दोष  दूर कर सकते हैं।


इन देवी-देवताओं की पूजा

वास्तु दोष दूर करने के लिए वास्तु पुरुष की पूजा करनी चाहिए। घर में वास्तु पुरुष की तस्वीर या मूर्ति लगाएं और नियमित रूप से कपूर जलाकर उनकी पूजा करें। पूजा करते समय देवी लक्ष्मी के साथ कुबेर यंत्र व मूर्ति की भी आराधना करें। भगवान विष्णु व माता लक्ष्मी के साथ शंख रखना न भूलें। वास्तुशास्त्र में पंचमुखी हनुमान को वास्तु संबंधी दोष को दूर करने वाला माना गया है। ऐसे में घर में पंचमुखी हनुमान की एक प्रतिमा को पूजा घर में अवश्य विराजित करें। 
 
 
मुख्य द्वार पर रखें इसका ध्यान 

शास्त्रों के अनुसार घर के मुख्य द्वार पर स्वास्तिक का चिन्ह बनाना चाहिए। साथ ही घर की तरफ देखते हुए गणेशजी भी शुभ लाभ देते हैं। हालांकि, यदि आपके घर का मुख्‍य द्वार दक्षिण या उत्तर की दिशा में हो तभी मुख्‍य द्वार पर गणेशजी की प्रतिमा लगाएं। मुख्‍य द्वार पूर्व या पश्चिम दिशा में होने पर गणेशजी की मूर्ति नहीं लगानी चाहिए। पूजा घर में हमेशा लाल वस्त्र में लपेटकर नारियल रखना चाहिए। इसे लक्ष्मीजी का स्वरूप माना गया है। 
 

मनी प्लांट के लिए यह दिशा 

घर में मनी प्लांट लगाना शुभ माना गया है। वास्तुशास्त्र के अनुसार इसके लिए आग्नेय दिशा यानी दक्षिण-पूर्व दिशा शुभ होती है। दरअसल, इस दिशा के अधिपति गणेशजी व स्वामी ग्रह शुक्र है। इस कारण अमंगल नाशक गणेशजी और सुख-समृद्धि का कारक शुक्र सुख और ऐश्वर्य की वर्षा करते हैं। ऐसे में धनलाभ के लिए मनी प्लांट हमेशा इसी दिशा में लगाना चाहिए।


घर में 9 पिरामिड रखें 

वास्तु दोष से त्रस्त हैं तो अपने घर में 9 पिरामिड रखें। इससे हर दिशा के वास्तु दोष दूर हो जाते हैं। अगर ऐसा करना संभव नहीं है तो कम से कम उस भाग में एक पिरामिड अवश्य रखें, जहां घर के लोग अक्सर साथ में समय बिताते हैं। इससे सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है और घर में उन्नति आती है।


जल की दिशा
 
वास्तुशास्त्र में उत्तर दिशा को जल की दिशा माना गया है। घर में इसी दिशा में पानी स्टोर करने जैसे पानी से जुड़े कार्य करें। फ्लैट्स आदि में ऐसा करना थोड़ा मुश्किल होता है, क्योंकि यहां फ्रिज व फिल्टर रखने के लिए पहले से ही एक जगह तय होती है। ऐसे में वास्तु दोष दूर करने के लिए उत्तर दिशा में डिजाइनर घड़े में पानी भरकर रख दें। इसमें हर दिन पानी बदलकर ताजा पानी भरें। वहीं, जल निकासी उत्तर या पूर्व दिशा में करें, यह आर्थिक दृष्टि से शुभ होता है।
 
 

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

क्या है वो ख...

क्या है वो खास कारण...

क्या है वो खास कारण जिसकी वजह से ब्यूटी कांटेस्ट में...

ननद का हुआ ह...

ननद का हुआ है तलाक,...

आपसी मतभेद में तलाक हो जाना अब आम हो चुका है। कई बार...

संपादक की पसंद

दुर्लभ मगरगच...

दुर्लभ मगरगच्छ के...

रूस की लग्जरी गैजेटस कंपनी केवियर ने सबसे मंहगा हेडफोन...

शिशु की मालि...

शिशु की मालिश के...

बच्चे के जन्म के साथ ही अधिकांश माँए हर रोज शिशु को...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription