GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

वजन जल्दी कम करने में मदद करेंगे ये अभ्यास

सुचि बंसल, योगा एक्सपर्ट एवं डाइटीशियन 

18th July 2018

बढ़ती हुई मोटापे की समस्या का मुख्य कारण जंक फूड का बढ़ता क्रेज, ऐल्कोहल का अधिक सेवन और अनियमित जीवन शैली है। कई बार यह समस्या आनुवांशिक कारणों से भी होती है। 

आजकल मोटापा एक बहुत बड़ी समस्या का रूप लेता जा रहा है। हमें अपने आस-पास ऐसे कई लोग मिल जाएंगे जो मोटापे की समस्या से जूझ रहे हैं। कई शोधों के मुताबिक मोटापे से पीड़ित लोगों में भारत का स्थान दुनिया में तीसरे नंबर पर आता है। हर पाँच में से एक व्यक्ति मोटापे से पीड़ित है। योग के नियमित अभ्यास से बढ़ते हुए वजन को आसानी से काबू में किया जा सकता है। नीचे कुछ ऐसे आसन बताए जा रहे हैं जिन्हें रोजाना करने से शरीर फिट रहता है और चर्बी भी कम होती है -
 
पाद हस्तासन

दोनों पैर मिलाकर सीधे खड़े हो जाएँ। श्वास लेते हुए दोनों हाथों को सिर के ऊपर उठाकर शरीर को ऊपर की ओर खींचें। फिर श्वास छोड़ते हुए कमर से नीचे की ओर झुकें और हाथों से जमीन को छूने की कोशिश करें। इस अभ्यास को 10-20 बार दोहराएँ। इसे नियमित करने से कमर और पेट की मसल्स टोंड होती हैं और वहाँ जमा फैट दूर होता है। 
 
 
 
उत्कटासन
 
दोनों पैरों के बीच में थोड़ा गैप रखते हुए सीधे खड़े हो जाएँ। अपने दोनों हाथों को कंधे के समानान्तर पर सामने की ओर फैलाएँ। धीरे- धीरे लंबी गहरी श्वास लें और अपने घुटनों को इस तरह मोड़ें कि शरीर की स्थिति इस प्रकार बन जाए जैसे आप किसी काल्पनिक चेयर पर बैठे हैं।  फिर धीरे से श्वास छोड़ते हुए वापस सामान्य स्थिति में आ जाएँ। इस आसन को 8 -10 बार करें। इस आसन को रोजाना करने से हिप्स और जांघों का फैट कम होता है और वे शेप में आते हैं।   
 
alt=''
 
पश्चिमोत्तानासन 
 
रीढ़ की हड्डी सीधी रखते हुए पैरों को सामने की ओर फैलाकर रखें। श्वास लेते हुए दोनों हाथों को सिर के ऊपर सीधा उठाएँ और शरीर को ऊपर की ओर खींचें।  फिर श्वास छोड़ते हुए आगे की ओर झुकें और अपने हाथों से पैरों के अंगूठे को पकड़ें। ऐसा 10-15 बार करें। इस आसन का नियमित अभ्यास करने से पेट में दबाब पड़ता है, जिससे पेट शीघ्र ही कम हो जाता है।   
 
 
उत्तानपादासन 
 
पीठ के बल लेटकर सीधा लेट जाएँ। दोनों हाथ अपनी जांघों के बगल में रखें। श्वास लेते हुए दोनों पैरों को एक साथ करीब डेढ़ फुट या 45 डिग्री ऊपर उठाएँ। जितनी देर श्वास रोक सकते हैं, रोककर रखें फिर श्वास छोड़ते हुए धीरे से पैरों को नीचे ले आयें। इस अभ्यास को 5-7 बार करें। इस आसन का पूरा इफैक्ट पेट और जांघों पर पड़ता है इसलिए पेट की चर्बी घटाने के लिए यह सबसे प्रभावी अभ्यास है। 
 
 
भुजंगासन 
 
पेट के बल लेटें, दोनों पैरों को मिलाकर रखें। हथेलियों को कंधों के बगल में जमीन पर रखें। श्वास लेते हुए धीरे- धीरे अपने सीने को ऊपर को ओर उठाएँ। अपने चेहरे को पीछे की तरफ ले जाएँ ताकि आप छत को देख सकें। फिर श्वास छोड़ते हुए धीरे- धीरे वापस आ जाएँ। इस अभ्यास को 5-10 बार करना है। इससे पेट की मांसपेशियों में खिंचाव पैदा होता है जो पेट की चर्बी को घटाने में मदद करता है। साथ ही यह आसन कमर और पीठ के फैट को भी कम करता है। इसे करने से सीने के आसपास खिंचाव होता है जो महिलाओं में ब्रेस्ट को शेप देने में मदद करता है। 
 

 

ये भी पढ़ें-

योग शुरू करने से पहले ये 10 बातें जाननी हैं बेहद जरूरी

योग आसन में है मां बनने के उपाय

डिप्रेशन की समस्या को कम करता है मूर्धासन

आप हमें फेसबुकट्विटर और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकते हैं।
 
 

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

जानिए बॉलीवु...

जानिए बॉलीवुड की...

चलिए जानते हैं कुछ एक्ट्रेसेस के बारे में जिन्होंने...

चाणक्य के अन...

चाणक्य के अनुसार...

सदियों से ये सोच चली आ रही है महिलाएं शारीरिक और मानसिक...

संपादक की पसंद

रामायण: घर-घ...

रामायण: घर-घर में...

रामानंद सागर की 'रामायण' लॉकडाउन में जब दोबारा प्रसारित...

खाद्य पदार्थ...

खाद्य पदार्थ जो...

आजकल आप थके-थके रहते हैं। रोमांस करने की आपकी इच्छा...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription