GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

अपने ब्रेस्ट को दें सुडौल आकार, फैट कम करने में मदद करेंगे ये योगासन

सुचि बंसल, योगा एक्सपर्ट एवं डाइटीशियन

2nd July 2019

बढ़ते वजन के चलते या अन्य किसी कारण से कई लड़कियों और महिलाओं के ब्रेस्ट काफी बड़े और भारी हो जाते हैं। जिसके चलते उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है, खासकर भागते या दौड़ते वक्त। कई बार यह आत्म विश्वास में कमी की वजह भी बनता है।

ब्रेस्ट में 80% वसा होती है, यदि ब्रेस्ट से वसा का स्तर कम करते हैं तो उनका साइज काफी हद तक कम किया जा सकता है। योग करने से ब्रेस्ट के नीचे स्थित पेक्टोरल मसल्स को सही आकार मिलता है जिससे ब्रेस्ट और अंडरआर्म्स के बीच के हिस्से का फैट कम होने लगता है। साथ ही योग का अभ्यास करने से इन्हें सही आकार मिलता है और मांसपेशियाँ भी मजबूत होती हैं।        

सेतु बंधासन

यह आसन ब्रेस्ट के शेप को बेहतर बनाता है और वहाँ की मसल्स को मजबूती देता है। इस आसन को करते समय सीने में फैलाव होता है जिससे वहाँ की मसल्स में कसाव आता है जो स्तनों के ढीलेपन को दूर कर उनमें कसावट लाता है।

कैसे करें

  • दोनों पैरों के बीच में 10-12 इंच का गैप कर लें। अपने हाथों को शरीर के बगल में रखते हुए हथेलियों से अपनी ऐडियों को पकड़ने का प्रयास करें।
  • पीठ के बल सीधा लेटकर अपने घुटनों को मोड़ें तथा तलवों को अपने कूल्हों के नजदीक रखने का प्रयास करें।
  • श्वास लेते हुए अपनी कमर वाले भाग को ऊपर की ओर उठाएँ। यहाँ यह ध्यान रखना आवश्यक है कि कंधे जमीन पर ही रहें, केवल कमर वाले भाग को जितना ऊपर उठा सकते हैं, उठाना है।
  • यदि संभव हो तो कमर को जब ऊपर उठायें तो थोड़ी देर वही रुकने का प्रयास करें। फिर श्वास छोड़ते हुए धीरे से वापस आ जाएँ। इस अभ्यास को 5- 10 बार करें।

गौमुखासन

इस आसन को करने से सीने की चर्बी कम होती है। यह स्तनों के ढीलेपन को दूरकर उनमें कसावट लाता है। साथ ही सही शेप बनाकर रखने में मदद करता है।

कैसे करें

  • इस आसन को करने के लिए पैरों को एक के ऊपर रखकर बैठें। फिर अपने बाएँ हाथ को सिर के ऊपर से ले जाते हुए पीछे की तरफ ले जाएँ और दायें हाथ को नीचे से ले जाते हुए अपने बाएँ हाथ को पकड़ने की कोशिश करें। थोड़ी देर इसी स्थिति में रुकें।
  • इसके बाद इसी अभ्यास को दूसरी तरफ से करें।

धनुरासन

इस आसन को करने से सीने और पीठ की मांसपेशियों में खिंचाव होता है जिससे ब्रेस्ट और उसके आसपास जमा चर्बी धीरे- धीरे कम होने लगती है। साथ ही स्तनों में कसावट आने से सही और आकर्षक शेप भी मिलता है।

कैसे करें 

पेट के बल लेट जाएँ। अपने पैरों को घुटने से मोड़ें तथा अपने हाथों से अपने पैरों को कसकर पकड़ लें। श्वास लेते हुए अपने सिर, धड़ तथा पैरों को जितना ऊपर उठा सकते हैं, उठाएँ। जितनी देर श्वास रोककर इस अवस्था में रुक सकते हैं रुकना है फिर श्वास छोड़ते हुए धीरे से वापस आ जाएँ। इस अभ्यास को 5-10 बार करें।

ये भी पढ़ें-

योग शुरू करने से पहले ये 10 बातें जाननी हैं बेहद जरूरी

योग आसन में है मां बनने के उपाय

डिप्रेशन की समस्या को कम करता है मूर्धासन

आप हमें फेसबुकट्विटर और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकते हैं।