GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

'फुलेरा दूज' पर पूजा करने से दूर होंगी मैरिड लाइफ की सारी समस्याएं

शिखा पटेल

6th March 2019

फुलेरा दूज का त्योहार बसंत पंचमी और होली के बीच फाल्गुन में मनाया जाता हैं। ज्योतिषशास्त्र की मानें तो फुलेरा दूज पूरी तरह दोषमुक्त दिन है।

फुलेरा दूज एक ऐसा त्योहार है जिस दिन का हर पल शुभ होता है। खासकर उन लोगों के लिए जिनका अपने लाइफ पार्टनर के साथ मनमुटाव चल रहा है। इस दिन का हर क्षण शुभ होता है इसलिए कोई भी शुभ काम करने से पहले मुहूर्त देखने की जरूरत नहीं होती। इस बार यह त्योहार 8 मार्च को है। आइए, जानते हैं इस दिन के महत्व के बारे में...
 
फुलेरा दूज का महत्व
 
  • जिनकी कुंडली में प्रेम का अभाव हो, उन्हें इस दिन राधा-कृष्ण की पूजा करनी चाहिए। 
  • फुलेरा दूज वर्ष का अबूझ मुहूर्त भी माना जाता है, इस दिन कोई भी शुभ कार्य कर सकते हैं। 
  • फुलेरा दूज मुख्य रूप से बसंत ऋतु से जुड़ा त्योहार है। 
  • वैवाहिक जीवन और प्रेम संबंधों को अच्छा बनाने के लिए इसे मनाया जाता है। 
  • फुलेरा दूज में मुख्य रूप से श्री राधा-कृष्ण की पूजा की जाती है। 
  • वैवाहिक जीवन की समस्याएं दूर करने के लिए भी इस दिन पूजा की जाती है। 
 
फुलेरा दूज पूजा विधि
 
  • अगर पाठ करना कठिन हो तो केवल 'राधे-कृष्ण' का जाप कर सकते हैं। 
  • प्रसाद में सफेद मिठाई, पंचामृत और मिश्री अर्पित करें। 
  • राधा-कृष्ण को सुगन्धित फूलों से सजाएं। 
  • शाम को स्नान करके पूरा श्रृंगार करें। 
  • राधा-कृष्ण को सुगंध और अबीर-गुलाल भी अर्पित कर सकते हैं। 
  • इसके बाद 'मधुराष्टक' या 'राधा कृपा कटाक्ष' का पाठ करें। 
  • श्रृंगार की वस्तुओं का दान करें और प्रसाद ग्रहण करें। 
 
उपाय 
 
  • पलंग के नीचे गंदगी इकट्ठा न होने दें। 
  • बेड के चारों पावों में गुलाबी धागा बांधें। 
  • सोने के लिए ढेर सारे तकियों का प्रयोग न करें। 

 

ये भी पढ़ें -
आप हमें फेसबुक, ट्विटर और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकते हैं।

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

कम हो गया है...

कम हो गया है अब...

‘‘मैंने सुना है कि आजकल एपिसिओटॉमी का चलन नहीं रहा...

सेक्स ना करन...

सेक्स ना करने के...

यूं तो हर इंसान अपने जीवन में सेक्स ज़रूर करता है,...

संपादक की पसंद

केविनकेयर के...

केविनकेयर के "इनोवेटिव...

भारतीय एफएफसीजी ग्रुप केविनकेयर ने अभिनेता अक्षय कुमार...

इन व्यंजनों ...

इन व्यंजनों को बनाकर,...

सभी भारतीय त्यौहारों के उपवास और अनुष्ठानों के बाद...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription