GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

नवरात्रि स्पेशल:धन और ऐश्वर्य चाहिए तो करें इस उम्र की कन्या का पूजन

शिखा पटेल

27th March 2019

नवरात्र के अंतिम दो दिन अष्टमी व नवमीं को कन्या पूजन की परम्परा हैं। चैत्र नवरात्रि की अष्टमी 13 अप्रैल और नवमी 14 अप्रैल को पड़ रही है जिसमें दो वर्ष से लेकर दस वर्ष तक की कन्याओं की पूजा की जाती हैं। माना जाता हैं कि ये कन्याएं माता का ही एक रूप होती हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि आयु के अनुसार कन्या पूजन के फल भी अलग- अलग होते हैं?

 
  • नवरात्र में अगर आप दो साल की आयु वाली कन्याओं की पूजा करते हैं तो इससे धन और ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है।
  • तीन वर्ष की कन्या को त्रिमूर्ति का रूप माना जाता हैं। इस उम्र की कन्याओं के पूजन से धन- धान्य में वृद्धि होती है और परिवार में हमेशा ही सकारात्मकता का माहौल रहता है।
  • चार वर्ष की कन्या माँ कल्याणी का रूप होती हैं। इनकी पूजा करने से घर-परिवार का हर दृष्टि से कल्याण होता है।
  • अगर आप चाहते हैं कि आप और फॅमिली मेंबर्स रोगों से दूर रहें, तो पांच वर्ष की कन्या को पूजें। ये माँ रोहिणी का ही एक रूप हैं।
  • कालिका के रूप से विद्या, विजय और राजयोग की प्राप्ति होती हैं। माना जाता है कि छह वर्ष की कन्या कालिका का ही रूप है।
  • चंडिका रूप की पूजा करने से व्यक्ति को ऐश्वर्य मिलता है और सात वर्ष की कन्या इन्हीं का एक रूप होती हैं।
  • आठ वर्ष की कन्या माँ शाम्भवी का रूप होती हैं और इनकी कृपा से वाद- विवाद में सफलता मिलती हैं।
  • नौ वर्ष की कन्या मां दुर्गा का रूप होती हैं। इनके पूजन से दुश्मनों का नाश होता है और अटके काम भी पूरे होते हैं।
  • समस्त मनोकामना की पूर्ति के लिए दस वर्ष की कन्या को पूजें। माँ सुभद्रा का ये रूप होती हैं और माँ सुभद्रा अपने भक्तों की सभी इच्छाएं पूरी करती हैं।
ये भी पढ़ें -
 
आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। 

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

जानिए बॉलीवु...

जानिए बॉलीवुड की...

चलिए जानते हैं कुछ एक्ट्रेसेस के बारे में जिन्होंने...

चाणक्य के अन...

चाणक्य के अनुसार...

सदियों से ये सोच चली आ रही है महिलाएं शारीरिक और मानसिक...

संपादक की पसंद

रामायण: घर-घ...

रामायण: घर-घर में...

रामानंद सागर की 'रामायण' लॉकडाउन में जब दोबारा प्रसारित...

खाद्य पदार्थ...

खाद्य पदार्थ जो...

आजकल आप थके-थके रहते हैं। रोमांस करने की आपकी इच्छा...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription