ऐसे मुस्कुराएं कि मुसीबतें डर जाएं

दामिनी यादव

27th April 2021

आजकल की जि़ंदगी में तनाव सभी पर इस तरह से हावी हो गया है कि यह पूरी दुनिया के लिए गंभीर चिंता का विषय है। 'वल्र्ड लाफ्टर डे और 'वल्र्ड हाइपरटेंशन डे के इस महीने में इसी विषय की एक पड़ताल।

ऐसे मुस्कुराएं कि मुसीबतें डर जाएं

अगर मुस्कुराहटें रूठ जाएं तो तनाव इस तरह से जि़ंदगी पर हावी हो जाता है कि फिर पूरी दुनिया को इसके लिए बाकायदा एक तारीख तय करके इसकी अहमियत का एहसास करना होता है। आप जानते हैं दोस्तो कि मई के इस महीने में 5 और 17 तारीख का क्या महत्त्व है? 5 तारी$ख को 'वर्ल्ड लाफ्टर डे होता है और 17 तारीख को 'वर्ल्ड हारपरटेंशन डे।

एक सामान्य जानकारी के अनुसार एक बच्चा दिन भर में औसतन 300 बार मुस्कुराता है, लेकिन आज इस बात से भी कोई इंकार नहीं कर सकता कि अब उम्र और चिंता-तनाव के बीच कोई फासला नहीं रहा। आज जहां एक वयस्क व्यक्ति को हज़ार तरह के तनाव घेरे रहते हैं, वहीं छोटे-छोटे बच्चों पर भी ये तनाव कई रूपों में असर डालने लगा है। यहां तक कि उन्हें भी इससे उबरने के लिए काउंसलिंग की ज़रूरत पडऩे लगी है। क्या कहेंगे इस स्थिति को हम?

एक जाने-माने समाजसेवी ने कहा है कि जि़ंदगी हज़ार समस्याओं से घिरी एक ऐसी शै है, जिसके लाखों समाधान मौजूद हैं। पाठ्यक्रम में किसी विषय का सवाल तैयार करने से पहले उसके जवाब तलाश कर लिए जाते हैं, उसी के आधार पर वह सवाल तैयार होता है। ताला बनाने के लिए पहले चाभी की रूपरेखा बनती है। किसी सितारे की चमक दिखने के लिए अंधेरे की मोहताज होती है, वरना मौजूद तो वे दिन में भी होते हैं। ये जि़ंदगी वाकई दो आंखों में सिमटे हज़ार नज़रियों का नाम है। हम अपनी जि़ंदगी में क्या और कैसे देखना चाहते हैं, ये हमारा नज़रिया ही तय करता है।

ये सच है कि हज़ार सकारात्मक सोच के बावजूद एक आम इंसान अक्सर इस तरह के हालात से घिर जाता है, जहां कोई सोच काम नहीं आती है और टूटन अंदर तक उतर जाती है।

हम आजकल अक्सर पार्कों में लोगों को लाफ्टर क्लब में शामिल होकर ठहाके लगाने की प्रैक्टिस करते हुए देखते हैं। हर पब्लिक डीलिंग के ट्रैनिंग प्रोग्राम में ये बात सबसे पहले सिखाई जाती हैं कि सभी से मुस्कुराकर मिलना बहुत ज़रूरी होता है। घर में बच्चों को सिखाया जाता है कि हमेशा मुस्कुराकर ही नमस्ते करनी चाहिए। कोशिशों से हम ठहाके लगाना सीख भी गए, लेकिन दिल से मुस्कुराए कितना-कितना अर्सा बीत जाता है, ये सच्चाई हमें साल-दर-साल बढ़ते डिप्रैशन के पेशेंट बता ही रहे हैं।

ऐसे में अगर पूरी दुनिया 'वर्ल्ड लाफ्टर डे के तौर पर इस समस्या की तरफ ध्यान दिलाने और इसका समाधान तलाश करने के लिए एक कोशिश करती है तो इस कदम का सभी के द्वारा स्वागत किया जाना चाहिए। घने से घने कोहरे को छांटने में सूरज की एक किरण असर कर जाती है। इसी तरह आज अगर तनाव बहुत है तो तनाव से बचने के रास्ते भी बहुत हैं।

मुस्कुराने के लिए बड़े कारणों की तलाश करने की बजाय, छोटी-छोटी बातों पर भी $खुश होना सीखकर उसे आदत में शामिल करने के लिए थोड़ी सी कोशिश ही बहुत साबित होगी, बशर्ते कोशिश ईमानदार हो। जब भी मौका मिले, अपनी उम्र से बहुत छोटे बच्चों और अपने से बड़े-बजुर्गों के साथ बैठने का वक्त निकाल ही लीजिए। इनसे बहुत-कुछ ऐसे तरीके बिना सिखाए सीख जाएंगे आप, जो अक्सर बड़ी-बड़ी किताबें तक नहीं सिखा पाती हैं।

अगर रोने में मुसीबतों के समाधान संभव होते, तब तो बात कुछ और ही होती, लेकिन ऐसा है नहीं। हां, मुस्कुराना एक उजाला ज़रूर है, हिम्मत का उजाला, हौसले का उजाला, जीत जाने के विश्वास का उजाला। बस पहली कोशिश अपने से ही कीजिए, आईने में अपनी आंखों में आंखें डालकर मुस्कुराने से। चाहे कुछ देर के लिए हंसने की कोशिशें आंसुओं की धार में ही क्यों न छिप जाए, वे आंखें भी आपकी हैं और आंसू भी। यकीन कीजिए, अगर उस पल में आप जी भरकर रो लेने के बाद फिर मुस्कुराएंगे तो उस मुस्कुराहट की चमक बिल्कुल वैसी होगी, जैसी तेज़ बरसात के बाद खिली धूप की होती है। हम आपको हाइपरटेंशन से बचाना चाहते हैं, इसीलिए कह रहे हैं, 'हैप्पी वर्ल्डलाफ्टर डे।



कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

दर्दे-इश्क़ जाग

दर्दे-इश्क़ जाग

परंपरा में ह...

परंपरा में ही है प्रकृति से जुड़ाव

लीजिए जि़ंदग...

लीजिए जि़ंदगी से चार पल बस अपने लिए उधार...

मां की जान क...

मां की जान की बाज़ी होता है शिशु का जन्म...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

वापसी - गृहल...

वापसी - गृहलक्ष्मी...

 बीस साल पहले जब वह पहली बार स्कूल आया था ,तब से लेकर...

7 ऐसे योग आस...

7 ऐसे योग आसन जो...

स्ट्रेस, देर से सोना, देर से जागना, जंक फूड खाना, पौष्टिक...

संपादक की पसंद

हस्त रेखा की...

हस्त रेखा की उत्पत्ति...

जिन मनुष्यों ने हस्त विज्ञान की खोज की उसे समझा और...

अक्सर पैसे ब...

अक्सर पैसे बढ़ाने...

बाई काम पर आती रहे, काम अच्छा करे और पैसे बढ़ाने की...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription