GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

जानें आलोम-विलोम करने का तरीका और इसके फायदे..

महिमा निगम

13th June 2019

आप भले ही इस बात को गंभीरता से ना लेते हों कि योगा करने के अंगिनत फायदे होते हैं लेकिन अभी भी देर नहीं हुई है, आप चाहें तो अभी भी योग शुरू कर के ढेरो लाभ उठा सकती हैं।

जानें आलोम-विलोम करने का तरीका और इसके फायदे..

भले ही आज की युवा पीढ़ी जिम में की गई एक्सरसाइज पर विश्वास करती हो लेकिन जो फायदे योगा से मिलते वो किसी और जरिए से मिलना मुश्किल है। वैसे तो योगा के करने के बहुत से तरीके होते है लेकिन आलोम-विलोम सबसे सरल और कई सारे फायदे पहुंचाने वाला योग है। आलोम-विलोम को कई सारो सेलिब्रिटीज भी रोज करना पसंद करते हैं। तो चलिए हम आपको बताते हैं --

 

                            अनुलोम-विलोम करने का तरीका

  • अनुलोम-विलोम योग करने के लिए एक शांत जगह पर बैठ जाए।
  • फिर अपने दाएं हाथ के अंगूठे से अपनी दाएं नाक को बंद करें।
  • फिर बाई तरफ की नाक से सांस को अंदर की ओर भरें।
  • अब अंगूठे के साथ वाली उंगुलियों से बंद कर दें।
  • उसके बाद दाहिनी नाक से अंगूठे को हटा दें और दाई नाक से सांस को बाहर निकालिए।
  • फिर दाई नाक से ही सांस को 4-5 गिनती तक अंदर को भरे और दाई नाक को बंद करके बाई नाक खोलकर सांस को 8-9 की गिनती में बाहर निकाल दें।
  • इस प्राणायाम को 5 से 15 मिनट तक रोजाना करें।
  • लेकिन शुरुआत 5 मिनट से ही करें।

 अनुलोम विलोम करने के फायदे

  • इसे रोजाना करने से आपकी इम्‍यूनिटी बढ़ती है। जिससे छोटी-मोटी बीमारियां आपसे कोसों दूर रहती हैं।
  • बॉडी को डिटॉक्‍स भी करता है, जिससे चेहरे पर ग्‍लो आता है और ये बढ़ती उम्र को भी थाम लेता है।
  • हार्ट को हेल्‍दी रखता है।
  • ब्रेन और लंग्‍स को मजबूती देता है।
  • आपके रोजमर्रा के तनाव को कम करता है और इसे सुबह करने से आप पूरा दिन एनर्जी से भरपूर रहती हैं।
  • आंखों की रोशनी बढ़ाता है और ब्‍लड सर्कुलेशन को ठीक रखता है।
  • अनिद्रा की समस्‍या को दूर करता है।
  • कोल्‍ड, कफ और अस्‍थमा जैसी समस्‍याओं को काफी हद तक दूर करता है।
  • डिप्रेशन दूर करके फोकस बढ़ाता है।
  • शायद आपको इस बात पर यकीन नहीं होगा लेकिन अनुलोम विलोम करने से आपका वजन भी कम होता है।