GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

मैटरनिटी कवरेज से पाइए प्रेगनैंसी कवर

मोनिका अग्रवाल

14th June 2019

कुछ लोग बचत के लिए निवेश तो करना चाहते हैं, लेकिन हेल्थ पॉलिसी में नहीं। आजकल भागदौड़ भरी जिंदगी में स्वास्थ्य के बारे में किसी तरह का अनुमान नहीं लगाया जा सकता है। परेशानी घंटी बजाकर नहीं आती। हर चीज महंगी होती जा रही है।

मैटरनिटी कवरेज से पाइए प्रेगनैंसी कवर

पिछले 10 सालों का ग्राफ उठाकर देखें तो प्रेग्नेंसी के दौरान व बाद में होने वाले खर्चों में बेतहाशा बढ़ोतरी हुई है, इसलिए ऐसे सभी दंपतियों के लिए हेल्थ इंश्योरेंस के तहत आने वाला मैटरनिटी इंश्योरेंस संजीवनी बूटी जैसा है। अधिकतर दंपति इसे अपना रहे हैं, ताकि प्रेग्नेंसी के दौरान आने वाले बेतहाशा खर्चों से आसानी से निपटा जा सके।

क्या है मैटरनिटी कवरेज (इंश्योरेंस)

मार्केट में बहुत सी बीमा कंपनियां हैं, उनमें से अधिकांश मैटरनिटी कवरेज देती हैं, वह भी लाइफ इंश्योरेंस पैकेज में राइडर के तौर पर। कुछ कंपनियां इसके लिए अतिरिक्त प्रीमियम का भुगतान लेती हैं तो कुछ नहीं।

कौन से खर्च हैं शामिल

बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (आईआरडीए) की ओर से वर्ष 2013 में एक सर्कुलर जारी किया गया था। इस सर्कुलर में बच्चे के जन्म पर आने वाले खर्च के मानक को परिभाषित किया गया और यह मानक सभी बीमा कंपनियों के लिए तय है।

मैटरनिटी इंश्योरेंस में शामिल किए गए खर्चे।

  • कवरेज का विस्तार 1 से 90 दिन तक भी किया जा सकता है। यदि बच्चे को जन्म के समय से ही किसी भी तरह की कोई दिक्कत या फिर कोई गंभीर बीमारी हो तो उसका उपचार भी शामिल है।
  • इस इंश्योरेंस के अंतर्गत, नॉर्मल डिलीवरी हो या सिजेरियन, पूरे खर्चे को जोड़ा जाता है। यही नहीं, यदि बच्चे के जन्म के बाद भी मां को किसी प्रकार की कोई परेशानी होती है तो उसका खर्च भी दावे की रकम में जोड़ा जा सकता है।
  • अस्पताल में दाखिल होने से 30 दिन पहले और बच्चे के जन्म लेने के 60 दिन बाद तक का खर्चा मैटरनिटी इंश्योरेंस में शामिल है।
  • सबसे ज्यादा ध्यान देने वाली बात कि इस इंश्योरेंस में हॉस्पिटल या नॄसग होम के कमरे का किराया, नर्स और सर्जन का खर्च, डॉक्टर की फीस, इमरजेंसी एंबुलेंस का खर्च भी शामिल होता है।
  • साथ ही गर्भवती की सेहत या शरीर के मुताबिक गर्भ गिराने और उससे पहले का खर्च भी इसमें कवर किया गया है।

कुछ और बातें

  • यदि किसी कारणवश गर्भ ठहरने के 12 हफ्ते में या उससे पहले ही गर्भपात हो जाता है, तब उस केस में इससे जुड़े इलाज का खर्च बीमा में शामिल नहीं होगा।
  • यदि आपकी उम्र 45 साल या कम है, तभी आप मैटरनिटी इंश्योरेंस का लाभ लेने के लिए पॉलिसी खरीद सकती हैं।
  • टेस्ट ट्यूब बेबी या सेरोगेसी पद्धति से गर्भधारण करने या बच्चे को जन्म देने पर जो भी खर्चा आता है, वह बीमा कंपनी नहीं देगी। वह खर्च इस बीमा में शामिल नहीं है।

वेटिंग ऑफ पीरियड

  • वह समयावधि, जो इंश्योरेंस कंपनी ने निर्धारित की है। इसके अनुसार यदि आपको पॉलिसी लिए हुए 2 साल से कम समय हुआ है तो आप इंश्योरेंस क्लेम नहीं कर सकते।
  • इसकी 2 से 4 साल तक इंतजार की मियाद है। कुछ पॉलिसी में इसकी समय सीमा 6 साल तो कुछ कंपनियां ऐसी स्कीम भी दे रही हैं, जिसमें ये मियाद 9 महीने ही है। हालांकि ऐसी योजनाएं बहुत कम हैं। ऐसे में जरूरी है कि जल्द से जल्द मैटरनिटी इंश्योरेंस कराया जाए।

मैटरनिटी कवरेज के साथ कुछ टॉप हेल्थ इंश्योरेंस प्लान्स

1. टोटल हेल्थ प्लस

रॉयल सुंदरम जनरल इंश्योरेंस द्वारा प्रस्तावित प्लान एक पूर्ण इंश्योरेंस पैकेज है, जो 30,000 रुपये से 50,000 रुपये तक का लाभ देता है। इस प्लान में मैटरनिटी अस्पताल में भर्ती और प्रसव से पहले या बाद में होने वाली किसी भी जटिलता को कवर किया गया है। हालांकि 3 वर्ष की प्रतीक्षावधि के बाद ही आप मैटरनिटी लाभ का फायदा उठा सकते हैं।

2. ईज़ी हेल्थ फैमिली फ्लोटर

अपोलो म्यूनिक इंश्योरेंस के तीन अलग-अलग इंश्योरेंस प्लान्स प्रदान करती है- स्टैंडर्ड, विशेष और प्रीमियम। यद्यपि स्टैंडर्ड प्लान कुछ लाभों के साथ एक सामान्य इंश्योरेंस प्लान है, हालांकि, एक्सक्लूसिव और प्रीमियम  प्लान्स मैटरनिटी और नए जन्म कवरेज प्रदान करती हैं। एक्सक्लूसिव और प्रीमियम विकल्प में बच्चे की जन्म प्रक्रियाओं के पहले और बाद में 1 से 90 दिनों तक के खर्च इसमें शामिल हैं।

3. हार्टबीट फैमिली फ्लोटर

मैक्स बप्पा हेल्थ इंश्योरेंस द्वारा पेश किया गया प्लान है। यह सबसे अच्छा प्लान है, क्योंकि यह अपने सभी तीन प्रकार के प्लान- सिल्वर, गोल्ड एंड प्लैटिनम में पैदा हुए नए जन्मदाता और मैटरनिटी के लिए कवरेज प्रदान करता है। इस प्लान में आप पहले वर्ष के टीकाकरण सहित मैटरनिटी कवरेज और नवजात शिशु देखभाल प्राप्त करते हैं। सभी तीन प्रकार के उप-प्लान्स, दो प्रसव तक मैटरनिटी लाभ प्रदान करते हैं। बशर्ते पॉलिसीधारक और पति या पत्नी को दो निरंतर वर्षों के लिए पॉलिसी के तहत कवरकिया गया हो।

4. प्रोहेल्थ प्लस प्लान

सिग्ना टीटीके हेल्थ इंश्योरेंस द्वारा प्रस्तावित प्लान, मैटरनिटी, नए जन्म व्यय और टीकाकरण कवर प्रदान करता है। इस प्लान पर अधिकतम हेल्थ कवर 10 लाख रुपये है। यह प्लान मुख्य रूप से सामान्य डिलीवरी के लिए 15000 रुपये तक और सिजेरियन डिलीवरी के लिए 25000 रुपये तक की कवरेज देता है। मैटरनिटी कवरेज 4 साल के वेटिंग पीरियड के बाद उपलब्ध है। यह शिशु के लिए पहले वर्ष के टीके के खर्च भी शामिल करता है।

5. वेडिंग उपहार गर्भावस्था कवर

स्टार हेल्थ द्वारा प्रस्तावित यह प्रसूति कवर अधिकतम दो प्रसव तक कवरेज प्रदान करता है। यह प्लान सामान्य और साथ ही प्रसवपूर्व और बाद के खर्च सहित सिजेरियन प्रसव के लिए कवरेज प्रदान करता है। साथ ही प्रसव से पहले या बाद में मां के लिए किसी भी परेशानी का रिस्क कवर वेटिंग ऑफ पीरियड 3 साल देता है। साथ ही डिलीवरी के खर्च का कवरेज भी प्रदान करता है। इसमें अधिकतम हेल्थ इंश्योरेंस कवर 10 लाख रुपये है। यदि आप गर्भवती हैं और ऐसे समय में आपने मेटरनिटी कवरेज वाला इंश्योरेंस लिया है तो कंपनी आपको मेटरनिटी इंश्योरेंस कवरेज के लिए योग्य नहीं मानेगी। वे आपके आवेदन पर विचार नहीं करेंगे। 3-4 साल की वेटिंग ऑफ पीरियड होता है।

ये भी पढ़े-

पेरेन्ट्स बच्चों से कभी न कहें ऐसी बात

इन बातों का ख्याल रखकर आप बेटियों को बना सकते हैं ज्यादा कॉन्फिडेंट

बच्चों को टीवी के सामने से उठाना है तो ट्राई करें ये टिप्स

आप हमें फेसबुकट्विटरगूगल प्लस और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकती हैं।