GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

अब शिशु का डायपर चेंज करना हुआ आसान

रश्मि द्विवेदी उपाध्याय

15th June 2019

नवजात को एक दिन में कई डाइपर की जरूरत होती है। शिशु डायपर को जल्दी-जल्दी गीला भी करते हैं, इसलिए उन्हें बार-बार डायपर बदलने की जरूरत भी पड़ती है। आपने बहुत से पेरेंट्स को यह शिकायत करते पाया होगा कि उनका नवजात डायपर बदलने के दौरान बहुत परेशान करता है। कई शिशु तो डायपर चेंज करने के दौरान रोने भी लगते हैं। निसंदेह शिशुओं को ज्यादातर समय डायपर पहनाने की जरूरत होती है।

अब शिशु का डायपर चेंज करना हुआ आसान

अपने बच्चे के आराम को सुनिश्चित करने के लिए आपको डायपर बदलने के दौरान अतिरिक्त देखभाल करने की आवश्यकता है। साथ ही नवजात का शरीर बहुत ही लचीला होता है, इसलिए डायपर बदलते वक्त बहुत सावधानी बरतने की जरूरत पड़ती है। डायपर बदलने वाली एक जगह को निर्धारित कर आप उसे अपने हिसाब से तैयार कर डायपर बदलने के काम को आसान बना सकती हैं। तो चलिए, हम आपको शिशु के डायपर चेंज करने के काम को मजेदार और आसान बनाना सिखाते हैं, ताकि आप और आपके बच्चे के लिए यह समय एक मजेदार पल में बदल जाए और मां व शिशु इस काम को करने के लिए हमेशा उत्साहित रहें।

डायपर चेंजिंग टेबल

वैसे देखा जाए तो नवजात शिशु ज्यादातर अपना वक्त घर पर ही बिताते हैं। ऐसे में उनका डायपर आपको घर पर ही बार-बार बदलना पड़ता है। आपने बहुत सी मांओं को देखा होगा कि वे घर के किसी भी स्थान पर अपने शिशु का डायपर बदलने लग जाती हैं, जबकि ऐसा करना सही नहीं है। इस प्रक्रिया के दौरान नवजात शिशु को परेशानी भी होती है और यह अनहाइजैनिक भी लगता है। एक जिम्मेदार मां होने के नाते आपको अपने शिशु की सही देखभाल के साथ-साथ उसके आराम का भी पूरा ध्यान रखना चाहिए, इसलिए बेहद जरूरी है कि आप अपने शिशु के डायपर बदलने की प्रक्रिया के लिए एक उचित स्थान का चुनाव करें। आप चाहें तो ऑनलाइन डायपर चेंजिंग टेबल खरीद सकती हैं या फिर घर में मौजूद किसी टेबल को ही शिशु का डायपर बदलने के हिसाब से उसे तैयार कर सकते हैं। टेबल इतनी बड़ी होनी चाहिए कि शिशु को आसानी से उस पर लिटाया जा सके। एक बात और ध्यान देने वाली है कि टेबल समतल यानी कि एक बराबर होनी चाहिए, जिससे शिशु को डायपर बदलते वक्त आराम महसूस हो।

शांतिप्रिय हो जगह

आप अपने शिशु के लिए डायपर चेंजिंग टेबल जहां पर भी लगाएं, वह जगह एकदम शांतिप्रिय हो, ताकि शिशु और मां इस पल का अकेले में आनंद उठाएं।

टेबल में हो रैक का इंतजाम

डायपर चेंजिंग टेबल बनवाते वक्त इस बात का ख्याल रखें कि उसमें रैक्स (खाने) हों, ताकि अपने शिशु का डायपर बदलते वक्त आपको जिन चीजों की जरूरत होती है, जैसे डायपर, रुई के फोहे, लिक्विड बेबी क्लींजर, बेबी वाइह्रश्वस, बेबी टेल्कम पाउडर, बेबी रैश क्रीम आदि सामानों को उस रैक में आसानी से रख सकें। रैक्स में सामान को सुव्यस्थित तरीके से रखें, ताकि जरूरत पडऩे पर आप आसानी से उनका इस्तेमाल कर सकें।

टेबल को शिशु के हिसाब से तैयार करें

आप चाहें तो डायपर चेंजिंग टेबल को अपने बेबी के हिसाब से कलरफुल तैयार कर सकते हैं। कहने का मतलब कि अगर बेबी गर्ल है तो टेबल को पिंक कलर की एक्ससेरीज़ और बेबी बॉय है तो उसका टेबल ब्लू कलर की एक्ससेरीज़ से सजा सकती हैं। टेबल को दीवार से लगा कर रखें, ताकि आपका शिशु डायपर बदलवाते समय एकदम सुरक्षित रहे और गिरने का डर भी ना रहें। इस तरह से आप बेबी डायपर चेंजिंग टेबल को अपने शिशु की मनपसंद चीजों के साथ सजाकर उसे आकर्षक बना सकती हैं।

ना भूलें शिशु का खिलौना

नवजात शिशुओं को कलरफुल खिलौने बेहद आकर्षित करते हैं। शिशु का डायपर बदलते वक्त आप उसके मनपसंद खिलौने उसके हाथों में थमा दें, ताकि वह डायपर बदलवाने के दौरान आरामदायक महसूस करे और आपका भी काम आसान हो जाए।

डायपर टेबल पर ही डायपर बदलें

कोशिश करें कि आप जब भी अपने शिशु का डायपर बदलें तो उसी जगह पर बदलें, जो जगह आपने उसके डायपर चेंज करने के लिए तैयार की है। आप चाहें तो एक रुटीन बना लें। रोज उसी जगह पर शिशु का डायपर चेंज करने से शिशु भी उस जगह का आदी हो जाएगा।

बाहर घुमाने ले जाएं

अगर आप मैट्रो सिटीज़ में रहती हैं तो घर से बाहर होने पर आपको अपने शिशु का डायपर बदलने के लिए कोई दिक्कत नहीं होगी, क्योंकि अमुमन हर मॉल में बच्चों का डायपर बदलने के लिए एक अलग जगह होती है, जहां आप जाकर आसानी से अपने शिशु का डायपर चेंज कर सकती हैं। ऐसे में आप और आपका बच्चा भी आरामदायक महसूस करेंगे और वह आसानी से डायपर भी बदलवा लेगा। बस आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि शिशु का डायपर बदलने के दौरान आपको जिन चीजों की आवश्यकता होती हैं, वह सब सामान आपके साथ हो। आप हमेशा शिशु का डायपर बैग तैयार रखें, ताकि कभी बाहर जाने पर आप उस बैग को अपने साथ कैरी कर सकें।

ये भी पढ़े-

पेरेन्ट्स बच्चों से कभी न कहें ऐसी बात

इन बातों का ख्याल रखकर आप बेटियों को बना सकते हैं ज्यादा कॉन्फिडेंट

बच्चों को टीवी के सामने से उठाना है तो ट्राई करें ये टिप्स

आप हमें फेसबुकट्विटरगूगल प्लस और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकती हैं।