GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

ब्रेस्ट फीडिंग कब से कब तक

पूनम रावत

20th June 2019

यह आप पर निर्भर करता है कि आप कितने समय तक अपने शिशु को स्तनपान करवाना चाहती हैं। साथ ही यह इस बात पर भी निर्भर करेगा कि आपकी व्यक्तिगत परिस्थितियां कैसी हैं। अगर आपको स्तनपान कराना अच्छा लगता है तो आप शिशु को ऐसा करना जारी रख सकती हैं।

ब्रेस्ट फीडिंग कब से कब तक

यह पूरी तरह से आप पर निर्भर करता है कि आप बच्चे का स्तनपान एक साल का होने तक या फिर दो साल तक स्तनपान करवाना चाहती हैं। यह शिशु पर भी निर्भर करता है कि वह कब तक पीना चाहता है। जब तक आप दोनों तैयार न हों, इसे बंद करने की जरूरत नहीं है। फिर चाहे शिशु एक साल का हो जाए या फिर दो साल का। छह महीने का होने पर जब आपका शिशु बाहरी आहार लेना शुरू कर देता है, तब भी आप उसे स्तनपान करवाना जारी रख सकती हैं, लेकिन छह महीने के बाद केवल स्तनपान शिशु को पर्याप्त पोषण प्रदान नहीं कर पाता, जैसे कि उसे पर्याप्त मात्रा में आयरन नहीं मिल पाता है। इसी वजह से आपके शिशु को अब अन्य सेहतमंद भोजन की जरूरत भी होती है।

शुरुआती दिनों में आपका शिशु शायद दिन-रात स्तनपान कर रहा होगा, लेकिन जैसे ही वह बड़ा होने लगेगा, वह खुद ही स्तनपान करना कम कर देगा। ज्यादातर मांओं के लिए स्तनपान कराना शुरुआती कुछ हफ्ते मुश्किल लग सकता है, मगर जो मांएं इस दौरान हार नहीं मानतीं और स्तनपान कराती रहती हैं, उन्हें बाद में सफलता मिलती है। वे खुश होती हैं कि उन्होंने इसे जारी रखने का निर्णय लिया।

वर्किंग महिलाओं के लिए

बहुत सारी कामकाजी महिलाओं को मैटरनिटी लीव 6 या 9 महीने की ही मिलती है। ऐसे में जब महिलाओं को जॉब पर जाना होता है तो इस कारण वह बच्चे को स्तनपान नहीं करा पाती हैं। आप चाहें तो 6 महीने तक ही बच्चे को स्तनपान करा सकती हैं। बस बच्चे को उस दौरान आहार देना धीरे-धीरे शुरू कर दें, ताकि बच्चा भूखा न रहे। आप चाहें तो

ऐसा भी कर सकती हैं कि आजकल बाजार में स्तनदूध निकालने वाली मशीन उपलब्ध हैं। इस ब्रेस्टपंप द्वारा आप अपना दूध निकालकर सुरक्षित रख सकती हैं और बाद में बोतल से इसे पिला सकती हैं।

जब आने लगें बच्चे के दांत

बच्चों के 6 से 7 महीने के अंदर दांत आने लगते हैं। इस दौरान बच्चे निपल्स को काटना शुरू कर देते हैं। ऐसे में आप बच्चे को स्तनपान कराना धीरे-धीरे कम कर दें और इसकी बजाय बच्चों को कुछ वैकल्पिक चीजें खिलाना शुरू कर देना चाहिए।

क्या सही उम्र है स्तनपान की

डॉक्टरों का मानना है कि बच्चों को 6 महीने तक स्तनपान कराना चाहिए, लेकिन ये आप पर निर्भर करता है कि आप कब तक स्तनपान कराना चाहती हैं। सही मायने में अधिकतम उम्र डेढ़ वर्ष तक बच्चों को स्तनपान कराने का होती है।

जब होने लगे परेशानी

बहुत सी महिलाओं को कुछ समय के बाद परेशानी होने लगती है। ऐसे में मांओं को यह निर्णय लेना चाहिए कि वह बच्चे का धीरे-धीरे स्तनपान कराना बंद कर दें।

जरूरी है मां का स्वास्थ्य

अगर आपको अपने स्वास्थ्य का पता है कि आप शारीरिक रूप से स्वस्थ नहीं हैं और साथ ही दवाइयां भी ले रही हैं तो आपको ऐसे में बच्चे का स्तनपान कराना बंद कर देना चाहिए।

इन सबके बावजूद, बहुत से ऐसे कारण हैं, जिनकी वजह से मां के लिए स्तनपान करवाना मुश्किल हो सकता है। यदि आपको स्तनपान से जुड़ी परेशानी हो तो इसके लिए मदद लें, लेकिन कोई उपाय काम न आए और आपको स्तनपान बंद ही करना पड़े तो खुद को इसके लिए जिम्मेदार न मानें।

अपनी परिस्थितियों के अनुसार आपको क्या करना चाहिए, इसका निर्णय आप खुद ही ले सकती हैं। जिस तरह आपने शिशु को स्तनपान करवाने का निर्णय लिया था, उसी तरह स्तनपान बंद करवाने का निर्णय भी आपका ही निर्णय है। आप इसके लिए खुद को दोषी न मानें। यह सही है कि एक अच्छी मां होने की बजाय एक खुशहाल मां का होना अधिक महत्त्व रखता है।

ध्यान रहे कि मां का स्वास्थ्य भी महत्वपूर्ण है, इसलिए अपने आहार में दही, चीज़, पनीर, हरी पत्तेदार सब्जियां, रागी आदि शामिल करें। विटामिन डी के लिए अंडे की जर्दी, सेलमन, टूना और मैकरेल मछलियों का सेवन करें। विटामिन डी का मुख्य श्रोत सूरज ही होता है, जोकि इनसे ज्यादा प्रभावकारी होता है। आप सुबह के सूर्य का प्रकाश भी नियमित रूप से ले सकती हैं।

ये भी पढ़े-

पेरेन्ट्स बच्चों से कभी न कहें ऐसी बात

इन बातों का ख्याल रखकर आप बेटियों को बना सकते हैं ज्यादा कॉन्फिडेंट

बच्चों को टीवी के सामने से उठाना है तो ट्राई करें ये टिप्स

आप हमें फेसबुकट्विटरगूगल प्लस और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकती हैं।