GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

प्रसव के बाद धीरे-धीरे शुरू करें एक्सरसाइज़

गृहलक्ष्मी टीम

29th June 2019

प्रसव के बाद धीरे-धीरे शुरू करें एक्सरसाइज़

एक ही झटके में या तेजी से व्यायाम न करें। यह व्यायाम धीरे-धीरे करना होगा क्योंकि शरीर अभी काफी कमजोर है। कुछ कसरत करें, शिशु के साथ चहलकदमी करें व निम्नलिखित चरणों का पालन करें।

पहला चरण:- डिलीवरी के चौबीस घंटे बाद

कीगल:डिलीवरी के बाद आप आसानी से कीगल व्यायाम शुरू कर सकती हैं हालांकि दवा के असर से आप उन्हें महसूस नहीं कर पाएँगी लेकिन आपको इसका फायदा जरूर मिलेगा। शिशु को स्तनपान कराते समय इसका अभ्यास करें। दिन में चार से छह बार, 25-25 बार करें। इससे आपके पेल्विक की सेहत भी ठीक रहेगी और सेक्स का भरपूर आनंद भी मिलेगा।

खुशखबरी

व्यायाम से आपके निप्पलों पर जो पसीना आता है। उससे शिशु को दूध में एक नया स्वाद मिल सकता है इसलिए डॉक्टर की राय लेने के बाद व्यायाम करें पर स्तनों को सहारा देने वाली ब्रा पहनना न भूलें।

गहरी सांस:- बेसिक पोजीशन में लेट कर अपने पेट पर हाथ रखें ताकि आप नाक से सांस लेते समय इसे उठता हुआ महसूस कर सकें। दो-तीन गहरी सांसों से इसे शुरू करें व धीरे-धीरे बढ़ाएं। यदि ज्यादा कर लेंगी तो सिर चकराने या घबराहट के लक्षण उभर सकते हैं।

दूसरा चरण:- डिलीवरी के तीन दिन बाद

यदि सेहत इजाजत दे तो आप आसानी से हेड/शोल्डर लिफ्रट, लैग स्लाइड या पेल्विक टिल्ट कर सकती हैं। इन्हें पहले बिस्तर में करें। फिर कुशन युक्त फर्श पर करें। ये कुल मिला कर आपकी भावी सेहत के लिए भी फायदेमंद हैं। यदि व्यायाम के लिए मैट ले लेंगी तो अभी आपके काम आएगी बाद में आपका लाडला उस पर कलाबाजियां खा सकता है।

गैप भरने दें

आपको अपनी नाभि के पास पेट में एक हल्की-सी खाली जगह दिख सकती है जिसे मेडिकल भाषा में डास्सटेसिस कहते हैं। ऐसा होने पर पेट से जुड़ा कोई व्यायाम न करें। इसे भरने में एक से दो महीने का समय लग सकता है। आप बेसिक मुद्रा में लेट जाएँ व सिर ऊँचा उठाएँ व हाथों से नाभि के आसपास दबाएँ। वहाँ आपको यह गड्ढा सा बना दिखाई देगा। इसे भरने के लिए आप किसी अनुभवी व्यक्ति से पूछकर व्यायाम भी कर सकती हैं।

तीसरा चरण:- प्रसव की जांच के बाद

डॉक्टर से जांच के बाद आप अपना वर्कआउट प्रोग्राम तय कर सकती हैं। जिसमें दौड़, टहलना, साईकिल चलाना, तैराकी, पानी में कसरत, एरोबिक्स, योग, भार उठाना या फिर ऐसी ही किसी कसरत को शामिल कर सकते हैं। किसी कक्षा में भी जा सकती हैं पर ज्यादा तेजी न मचाएँ। अपने शरीर को मार्गदर्शक मान कर, उसी के हिसाब से चलें।

 

ये भी पढ़े-

प्रसव के बाद सेक्स शुरू करने के लिए आजमाए ये टिप्स

स्तनपान को गर्भ निरोधक समझने की गलती न करें

सी-सैक्शन के बाद इन चीज़ों के लिए रहें तैयार