GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

शादी के बाद लड़कियों में क्या - क्या अहम् बदलाव आते हैं

संविदा मिश्रा

16th July 2019

अपनी ज़िंदगी के कितने सावन माइके में बिताने के बाद पापा की नाजुक सी परी एक दिन शादी करके परायी हो जाती है और ससुराल चली जाती है। शादी के बाद लड़कियों में बहुत से बदलाव आते हैं.....

शादी के बाद लड़कियों में क्या - क्या अहम्  बदलाव आते हैं
 
शादी एक ऐसा रिश्ता जिसका नाम सुनकर हर एक लड़की के होंठों पर भीनी सी मुस्कान आ जाती है। एक ऐसा बंधन जो धरती नहीं बल्कि स्वर्ग में ही तय हो जाता है। ये एक ऐसा अटूट रिश्ता है जो हर लड़की की आंखों में पलता  है और जीवनसाथी के साथ अपनी कल्पना मात्र से उसका रोम- रोम खिल उठता है।  क्या आप जानते हैं कि शादी के बाद लड़कियों में बहुत से बदलाव आते हैं।  आइए  आपको बताते हैं ऐसे कौन से अहम् बदलाव लड़कियों की ज़िंदगी  में आते हैं जो उन्हें पूरी तरह से बदल देते हैं। 
अतिरिक्त ज़िम्मेदारियां 
शादी के बाद एक लड़की माइके को छोड़कर ससुराल आती है जहाँ माता - पिता की जगह सास ससुर ले लेते हैं और भी बहुत  से रिश्तों के मायने बदल जाते हैं। लड़की को सभी रिश्तों के साथ सामंजस्य बना के रखना पड़ता है। लड़कियों की प्राथमिकताएं बदल जाती है। ससुराल उनकी प्रायरिटी बन जाता है। लड़कियों में एकदम से ज़िम्मेदारियाँ बढ़ जाती हैं जिसकी वजह से वो अपना ध्यान ही नहीं दे पाती हैं और रिश्तों के साथ सामंजस्य बनाने में कई बार लड़कियां तनाव में भी आ जाती हैं। 
तुलना और कम्पटीशन से हीनभावना 
वो तुमसे ज्यादा अच्छा खाना बनती है, उसका फिगर ज्यादा अच्छा है , उसकी सैलरी तुमसे ज्यादा है जैसी बातें ससुराल में आम होती हैं। ससुराल में अन्य लोगों जेठानी, ननद आदि से तुलना लड़कियों को हीनभावना का शिकार बना देती हैं। इसके अलावा लड़कियां खुद भी आगे बढ़ने की होड़ में अन्य सदस्यों से  कम्पटीशन करने लगती हैं जैसे जेठानी के पास ज्यादा अच्छी ब्रांड के कपड़े हैं ननद की ज्वेलरी ज्यादा सुन्दर है ऐसी बातों से भी लड़कियों में हीनभावना आ जाती है।   
हार्मोनल बदलाव 
शादी के बाद जब लड़कियां जीवनसाथी के साथ फिज़िकल रिलेशन में आती हैं तो उनमे बहुत से हार्मोनल चेंजेज़  आते हैं। लड़कियों में एस्ट्रोजन जैसे हार्मोन्स का लेवल बढ़ जाता है और इस हार्मोन के ज्यादा एक्टिवेट होने की वजह से उनमे बहुत  से मानसिक और शारीरिक बदलाव देखे जाते हैं। लड़कियों में हार्मोनल चेंजेज़ की वजह से भूख ज्यादा लगती है और शरीर में फैट एकत्रित होने लगता है जिससे उनका वजन बढ़ने लगता है। 
फिगर का ध्यान न रखना 
आमतौर पर लड़कियां अपने फिगर को लेकर बहुत ज्यादा सक्रिय होती हैं।  लेकिन शादी के बाद वो अपनी हेल्थ और फिगर को लेकर लापरवाह हो जाती हैं।   ज़िम्मेदारियों के बोझ के कारण भी लड़कियां अपना ध्यान नहीं दे पाती हैं और उनका फिगर बेडौल होने लगता है। 
नींद पर असर पड़ना 
माइके में माँ की लाडली और पापा की परी लड़कियां जो शादी के पहले देर से सो कर उठती थीं और 8 -10 घंटे की नींद आम बात होती थी वही लड़कियां शादी के बाद की भागदौड़ में 5 -6  घंटे की नींद भी नहीं ले पाती हैं जिसका सीधा  असर उनकी हेल्थ पर पड़ता है।   
 
ये भी पढ़ें -
 
आप हमें फेसबुकट्विटरगूगल प्लस और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकती हैं।