GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

बच्चों में फूड पॉइजनिंग के कारण और बचाव

संविदा मिश्रा

18th October 2019

फूड पॉइजनिंग वह स्थिति है जहां जर्म्स ,बैक्टीरिया या वायरस हमारे द्वारा खाए जाने वाले भोजन के माध्यम से हमारे शरीर में प्रवेश करके हमला करते हैं। यह एक आम समस्या है। हम में से बहुत से लोग कभी न कभी इस समस्या का शिकार ज़रूर हुए होंगे। बड़ों की तुलना में बच्चों में फ़ूड पॉइजनिंग ज्यादा घातक हो सकती है इसलिए इसे नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता है।

बच्चों में फूड पॉइजनिंग के कारण और बचाव
जैसा कि हम सभी जानते हैं कि बच्चों की प्रतिरक्षा प्रणाली बड़ों की तुलना में कमज़ोर होती है।  इसलिए बच्चों में फूड पाइज़निंग बहुत खतरनाक हो सकती है । कई बार बच्चों के मामलों में, फूड पाइज़निंग बिना किसी दवा के, समय के साथ खुद ही ठीक हो जाती है। लेकिन, फिर भी फूड पॉइजनिंग  के किसी भी संकेत के पाए जाने पर आपको किसी बाल रोग विशेषज्ञ से संपर्क  करने में देर  नहीं करनी चाहिए। आइए आपको बताते हैं बच्चों में फूड पॉइजनिंग  के कुछ आम कारणों  के बारे में-

फूड पॉइजनिंग  के कारण

  • बच्चों को देने वाला भोजन ठीक से धुल के अच्छी तरह से पकाया जाना चाहिए नहीं तो ये फूड पॉइजनिंग  का कारण बन सकता है। 
  • बच्चों को खाना खिलाने से पहले हाथ ठीक से साफ़ न करना। 
  • बच्चों का दूषित पानी पी लेना  
  • बासी और बहुत देर तक खुले रखे भोजन का सेवन करना। 
  • बच्चों की कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली 
  • बच्चे को दिए जाने वाले भोजन का कच्चा, अधपका और ठंडा होना। 

फूड पॉइजनिंग के गंभीर लक्षण

  • बार-बार उल्टी होना और तेज़ पेट दर्द होना 
  • नजर का धुंधला होना
  • ज्यादा नींद आना 
  • सांस लेने में दिक्क्त 

फूड पॉइजनिंग से बचाव 

  • बच्चे को कभी भी बासी भोजन न दें 
  • कोई भी लक्षण दिखने पर डॉक्टर की सलाह लें 
  • बाहर के खाने से रोकें 
  • जिस खाने में मक्खी बैठ जाए उसे बिल्कुल न खिलाएं 

 

ये भी पढें -

आप हमें फेसबुकट्विटरगूगल प्लस और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकती हैं।

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

बच्चों की इम्यूनिटी करनी है स्ट्रांग तो हर...

default

क्यों होती है फूड पॉइजनिंग?

default

बच्चों में जर्म्स कैसे फैलते हैं ? जर्म्स...

default

बच्चों के लिए स्कूल में सुरक्षित और पौष्टिक...