GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

दिवाली हैंगओवर के बाद शरीर को ऐसे करें डिटॉक्स

प्रीती कुशवाहा

19th October 2019

दिवाली के समय लाख कोशिशों के बावजूद भी हम खुद को तले भूने खाने और मिठाइयों से दूर नहीं रख पाते हैं। थोड़ा सा ना नुकुर करते हुए भी ढेर सारी मिठाइयां और टेस्टी खाने को चट करते रहते हैं। उस समय हमें पता ही नहीं चलता कि हमनें कितनी ज्यादा कैलोरी ली है, जिसका बॉडी और हेल्थ पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है। लेकिन इस दिवाली में परेशान होने की जरूरत नहीं है। आपका जितना मन करें उतनी मिठाइयों और टेस्टी खाने के चटकारे लें, क्योंकि हम आपको कुछ ऐसे टिह्रश्वस बता रहे हैं जिसके जरिए आप अपनी बॉडी को एक बार फिर डिटॉक्स करके अपनी बॉडी के अंदर जमा हुए बेकार के टॉक्सिंस को बाहर निकल देंगे। तो चलिए जानते हैं कैसे और किन चीजों से ऐसा संभव है...

दिवाली हैंगओवर के बाद शरीर को ऐसे करें डिटॉक्स

क्या है डिटॉक्सिफिकेशन 

सबसे पहले आपका ये जानना बेहद ही जरूरी है कि आखिर ये डिटॉक्सिफिकेशन आखिर क्या है। बता दें कि डिटॉक्सीफिकेशन वह प्रक्रिया है जिसके माध्यम से हम अपने शरीर की गंदगी को साफ करते हैं। डिटॉक्स, शरीर के साथ-साथ हमारे दिमाग को भी हेल्दी और फ्रेश रखने का काम करती है। जिसके जरिए हमें मानसिक तनाव और दूसरे विकार दूर भागते हैं और नई ऊर्जा का संचार होता है।

क्यों जरूरी है डिटॉक्सिफिकेशन

कई बार ज्यादा और अनहैल्दी खाना खाने की वजह से हमारी बॉडी में विषाक् त पदार्थ काफी मात्रा में जमा हो रहे हैं। वहीं इसी वजह से बॉडी को डिटॉक्स करना बहुत जरूरी होता है, क्योंकि इसी के जरिए हम अपने शरीर में जमा हुए बेकार के पदार्थ को बाहर निकालते हैं। ये बात शायद ही आपको पता हो कि जब कभी भी हमारे शरीर में बेकार और हानिकारक पदार्थ इकट्टठा हो जाता है तो इसकी वजह से हमारे शरीर की काम करने की क्षमता कम हो जाती है। बता दें कि कोशिकाओं में इनके जमा होने से प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो सकती है, जिससे कारण जुकाम, खांसी, छींकों के लगातार बने रहने की समस्या हो जाती है। आज हम आपको कुछ ऐसे आहार के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपके शारीर से टॉक्सिन को बाहर निकालने में मदद करती है। तो चलिए जानते हैं उन आहार के बारे में...
 

पानी से करें डिटॉक्स

डिटॉक्स के लिए पानी से बेहतर कोई और जरिया नहीं है। ये न सिर्फ हमारे शरीर में पानी की कमी को पूरा करता है बल्कि शरीर को प्राकृतिक रुप से साफ रखता है। डॉक्टर्स भी हमें ज्यादा से ज्यादा पानी पीने की सलाह देते हैं। कोशिकाओं की मरम्मत से लेकर अंगों को टॉक्सिन फ्री करने तक के कामों में पानी की जरूरत होती है। इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिसीन के मुताबिक एक दिन में पुरुषों को 3 लीटर पानी और महिलाओं को 2.2 लीटर पानी पीना चाहिए।

नींबू

पीने के पानी में नींबू की कुछ बूंदें मिलाएं। ये न सिर्फ आपके पाचन को सही करता है बल्कि ये शरीर के अंदर मौजूद गंदगी को पसीने के साथ बाहर निकाल देता है। यह आपको डाइजेन को ठीक रखने में मदद करता है। 

एप्पल सिडार विनेगर

आप चाहे तो एक गिलास पानी में एक चम्मच एप्पल सिडार विनेगर मिलाकर भी पी सकते हैं। बता दें कि यह आपके शरीर को को डिटॉक्स करेगा। साथ ही यह आपके इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने में मदद करता है।

धनियां

धनियां न सिर्फ आपके खाने के स्वाद और खूबसूरती को बढ़ता है, बल्कि ये हमारे स्वास्थ्य के लिए भी काफी लाभदायक है। धनियां पत्ती शरीर में जमा लेड और मरकरी जैसे हेवी मेटल को डिटॉक्स करने में मदद करती है। आप चाहे तो इसकी चटनी बनाकर अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं।

टमाटर

नींबू की तरह ही टमाटर भी शरीर को डिटॉक्स करने में मदद करता है। तो अगर आपने भी दिवाली के मौके पर बहुत उटपटांग खाना खाया है तो इसके बाद टमाटर को डाइट में शामिल करना न भूलें। इसके लिए आप चाहें तो खुद भी और अपने परिवार को टमाटर का सूप पिला सकते हैं।

ग्रीन टी

ग्रीन टी के तमाम फायदे आप पहले से जानते होंगे। आपको बता दें यह भी एक अच्छा डिटॉक्सिफाइंग एजेंट हैं, जो आपके सिस्टम से हानिकारक तत्वों को बाहर निकालने में मदद करता है। इसके अलावा इसमें मौजूद कैटेचिन आपके लिवर को दुरुस्त रखता है। 

संतरा, नींबू और अदरक

संतरे, नींबू और अदरक के स्लाइस को पानी में डालें। संतरा शरीर में रक्त संचार को बढ़ाता है, नींबू पाचन तंत्र मजबूत बनाने के साथ ही सांसों की बदबू से राहत दिलाता है और अदरक आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है।

खीरा, रस्पबेरी और अंगूर 

खीरा, रस्पबेरी और अंगूर को पानी में डालकर एक स्वादिष्ट पेय बनाएं। खीरा आपके शरीर में पानी के स्तर को बनाए रखता है और टॉक्सिन को बाहर निकालता है। रस्पबेरी में एंटी इंफ्लेमेट्री तत्व होते हैं और अंगूर में शामिल तत्व कैंसर से बचाव करते हैं और शरीर को साफ रखते हैं।

स्ट्रॉबेरी और नींबू

स्ट्राबेरी में एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में होते है और नींबू में एंटी एजिंग तत्व होते हैं, जो बालों, नाखूनों और त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करता है। हर रोज पानी में इनकी स्लाइस डालकर पीना सेहत के साथ स्वाद भी देता है।

अनानास और मिंट

अननास में एंटी इंफेलमेट्री तत्व होते हैं, जो जोड़ों के दर्द और अर्थराइटिस से राहत दिलाते हैं और मिंट यानी पुदीना पाचन एंजाइम को सक्रिय कर पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है।

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

Weight Loss: करना है वजन कम, तो पीएं शिकंजी...

default

सेहत के साथ लें स्वाद का लुत्फ

default

अगर वजन करना है कम तो अपनाए ये कारगर उपाय...

default

करी पत्ते का इस्तेमाल स्वास्थ्य के लिए है...