GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

आयुर्वेद की संजीवनी है एलोवेरा

श्वेता राकेश

31st October 2019

एलोवेरा कहें या घृतकुमारी या घीकवार। जितने नाम उतने गुण। एलोवेरा का यह छोटा सा पौधा कई औषधीय गुणों से भरा होता है। इसके अनेकानेक फायदे हैं। आइए जानते हैं इस लेख से एलोवेरा में छिपे औषधीय गुणों को।

आयुर्वेद की संजीवनी है एलोवेरा
अगर आप घर बैठे-बैठे अपने सौंदर्य और सेहत में सुधार चाहते हैं तो एलोवेरा से बढ़कर कुछ नहीं। अपने औषधीय गुणों के कारण आज यह हर घर की शोभा बन चुका है। यह एक बेहतरीन एंटीबायोटिक और एंटीसेप्टिक के रूप 
में काम करता है। इसलिए इसे संजीवनी बूटी, चमत्कारी औषधि, घृतकुमारी, साइलेंट हीलर आदि नामों से भी 
पुकारा जाता है। एलोवेरा में हमारे शरीर की अंदरूनी सफाई करने तथा रोगाणु मुक्त रखने के गुण मौजूद हैं। यह हमारे शरीर की छोटी एवं बड़ी नस तथा नाडिय़ों की सफाई करता है। इसके अतिरिक्त एलोवेरा हमारी सेहत के लिए और भी कई प्रकार से लाभकारी है-

वजन कम करता है

व्यस्ततम जीवनशैली और बदलते खान-पान के कारण आज हर दूसरा व्यक्ति मोटापे की समस्या से ग्रस्त है। एलोवेरा का जूस मोटापा कम करने में सहायक है। इसमें एंटी-इन्फ्लेमेंटरी गुण होते हैं, जो शरीर में चर्बी बढऩे से रोकता है। इस जूस को आप आसानी से घर में बना सकते हैं। एलोवेरा का एक पत्ता लें और उसकी ऊपरी परत को छील लें। पत्ते में मौजूद पीली परत (लैटेक्स) को हटा दें और जेल को निकाल लें। दो चम्मच जेल में तीन कप पानी डालकर इसे तीन-चार मिनट मिक्सी में चला लें। जूस तैयार है। यह प्राकृतिक रूप से वजन घटाने में सहायक है।

रोग प्रतिरोधी क्षमता में वृद्घि

बदलते मौसम में शरीर में भी कई बदलाव आते हैं। शारीरिक रूप से कमजोर व्यक्ति मौसम बदलते ही बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। रोग प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाने के लिए एलोवेरा का जूस पिएं, विशेषकर सोने से पहले। एलोवेरा जेल और जूस रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते हैं।

पाचन क्रिया बनाए दुरुस्त

एलोवेरा का जूस पेट संबंधी परेशानियों से राहत प्रदान कर सकता है। इस जूस में पेट साफ करने की प्राकृतिक दवा लैक्सटिव होती है, जो पाचन क्रिया में सहायक है और पाचन तंत्र को साफ करता है। इससे कब्ज में राहत मिलती है। जूस के साथ-साथ इसे अन्य रूप में खाने से भी स्वास्थ्य पर अनुकूल असर पड़ता है। कब्ज में एलोवेरा का रस भी फायदेमंद है। सीमित मात्रा में इसका सेवन करें।

मानसिक रूप से स्वस्थ रखता है

एलोवेरा में सैकराइडस नामक तत्त्व मौजूद होता है, जो स्मरण शक्ति बेहतर बनाता है और तनाव कम करता है।

सूजन होने पर

एलोवेरा में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट तत्त्व शरीर में सूजन को कम करने में मदद करता है। इसके लिए एलोवेरा का जूस पी सकते हैं।

हड्डिïयों एवं जोड़ों के दर्द में

एलोवेरा जोड़ों के दर्द में काफी राहत देता है। इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेंटरी गुण के कारण इसका जूस हड्डिïयों के दर्द में लाभकारी है।

कोलेस्ट्रॉल घटाता है

कुछ अध्ययन के अनुसार एलोवेरा शरीर के महत्त्वपूर्ण अंगों में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम कर सकता है। अगर नियमित रूप से एलोवेरा का सेवन करें तो कोलेस्ट्रॉल की समस्या से राहत पा सकते हैं।

दिल को रखे स्वस्थ

एलोवेरा का सेवन दिल की बीमारियों से काफी हद तक सुरक्षित रख सकता है।यह शरीर में रक्त की मात्रा बढ़ाता है और रक्त प्रवाह को सुचारू बनाए रखता है। एलोवेरा उच्च रक्तचाप को सामान्य करता है, जिससे हार्ट अटैक की आशंका कम होती है।

दंत चिकित्सा में

दंत चिकित्सा में एलोवेरा बेहद उपयोगी है। एलोवेरा मुंह और मसूड़ों संबंधी समस्याओं के लिए अत्यंत लाभकारी है। इसके प्रयोग से मसूड़ों में आई सूजन और मसूड़ों से खून आना बंद होता है, खासकर पायरिया हो तो। एलोवेरा जेल में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल गुण कैविटी उत्पन्न करने वाले बैक्टीरिया के खिलाफ लड़ते हैं। एलोवेरा का उपयोग माउथ वॉश के तौर पर भी किया जा सकता है।

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

सेहत से भरपूर हैं ये 5 इंडोर प्लांट्स

default

करी पत्ते का इस्तेमाल स्वास्थ्य के लिए है...

default

होली खेलें नेचुरल रंग के संग

default

चेहरे के मुंहासों को दूर करें एलोवेरा जेल...