GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

पोटेशियम हमारे लिए अमृत है

कविता देवगन

12th November 2019

हम यह आलेख एक प्रश्नोत्तरी के साथ शुरू करते हैं। सवाल यह है- उच्च पोटेशियम वाले खाद्य पदार्थ से आपको क्या फायदा पहुंच सकता है? आपके लिए निम्नलिखित विकल्प है—

पोटेशियम हमारे लिए अमृत है
1. ये मांसपेशियों और नसों को ठीक से काम करने में मदद करते हैं।
2. शरीर में उचित इलेक्ट्रोलाइट और एसिड-बेस के संतुलन को बनाए रखते हैं।
3. उच्च रक्तचाप के जोखिम को कम करने में मदद करते हैं। 
सही उत्तर है- उक्त में से तीनों। जी हां, आपने जो पढ़ा वो सच है! पोटेशियम एक बहुत ही महत्वपूर्ण खनिज है, जिसे आपको पर्याप्त मात्रा में ग्रहण करना
चाहिए। 

पोटेशियम क्या है?

पोटेशियम, सोडियम और क्लोराइड खनिजों के इलेक्ट्रोलाइट परिवार में शामिल हैं। इन्हें
इलेक्ट्रोलाइट्स कहा जाता है क्योंकि उन्हें जब पानी में घुलाया जाता है तो बिजली का संचालन करते हैं। पोटेशियम मांसपेशियों और नसों की गतिविधि को संचालित करने में विशेष रूप से महत्वपूर्ण है। जिस आवृत्ति और डिग्री से हमारी मांसपेशियां सिकुड़ती हैं और जिस डिग्री से हमारी नसें उत्तेजित होती हैं, दोनों ही हमारे शरीर में सही मात्रा में पोटेशियम की उपस्थिति पर निर्भर करती हैं। 

इसके लिए क्या आवश्यक है?

यह सही है कि हम पोटेशियम के बिना बहुत कुछ नहीं कर सकते। हमारी नसें मांसपेशियों को बताती हैं कि कब क्या करना है और मांसपेशियों नसों से प्राप्त निर्देश के अनुसार काम करती हैं। इस कार्य में पोटेशियम की भूमिका महत्वपूर्ण है। साथ ही यह हमारे शरीर के तरल पदार्थों को संतुलित रखने में मदद करता है और हमारे रक्तचाप को नियंत्रित करता है। इसके अलावा पोटेशियम मांसपेशियों द्वारा ईंधन के रूप में उपयोग करने के लिए कार्बोहाइड्रेट के भंडारण में भी शामिल होता है। यह शरीर के उचित इलेक्ट्रोलाइट और एसिड-बेस (पीएच) संतुलन को बनाए रखने में भी महत्वपूर्ण है और मस्तिष्क को ऑक्सीजन देने में मदद करके कुशल संज्ञानात्मक (काग्निटिव) कार्य को बढ़ावा देता है।

क्या आपको पोटेशियम की कमी है?

आमतौर पर शरीर में पोटेशियम की कमी होने पर मांसपेशियों में ऐंठन और मरोड़, थकान, मांसपेशियों में कमजोरी, सजगता में कमी, दिल की अनियमित धड़कन और हड्डियों के क्षणभंगूर होने जैसी समस्याएं हो सकती है। मानसिक लक्षणों में अनिद्रा, एनोरेक्सिया और डिप्रेशन शामिल हो सकते हैं।

पोटेशियम की पूर्ति कैसे करें?

: पोटेशियम की पूर्ति करना आसान है अगर आप पांच दिन भरपूर फल और सब्जियां लेते हैं तो इसका मतलब यह है कि आप हर दिन पांच कटोरी फल और सब्जियां खाएं।
: बहुत से लोग जब पोटेशियम के बारे में सोचते हैं तो उनके दिमाग में केला आता है। यह बिल्कुल सही है क्योंकि मध्यम आकार के एक केले में 450 मिलीग्राम पोटेशियम होता है।
: लोगों को इस बात की जानकारी कम है कि पोटेशियम का एक अच्छा स्रोत आलू है। मध्यम आकार का पकाया हुआ आलू 750 मिलीग्राम पोटेशियम से भरपूर होता है।
: अन्य उत्कृष्ट स्रोतों में मशरूम, पालक, ब्रोकली, बैंगन, टमाटर, अजमोद, ककड़ी, स्ट्रॉबेरी, एवॉकाडो, खुबानी, अनार, संतरे का रस, फूलगोभी, पत्तागोभी और टूना शामिल हैं। 

सब्जियों को उबालने के बजाय स्टीम करें

पोटेशियम पानी में घुलनशील है, इसलिए यह खाना पकाने के दौरान पानी में मिल जाता है। उदाहरण के लिए- एक आलू को उबालने के लिए उपयोग किए जाने वाले पानी में यह कम से कम आधा पोटेशियम खो देता है। इस नुकसान को कम करने के लिए, आलू या सब्जियों को उबालने के बजाय स्टीम करना, माइक्रोवेव करना, हल्का तलना या यहां तक कि फ्राई करने की कोशिश करें। इसके अलावा खाना पकाने के लिए उपयोग किए जाने वाले पानी को फेंके नहीं बल्कि इससे सूप, स्ट्यू और पुलाव के लिए उपयोग करें ताकि आपके खाने में पोटेशियम की मात्रा बढ़ जाए।  

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

आप हमेशा थके हुए क्यों रहते हैं?

default

गर्मियों के सुपर कूल फ्रूट्स

default

8 पावर फूड्स टू बूस्ट योर स्टैमिना

default

अपने भोजन में बढ़ाएं पोषक तत्वों की मात्रा...

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

कम हो गया है...

कम हो गया है अब...

‘‘मैंने सुना है कि आजकल एपिसिओटॉमी का चलन नहीं रहा...

सेक्स ना करन...

सेक्स ना करने के...

यूं तो हर इंसान अपने जीवन में सेक्स ज़रूर करता है,...

संपादक की पसंद

केविनकेयर के...

केविनकेयर के "इनोवेटिव...

भारतीय एफएफसीजी ग्रुप केविनकेयर ने अभिनेता अक्षय कुमार...

इन व्यंजनों ...

इन व्यंजनों को बनाकर,...

सभी भारतीय त्यौहारों के उपवास और अनुष्ठानों के बाद...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription