घर में हो रही वास्तु की इन गलतियों के चलते होती है धन की हानि

यशोधरा वीरोदय

15th November 2019

वास्तु की कुछ गलतियों के चलते व्यक्ति को धन हानि का सामना करना पड़ सकता है।

घर में हो रही वास्तु की इन गलतियों के चलते होती है धन की हानि
हर व्यक्ति चाहता है कि उसके पास पर्याप्त धन सम्पत्ति हो ताकि वो अपना जीवन आराम व्यतीत कर सके और इसलिए धनोपार्जन के लिए लोग हर सम्भव कोशिश भी करते हैं। पर कुछ लोगों की लाख कोशिशों के बावजूद भी उनके हाथ में पैसा नहीं टिकता है। जाने-अंजाने धन हानि हो ही जाती है। असल में व्यक्ति के जीवन पर आस-पास के परिवेश का भी खासा असर पड़ता है। वास्तु की दृष्टि से देखा जाए व्यक्ति के आस-पास की नकारात्मक ऊर्जा के परिणाम स्वरूप उसके जीवन में कई सारी अप्रिय चीजे घटित होती है। जैसे कि वास्तु की कुछ गलतियों के चलते व्यक्ति को धन हानि का सामना करना पड़ सकता है। आज हम आपको इसी बारे में बताने जा रहे हैं कि वास्तु की किन गलतियों के चलते व्यक्ति को धन की हानि हो सकती है ।

दक्षिण दिशा में न रखें भगवान की मूर्ति 

घर के मंदिर में या किसी कमरे में दक्षिण दिशा में भगवान या मूर्ति भूलकर भी ना रख। दरअसल, वास्तु की दृष्टि से ऐसा करने से व्यक्ति के आय में कम आता है और वहीं उसके खर्चों में बढ़ोत्तरी होती है। 

रसोईघर में न रखें दवाईयां

कुछ लोग रसोईघर में अपनी दवाईयां रखते हैं, जबकि वास्तु के दृष्टि से ऐसा से करना धन हानि का कारण बनता है। इसलिए कभी किचन में दवाईयां ना रखें।  

स्नानघर और शौचालय के दरवाजे हमेशा बंद रखें 

घर के स्नानघर और शौचालय के दरवाजें हमेशा बंद करके रखने चाहिए। इनका खुला रखना धन हानि का कारण बनता है। 
  

घर का झाड़ू छुपा कर रखें

घर का झाड़ू हमेशा सम्भाल कर रखना चाहिए। इसे कभी बाहर या कूड़े के पास न रखें। वहीं घर के झाड़ू को बाहर या खुले में नहीं रखना चाहिए, बल्कि इसे छुपाकर घर के किसी कोने में रखें। ऐसा करने से धन की हानि से बच जाएंगे और पैसों की बचत होगी।

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

भूलकर भी शाम...

भूलकर भी शाम के वक्त ना करें ये 5 काम

नींद की समस्...

नींद की समस्या से परेशान हैं तो अपनाएं ये...

नवरात्रि में...

नवरात्रि में ये वास्तु टिप्स लाएंगे आपके...

नया साल शुरू...

नया साल शुरू होने से पहले घर से निकाल दें...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

जन-जन के प्र...

जन-जन के प्रिय तुलसीदास...

भगवान राम के नाम का ऐसा प्रताप है कि जिस व्यक्ति को...

भक्ति एवं शक...

भक्ति एवं शक्ति...

शास्त्रों में नागों के दो खास रूपों का उल्लेख मिलता...

संपादक की पसंद

अभूतपूर्व दा...

अभूतपूर्व दार्शनिक...

श्री अरविन्द एक महान दार्शनिक थे। उनका साहित्य, उनकी...

जब मॉनसून मे...

जब मॉनसून में सताए...

मॉनसून आते ही हमें डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया, जैसी...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription