GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

टॉयलेट हाइजीन मेन्टेन करने के तरीके

Samvida Mishra

27th November 2019

घर का बाथरूम और टॉयलेट घर का सबसे नमी वाला क्षेत्र होता है। यह एक ऐसा क्षेत्र माना जाता है जहां जर्म्स सबसे ज्यादा मात्रा में पनपते हैं। ई-कोलाई, साल्मोनेला जैसे बैक्टीरिया ज्यादातर टॉयलेट सीट के आसपास पाए जाते हैं । ये बैक्टीरिया टॉयलेट सीट, फर्श, फ्लश और डोर हैंडल पर भी पाए जाते हैं। इन सभी बैक्टीरिया के प्रकोप से बचने के लिए टॉयलेट की सफाई बहुत महत्वपूर्ण है।

टॉयलेट हाइजीन मेन्टेन करने के तरीके
घर की साफ़-सफाई में सबसे ज्यादा अहम् हैं बाथरूम तय टॉयलेट की सफाई। क्योंकि ये सबसे ज्यादा जर्म्स वाला क्षेत्र होता है और कई बीमारियां साफ़ सफाई न करने की वजह से फैलती हैं।  टॉयलेट हाइजीन को बनाए रखने के लिए हम यहां आपको कुछ  उपयोगी टिप्स बताने जा रहे हैं -

फर्श को साफ़ रखें और कूड़े को उठाएं

जब फर्श पर झाड़ू लगाते हैं तब  यह बाथरूम के एक कोने में शुरू करें और एक ही क्षेत्र की ओर ओवरलैपिंग स्ट्रोक में झाड़ू लगाएं । कचरा एक जगह  इकट्ठा करें और कूड़ेदान में डालें।

सभी क्षेत्रों को कीटाणुरहित करें

टॉयलेट फ्लश हैंडल, डोर नॉब्स, नल, पेपर टॉवल डिस्पेंसर, स्टॉल लॉक, लाइट स्विच और दीवार आदि सभी जगहों को कीटाणुरहित करने की कोशिश करें । किसी एंटीसेप्टिक या फ्लोर क्लीनर का इस्तेमाल फर्श को और टॉयलेट सीट को साफ़ करने के लिए करें इस प्रक्रिया को प्रतिदिन या एक दिन छोड़कर दोहराएं। विशेष रूप से टॉयलेट सीट को हाइजीनिक रखने की कोशिश करें क्योंकि सबसे ज्यादा जर्म्स इसी क्षेत्र में होते हैं। 

फ्लश करने से पहले ढक्कन को बंद करें

हर बार जब आप टॉयलेट को फ्लश करते हैं, तो बैक्टीरिया हवा में प्रक्षेपित हो जाते हैं और फिर आसपास की सभी सतहों को ढक  देते हैं। इसलिए फ्लश करने से पहले हमेशा टॉयलेट के ढक्कन को बंद कर दें जिससे बैक्टीरिया न फैलें।  ऐसा करने से शौचालय में बैक्टीरिया के प्रसार में कमी आएगी।

अपने टॉयलेट ब्रश को साफ करें

टॉयलेट ब्रश को साफ करना याद रखें जो कि हर इस्तेमाल के बाद साफ न होने पर बैक्टीरिया को फैला सकता है। डिटर्जेंट  से टॉयलेट ब्रश को अच्छी तरह से धोएं। टॉयलेट ब्रश को हर छह महीने में कम से कम एक बार जरूर  बदलना चाहिए।

टॉयलेट को वेंटिलेट करें 

बाथरूम  में नमी  के स्तर को कम करने के लिए इसमें पूरी तरह वैंटिलेशन होना आवश्यक है। सुनिश्चित कर लें कि वेंटिलेशन सिस्टम ठीक से काम कर रहा है या नहीं। फर्श को पूरी तरह से सूखने दें। ऐसा करने का सबसे तेज़ तरीका सूखे पोछे का इस्तेमाल करना है।  

टॉयलेट सीट सेनिटाइजर का उपयोग करें 

 विशेष रूप से बैक्टीरिया के प्रसार को कम करने के लिए डिज़ाइन किए गए प्रोडक्ट से नियमित तौर पर टॉयलेट सीट को साफ करें। यदि आपके घर में  बच्चे हैं, तो उनकी टॉयलेट सीट के लिए भी ऐसा ही करें। टॉयलेट सीट सेनिटाइजर स्प्रे जैसे उत्पादों का उपयोग करें जो हानिकारक कीटाणुओं और जीवाणुओं को हटाते हैं।

 

अपने हाथों को अच्छी तरह साफ़ करें 

अतिरिक्त देखभाल के साथ फ्लश और नल पर जाएं क्योंकि सबसे ज्यादा बैक्टीरिया वहीँ होते हैं । ये रोगाणुओं को लेने के लिए आदर्श स्थान हैं क्योंकि वे हमारे हाथों के सीधे संपर्क में हैं। हर बार शौचालय का उपयोग करने के बाद अपने हाथों को साबुन से अच्छी तरह से धोएं।

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

दिवाली में ऐसे करें घर की साफ़-सफाई

default

क्या आपके पैरों से भी स्मेल आती है ?

default

ऑफिस गोइंग लोग कोरोना से बचने के लिए बरतें...

default

बच्चों में जर्म्स कैसे फैलते हैं ? जर्म्स...

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

जानिए बॉलीवु...

जानिए बॉलीवुड की...

चलिए जानते हैं कुछ एक्ट्रेसेस के बारे में जिन्होंने...

चाणक्य के अन...

चाणक्य के अनुसार...

सदियों से ये सोच चली आ रही है महिलाएं शारीरिक और मानसिक...

संपादक की पसंद

रामायण: घर-घ...

रामायण: घर-घर में...

रामानंद सागर की 'रामायण' लॉकडाउन में जब दोबारा प्रसारित...

खाद्य पदार्थ...

खाद्य पदार्थ जो...

आजकल आप थके-थके रहते हैं। रोमांस करने की आपकी इच्छा...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription