GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

हर चीज़ सोशल मीडिया से नहीं सीखनी चाहिए

संविदा मिश्रा

19th December 2019

बेहद और बेपनाह जैसे धारावाहिको में अपनी बेहतरीन अदाकारी के लिए जानी जाने वाली मशहूर अदाकारा जेनिफर विंगेट इस बार सोनी टीवी पर प्रसारित होने वाले शो " बेहद 2 " में माया का किरदार निभा रही हैं। जेनिफर से हमारे मुंबई ब्यूरो चीफ प्रवीन चंद्रा की एक छोटी सी बातचीत के कुछ अंश -

हर चीज़ सोशल मीडिया से नहीं सीखनी चाहिए

बेहद 2 में अपने किरदार के बारे में बताएं 

बेहद 2 के जरिए माया वापस आ रही है। बेहद 1 प्यार की कहानी थी और बेहद 2 नफरत और बदले को बयां करता है। बेहद 2 पूरी तरह से एक नई कहानी है। इसमें माया एक एजेंडा के साथ आई है। जिन लोगों ने माया को दर्द पहुंचाया है उन्हें दर्द देना उसका मकसद है। इसका टाइटल वही है लेकिन कहानी पूरी तरह से अलग है। 

लोगों को माया के किरदार में क्या पसंद आता है 

माया का किरदार ऐसा है जो परेशानियों में किसी एक कोने में बैठकर रोने वालों में से नहीं है। वो अपनी प्रॉब्लम्स को दबाकर नहीं रखती है। अगर कोई उसको चोंट पहुंचता है तो वो बदले में उसको भी चोंट पहुंचाती है। इस किरदार को नेगेटिव नहीं कहा जा सकता क्योंकि यदि वो सब कुछ सह नहीं रही तो इसका मतलब ये नहीं है कि वो बुरी है। 

अपनी एक्टिंग और किरदार से रियल लाइफ में आने के लिए क्या करती हैं ?

मैंने कई सीरियल्स  में काम किया है इसलिए ये मेरे लिए ज्यादा मुश्किल काम नहीं है। अपने रोल से बाहर आने के लिए मुझे कुछ ज्यादा एफर्ट नहीं करने पड़ते हैं, क्योंकि एक अभिनेत्री की तरह मैंने बहुत से रोल्स अदा किये हैं। इसलिए मेरी रियल लाइफ और रील लाइफ दोनों बिल्कुल अलग हैं। 

आपको भविष्य में रोमंटिक रोल मिलेगा तो आप करना पसंद करेंगी ?

मैं हर तरह का किरदार निभाना पसंद करूंगी , मैं कॉमेडी भी करूंगी , रोमांटिक रोल भी करूंगी। दर्शकों के लिए अलग-अलग किरदार पेश करना ही मेरा काम है। मैं हर किरदार जो दर्शकों को पसंद आए उस पर काम करूंगी। 

क्या आप रियलिटी शो भी करना पसंद करेंगी ?

मुझे डांस ज्यादा अच्छा नहीं आता है इसलिए मैं डांस शोज में हिस्सा नहीं लेना चाहूंगी। लेकिन कभी मेरी रूचि रियलिटी शो में भी हुई तो वो भी कर सकती हूं। 

बेहद और बेपनाह में आपका ड्रेसिंग सेन्स पूरी तरह से अलग है ?

बेशक दोनों शो अलग हैं इसके किरदार अलग हैं इसलिए ड्रेसिंग स्टाइल भी अलग है। बेहद 1 में मैंने ज्यादातर सफ़ेद कपडे पहने हैं क्योंकि शो में किरदार की डिमांड थी व्हॉइट कलर लेकिन बेहद 2 में मैंने ब्लैक कपड़े पहने हैं क्योंकि ये पूरी तरह से बदले को दिखा रहा है। ऐसा कहा जाता है कि सभी रंगों को मिलाकर काला रंग बनता है जो नफरत को दिखाता है।   हम अपनी टीम के साथ बैठकर रोल के हिसाब से कपडे भी डिसाइड करते हैं। 

फिल्मों के बारे में क्या ख्याल है ?

मैंने एक फिल्म की थी लेकिन उसके बाद मेरे पास कोई अच्छा ऑफर नहीं आया। यदि भविष्य में कोई अच्छा ऑफर आएगा तो ज़रूर फ़िल्में करना चाहूंगी। 

फिटनेस के लिए आप क्या करती हैं ?

मैं फिटनेस फ्रीक नहीं हूं लेकिन अपने आपको फिट रखने के लिए योगा और रनिंग करती हूं। थोड़ा बहुत फिटनेस पर सभी को ध्यान जरूर देना चाहिए। 

आप अपने खाली समय में क्या करती हैं ?

खाली  समय में मैं ट्रैवलिंग करना पसंद करती हूं इसके अलावा मैं अपना ज्यादा से ज्यादा समय अपनी फैमिली के साथ बिताना पसंद करती हूं। 

आपकी मेकअप किट में क्या -क्या सामान होता है ?

अगर मैं अपने किसी फ्रेंड से मिलने जाती हूँ या फिर नॉन प्रोफेशनल मीट में जाती हूं तो मस्कारा , लिप ग्लॉस और आईब्रोज़ का मेकअप ही मेरे लिए काफी होता है क्योंकि सीरियल के दौरान ही इतना मेकअप होता है कि कभी -कभी स्किन को रिलैक्स्ड करने के लिए उस पर मेकअप अप्लाई नहीं करना चाहिए। 

 

टीवी और फिल्मों में आपको इंस्पिरेशन किससे मिलता है ?

फ़िल्मी  एक्ट्रेस में से मुझे आलिया भट्ट बहुत पसंद हैं। वो हर किरदार बखूबी निभाती हैं इसके अलावा अमिताभ बच्चन जी के व्यक्तित्व के जैसा कोई और नहीं है। वो हम सबके लिए प्रेरणा स्रोत हैं।  टीवी में मुझे श्वेता तिवारी जी से बहुत कुछ सीखने को मिला है। 

आज की युवा पीढ़ी के लिए कोई संदेश 

युवा पीढ़ी के लिए यही संदेश  देना चाहती हूं कि अपने आप पर पूरा भरोसा रखें। किसी दूसरे को देखकर उसकी तरह बनने के बजाय अपनी एक अलग पहचान बनाएं। युवा पीढ़ी को हर एक चीज़ सोशल मीडिया से नहीं सीखनी  चाहिए क्योंकि रियल और रील लाइफ में बहुत अंतर है। स्वयं पर विश्वास रखना युवाओं के लिए बहुत ज़रूरी है। 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

अपनी बातें कहने के लिए मुझे रूफटॉप पर जाकर...

default

वीरता और बुद्धिमत्ता की पहचान

default

मुझे अनुशासन पसंद है : रिद्धिमा पंडित

default

विद्या बालन का साड़ी लव, पसंद है ऐसी साड़ियां...

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

कम हो गया है...

कम हो गया है अब...

‘‘मैंने सुना है कि आजकल एपिसिओटॉमी का चलन नहीं रहा...

सेक्स ना करन...

सेक्स ना करने के...

यूं तो हर इंसान अपने जीवन में सेक्स ज़रूर करता है,...

संपादक की पसंद

पूजा में बां...

पूजा में बांधा जाने...

किसी भी पूजा की शुरुआत या समाप्ति के बाद या फिर किसी...

इन हाथों में...

इन हाथों में लिख...

हर दुल्हन अपने होने वाले पति का नाम लिखवाना पसंद करती...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription