GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

सर्दियों के लिए रामबाण है धूप, मिलते हैं ये लाभ

प्रिंस भान

11th January 2020

सूर्य की ऊर्जा हमारे जीवन के विभिन्न रोगों को झट से दूर कर सकती है। धूप हमारे शरीर में गर्माहट के साथ और भी कई सकारात्मक बदलाव लाती है।

सर्दियों के लिए रामबाण है धूप, मिलते हैं ये लाभ
धूप... कमाल का शब्द है न, पढ़ते ही शरीर में गर्माहट आ जाती है, और इस सर्दी में तो मानो पूरा चित्त ही धूप का नाम सुनकर ताजा हो जाता है। सूर्य अग्नि का प्रतीक है। वही अग्नि जो मानव प्रजाति की सबसे पुरानी मित्र है, जिसने उसके जीवन को नए अर्थ, नए आयाम दिए। जरा सोचकर देखिए कि सूर्य के बिना धरती कैसी होती, कोई वनस्पति न होती, पशु घातक बीमारियों से मारे जाते और शायद इंसान भी ज्यादा दिनों तक जीवित नहीं रह पाता। लेकिन अच्छी बात यह है कि सूर्य में अभी बहुत ऊर्जा है जो कि लाखों सालों के लिए मानव जाति का उद्धार करने के लिए काफी है।मगर आज जमाना केबिन और ऑफिस का हो चला है, और बच्चे भी बाहर मैदान में खेलने के बजाय मोबाइल स्क्रीन में ही घुसे रहने लगे हैं, और जब सूर्योदय के समय उठना एक साहसिक काम माना जाने लगा है तब हमें यह जरूर ध्यान रखना चाहिए कि क्या हम सूर्य की इस ऊर्जा का भरपूर लाभ उठा पा रहे हैं? अगर आप का जवाब ना है तो यह बेहद चिंता की बात है, क्योंकि धूप से दूर रहकर आप अपने शरीर की आयु बढ़ा सकने की सम्भावना को कम कर रहे हैं। आदिमानव के काल से ही जब मनुष्य के बदन पर कपड़े नहीं हुआ करते थे तब उसके पूरे शरीर पर सूर्य की रोशनी पड़ती थी जिसके कारण वह बलवान और निरोगी रहता था। जैसे-जैसे समय बदला हमने अपने शरीर पर अधिक कपड़े पहनने शुरू किए और नतीजा यह हुआ कि लोग विभिन्न प्रकार के संक्रमणों से, जोड़ों के दर्द से ग्रसित होने लगे। और आज तो हद यह हो गई है कि लोग अपने दफ्तरों में सुबह घुसते हैं और शाम को सूरज डूबने के बाद निकलते हैं, दोपहर में भी बाहर निकलने पर धूप से बचने के तरीके ढूंढते हैं। यदि आप को लगता है कि धूप केवल आपको गर्म रखती है तो आप उसके अन्य कई फायदों से अंजान हैं। चलिए हम बताते हैं इसके लाभ-

रक्त संचारण नियंत्रित करे- 

आप अपने आस-पास देखें। हर दूसरा व्यक्ति यहां तक कि 20-25 साल के युवा भी आज के तनावग्रस्त वातावरण में रक्तचाप की बीमारी से परेशान हैं जिससे छुटकारा पाने के लिए वो दवाइयां खा रहे हैं, योग कर रहे हैं। हजारों रूपये महीने में खर्च करने पड़ रहे हैं, और यह केवल इसलिए 
क्योंकि आप धूप से दूर हैं। वरना दिन में 15 से 20 मिनट तक धूप का सेवन आपके रक्तचाप को किसी भी दवा से बेहतर नियंत्रित कर सकता है। शरीर में गर्मी आने पर रक्त अपने आप धमनियों में 
सुचारू रूप से बहने लगता है, जिससे आप को उच्च या निम्न रक्त चाप की शिकायत नहीं रहती है।

डिप्रेशन से निपटने में कारगर-

विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में सबसे ज्यादा तनावग्रस्त लोग भारत में हैं। आपको बता दें कि सूर्य की धूप इस तनाव को दूर करने का सबसे सस्ता और सरल उपाय है। दरअसल सूरज की रोशनी के कारण मानव शरीर में सेरोटोनिन और एन्डोमोर्फिन हार्मोंस पैदा होते हैं, जिन्हें 'हैप्पी हार्मोंसÓ भी कहा जाता है। यह आपके मस्तिष्क में रक्त का बेहतर संचार सुनिश्चित करते हैं जिससे आपका चित्त अवसाद मुक्त होता है।नींद न आने की समस्या में भी कारगर- रात को दो बजे तक मोबाइल चलाते हुए जागना और स्कूल,कॉलेज, दफ्तर के लिए सुबह 7 बजे घर से भागना। ऐसे में नींद पूरी न होना तो मानो बीमारियों के लिए 'बुलंद दरवाजा है जहां से वो बड़े आराम से एक-एक करके दाखिल होती हैं। धूप इसका भी इलाज है, क्योंकि धूप ही हमारे शरीर में 'मेलाटोनिनÓ नामक हार्मोन को पैदा करती है अथवा उसकी मात्रा में वृद्धि करती है। धूप के कारण शरीर में बनने वाला यही हार्मोन आरामदायक या फिर चैन की नींद का मुख्य कारण है।

हड्डियां बनें मजबूत-

बचपन से ही मां-बाप-मास्टर जी सबने धमकाते हुए कहा कि दूध पियो और हड्डियां मजबूत बनाओ, और हमने पी भी लिया। लेकिन हड्डियों को मजबूत करने वाले 'विटामिन डीÓ का सबसे बड़ा स्रोत धूप ही है। इसीलिए तो बड़े-बुजुर्ग कहते हैं कि धूप सेंका करो, जिसे आजकल 'सनबाथÓ भी कहा जाता है क्योंकि धूप के सेवन से ही आपके शरीर में विभिन्न जोड़ों पर मौजूद हड्डियों को मजबूती मिलती है। इसीलिए नन्हें बच्चों को अकसर धूप में लेटाकर उनके बदन की तेल से मालिश की जाती है। और यही प्रक्रिया वयस्कों के लिए भी उतनी ही महत्त्वपूर्ण है, इसीलिए नियमित रूप से अपने बदन को धूप सेंकने का मौका अवश्य दें।फंगल इंफेक्शन जड़ से खत्म- आपने अकसर सुना होगा कि फलां राज्य में महामारी फैल गयी, संक्रमण फैल गया। लेकिन ऐसे प्रदेश में जहां धूप बारहों मास पड़ती हो मुश्किल से ही कोई महामारी पनप पाती है क्योंकि धूप फंगल संक्रमण का सबसे बड़ा विनाशक है, यह केवल उसके संचार ही नहीं बल्कि उसके मूल को भी खत्म कर देता है। इसीलिए अगर आपके शरीर में भी यदि त्वचा सम्बंधी कोई समस्या है तो ज़्यादा से ज़्यादा धूप जरूर लें। डैंड्रफ से लेकर एलर्जी तक, धूप एक बाण से कई बीमारियों का इलाज करने की क्षमता रखती है।

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

मौसमी एलर्जी से ऐसे पाएं निजात

default

सर्दी के मौसम में एलर्जी से बचना है तो अपनाएं...

default

खुलकर हंसिए और तनाव से बचिए

default

सर्दी के मौसम में चाहते हैं सेहतमंद रहना...

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

कम हो गया है...

कम हो गया है अब...

‘‘मैंने सुना है कि आजकल एपिसिओटॉमी का चलन नहीं रहा...

सेक्स ना करन...

सेक्स ना करने के...

यूं तो हर इंसान अपने जीवन में सेक्स ज़रूर करता है,...

संपादक की पसंद

पूजा में बां...

पूजा में बांधा जाने...

किसी भी पूजा की शुरुआत या समाप्ति के बाद या फिर किसी...

इन हाथों में...

इन हाथों में लिख...

हर दुल्हन अपने होने वाले पति का नाम लिखवाना पसंद करती...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription