GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

कुछ यूं बदलें अपना आने वाला कल...

गीतांजली

6th February 2020

प्यार के वैसे तो कई अनगिनत रूप हैं, लेकिन दूसरों से प्यार करने से पहले सबसे जरूरी है खुद से प्यार करना, खुद की परवाह करना। खुद से खुद के लिए की गई यह पहल हमें बनाती है औरों से जुदा।

कुछ यूं बदलें अपना आने वाला कल...
कहते हैं कि इंसान ही इस धरा पर वह शक्ति है जो कुछ भी बदल सकता है, कुछ भी कर सकता है। पर इस बदलाव को अपने अंदर लाने के लिए सबसे जरूरी है खुद से खुद का प्यार। इसके बिना हर बात बेमानी है। जब तक आप खुद से प्यार नहीं कर सकते तब तक आप दूसरों को प्यार दे ही नहीं सकते। अपने जीवन में हर छोटे से छोटे बदलाव के लिए खुद का खुद के साथ एक प्यार भरा रिश्ता होना बहुत जरूरी है। पर क्या वाकई में खुद से प्यार करना इतना आसान है? कहने और सोचने में तो यह बिल्कुल आसान प्रतीत होता है पर सच तो यह है कि आजकल की इस भाग-दौड़ भरी जिंदगी में यह सब इतना भी आसान नहीं। कह सकते हैं कि हमारी रोजमर्रा की व्यस्तता ने कहीं ना कहीं हमें खुद से ही दूर कर दिया है। जरूरत है वापस से उन पलों को जीने की। जरूरत है एक बार फिर खुद से खुद के रिश्तों को सही देखभाल कर संवारने की। 

1.) रखें अपनी सेहत का ख्याल-

एक स्वस्थ शरीर हमें हर वो काम करने की ऊर्जा देता है, जिसे हम दिल से करना चाहते हैं। आपका शरीर एक मंदिर के समान है आप इसकी जितनी देखभाल और पूजा करेंगे ये उतना ही फलदायी होगा। अपनी रोज की जरूरतों में अपनी सेहत को कभी नजरअंदाज ना करें। अच्छा खायें, भरपूरनींद लें और सेहत के साथ वाकई कोई समझौता ना करें।

2.) निकलें अपने कंफर्ट जोन से-

यकीन मानिए अपने कंफर्ट जोन से बाहर निकल आपको सबसे ज्यादा खुशी होगी। हर वो काम जिसके बारे में आपको यह लगता है कि आप नहीं कर सकते अगर वो काम आपने कर लिया तो इससे ज्यादा खुशी आपको कभी किसी चीज से मिल ही नहीं सकती है। आपका आत्मविश्वास भी निसंदेह ही इससे बढ़ता है।

3.) करें अपने काम से प्यार-

अगर आप अपने काम से प्यार करते हैं तो यह आपको अंदर से काफी मजबूत बनाता है। आत्मविश्वास की एक अलग ही चमक पैदा होती है आपके अंदर। आप जीवन से संतुष्ट रहते हैं। अपने आस-पास के लोगों के प्रति भी काफी सहयोगात्मक रवैया अपनाने लगते हैं।

4.) सीखें ना कहना

हम अक्सर अपने दोस्तों, रिश्तेदारों को ना नहीं कह पाते जिसका जायज, नाजायज हर संभव फायदा वे हमसे उठाते हैं। अगर आपने शालीनता से ना कहना सीख लिया तो यकीन मानिए आप बहुत ही अच्छा महसूस करेंगे और अपने आपको खुश भी रख पाएंगे। मदद करनी अच्छी बात है पर मदद करने के नाम पर हर वक्त आपके आस-पास के लोग ही अपका इस्तेमाल करें यह सही नहीं।

5.) रहें हर वक्त प्रेरित-

खुद को हर वक्त प्रेरित रखना इतना आसान नहीं। जिंदगी में बहुत बार ऐसे पल आते हैं जब हमें लगता है कि हम खुद से ही हार रहे हैं। सारी चीजें हमारे कंट्रोल से बाहर जा रही हैं यह सोच हम दुखी होने लगते हैं। ऐसे समय में खुद को खुद का साथी बना बस इतना सोचें कि वक्त बुरा है आप नहीं। ये पल भी बीत जाएगा बस जो जरूरी है वह यह कि आप हिम्मत ना हारें। खुद से आप यह कहें कि आप इस बुरे वक्त को भी अच्छे से संभाल लेंगे क्योंकि आप के अंदर बुरी से बुरी परिस्थितयों को झेलने की क्षमता है।

6.) नकारात्मक लोगों से दूर रहें-

लोग क्या कहेंगे इस एक वाक्य ने हमें हमेशा कुछ अच्छा करने से रोका है। अगर आप सचमुच अपनी जिंदगी में कुछ अच्छा करना चाहते हैं तो सबसे पहले निगेटिव सोच के लोगों के बीच से खुद को दूर कर लें। जो
लोग हर वक्त आपको नीचा दिखाने की कोशिश में लगे रहते हैं उनकी बातों की परवाह किये बिना आप अपने काम में लगे रहें। अंत में आपकी मेहनत ही उनके निगेटिव कमेंट्स का जवाब होगा।

8.) ना करें औरों से तुलना-

अपनी तुलना हमेशा खुद से करें। हर किसी की एक अपनी खासयित होती है। किसी की आवाज अच्छी होती है, कोई अच्छा लिख-पढ़ लेता है, कोई अच्छी पेंङ्क्षटग करता है। हर किसी में कोई ना कोई गुण और अवगुण होते ही हैं। कोई किसी चीज में अच्छा है तो कोई किसी में। हर किसी की एक अपनी शख्सियत है तो ऐसे में तुलना करने का कोई मतलब नहीं। तुलना अगर करनी ही है तो हमें अपने बीते कल की आज से करनी चाहिए। एक सकारात्मक ऊर्जा के साथ आगे बढऩे में ये आपकी मदद करेगा।

9.) एन्जॉय करें खुद की कंपनी-

अपने आपके साथ वक्त बिताना सबसे ज्यादा जरूरी है, जिसे हम अक्सर ही नजरअंदाज कर जाते हैं। अगर हम सचमुच खुश रहना चाहते हैं तो खुद के लिए वक्त जरूर निकालें। इस खाली वक्त में आप खुद के बारे में सोच पाते हैं। आप यह आंकलन कर पाते हैं कि आप अपनी जिंदगी में क्या कर रहे हैं, कहां तक पहुंचे हैं और अभी कहां तक जाना है। इस दौरान आप खुद को ज्यादा अच्छी तरह से समझ पाते हैं।

10.) भूलें कल की बात-

आप सचमुच खुद से प्यार करना चाहते हैं तो जो कुछ भी आपके साथ बीते दिनों में बुरा हुआ हो उसे भूलकर आगे बढऩे की कोशिश करें। क्योंकि जिंदगी पुरानी बातों को याद कर रोने का नहीं बल्कि नई यादें पैदा कर जीने का नाम है।

11.) छोटी-छोटी बातों में ढूढ़ें खुशियां-

कहते हैं खुशियां किसी की मोहताज नहीं होतीं। खुशियों को पाने का कोई निश्चित माध्यम नहीं होता। ये हमारे चारों तरफ बिखरी पड़ी हैं, जरूरत है इसे ढूंढऩे की और महसूस करने की। किसी के चेहरे पर मुस्कुराहट लाकर, किसी जरूरतमंद की मदद कर, अपने चारों ओर जो भी आपको मिला है उसकी प्रशंसा कर, ईश्वर को इसका धन्यवाद ज्ञापित कर, बच्चों की मासूम हरकतों पर ऐसे अनगिन पल हैं हमारी जिंदगी में जिसे नजरअंदाज कर हम अपने आस-पास की खुशियों से वंचित रह जाते हैं।

12.) मुस्कुराहटों भरी हो सुबह-

अपने हर दिन की शुरुआत एक प्यार भरी स्माइल से करें। आइने में हर रोज खुद को देख दोहराएं ये बातें कि आप दुनिया के सबसे बेहतरीन इंसान हैं, सबसे खूबसूरत सबसे अहलदा हैं। आप हर वो काम कर सकते हैं जो आप सोचते हैं। यकीन मानिए दिन की ऐसी शुरुआत आपको पूरे दिन तरो-ताजा रखेगी और आपके चेहरे की मुस्कुराहट दूसरों को भी खुश कर देगी।
             बीते कल में जो भी बुरा हुआ हो उसे भूलने का सबसे बेहतरीन जरिया है कि हम आज में जीना शुरू कर दें। अपने बीते कल का बुरा साया अपने आज की परछाइयों में ना शामिल करें।

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

कैसा हो आपका न्यू ईयर रेज्योलुशन

default

कम बजट में कैसे करें डेटिंग प्लान

default

फोन सेक्स को बनाए खास

default

जिंदगी की लगाम अपने हाथ में लें

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

कम हो गया है...

कम हो गया है अब...

‘‘मैंने सुना है कि आजकल एपिसिओटॉमी का चलन नहीं रहा...

सेक्स ना करन...

सेक्स ना करने के...

यूं तो हर इंसान अपने जीवन में सेक्स ज़रूर करता है,...

संपादक की पसंद

केविनकेयर के...

केविनकेयर के "इनोवेटिव...

भारतीय एफएफसीजी ग्रुप केविनकेयर ने अभिनेता अक्षय कुमार...

इन व्यंजनों ...

इन व्यंजनों को बनाकर,...

सभी भारतीय त्यौहारों के उपवास और अनुष्ठानों के बाद...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription