GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

भारतीय रसोई की शान बढ़ाते ये 7 मसाले

संविदा मिश्रा

3rd April 2020

खाने में स्वाद का तड़का लगाने के लिए कई तरह के मसालों का प्रयोग किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि गरम मसालों के प्रयोग के बिना खाने का स्वाद अधूरा है। वास्तविकता ये है कि यही मसाले किसी भी खाने को खाने योग्य अर्थात स्वाद और सुगंध से भरपूर बनाते हैं।

भारतीय रसोई की शान बढ़ाते ये 7 मसाले

आमतौर पर इन मसालों का उपयोग इनका पाउडर बनाकर सब्जी, दाल या फिर पुलाव बनाने में किया जाता है लेकिन बहुत से गरम मसालों का उपयोग खड़े मसालों की तरह भी किया जाता है जो कि खाने के स्वाद में कई गुना तक वृद्धि करते हैं। । इस आर्टिकल में हम आपको ऐसे ही कुछ मसालों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका इस्तेमाल खाने का स्वाद बढ़ाता है साथ ही ये भी बताएंगे कि इन मसालों का उपयोग किस तरह से किया जाए कि आपका खाना और ज्यादा लज़ीज बन जाए।

इलायची

खाना पकाने में दो तरह  की इलायची का उपयोग किया जाता है जिसमें एक  है छोटी यानि हरा इलायची और दूसरी काली यानि कि बड़ी इलायची। हरी इलायची अधिक सामान्य किस्म है, जिसका इस्तेमाल मसाले से लेकर लस्सी और अन्य  भारतीय मिठाइयों का स्वाद बढ़ाने में किया जाता है। इस इलायची का  स्वाद हल्का मीठा होता है। हरी इलायची को सब्जी का मसाला तैयार करते समय मिक्सी में पूरी तरह से ब्लेंड किया जा सकता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए इसके ऊपर के छिलके को हटाकर अंदर के बीजों को निकालकर इस्तेमाल में लाया जा सकता है। वहीं आप कुछ जगह इसका छिलके सहित भी इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे सब्जी का मसाला बनाते समय या बिरयानी बनाते समय। खीर या हलवे में इलायची पाउडर मिलाने से ये बहुत ज्यादा स्वादिष्ट हो जाती है।  दूसरी ओर, काली इलायची बहुत ज्यादा स्ट्रांग होती है।  इसका इस्तेमाल  बहुत सावधानी से किया जाता है। छोले उबालते समय या फिर पुलाव बनाते समय इसका इस्तेमाल करने से छोले का स्वाद बढ़ जाता है। ध्यान रखें कि खाना परोसते समय ये इलायची खाने से हटा दें क्योंकि इसका छिलका बहुत कठोर होता है। 

लौंग

आमतौर पर लौंग का इस्तेमाल  भारतीय खाना पकाने में किया जाता है। किसी भी भोजन में लौंग का इस्तेमाल भोजन के स्वाद को तो बढ़ाता ही है साथ ही इसका तड़का खाने को खुशबूदार भी बनाता है।  लौंग को पीसकर, या साबुत खाद्य पदार्थ में डालने से, वह सुगंधमय हो जाता है, अत: भिन्न भिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थों को सुवासित करने के लिए इसका उपयोग मसाले की तरह किया जाता है। यदि आप पनीर ,छोले, चाप  या फिर कोई और ग्रेवी वाली स्पाइसी सब्जी बना रही हैं तो लौंग का पाउडर या फिर साबुत लौंग मसाले में पीसकर मिला सकती हैं इसके अलावा बिरयानी या पुलाव बनाते समय भी लौंग का तड़का  खाने का स्वाद बढ़ाता है। यही नहीं कई तरह की फलाहारी रेसिपीज़ में भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है जैसे आलू फ्राई करने में। कुछ मिठाइयों जैसे लौंग लता बनाने में भी इस छोटी से मसाले की बहुत ज्यादा उपयोगिता है। 

दालचीनी

दालचीनी  भारतीय रसोई का एक बेहद दिलचस्प मसाला है। दालचीनी का इस्तेमाल भी पाउडर या खड़े मसाले के तौर पर किया जाता है। यह मसाला देखने में एक खुरदरी पेड़ की छाल जैसा होता है। दालचीनी का इस्तेमाल भोजन में कई तरह से किया जा सकता है जैसे कि आप एक चुटकी दालचीनी डालकर अपने गर्म पानी को चाय के रूप में बदल सकती हैं। इसके पाउडर को  कुछ बेक्ड सब्जियों या फलों में डालकर इनका स्वाद बढ़ा सकती हैं । आप दालचीनी का उपयोग सेब और शकरकंद में अधिक कर सकती  हैं। इसे हलवा या अन्य डेसर्ट में भी दाल सकती हैं । अपने पसंदीदा करी में इसे मिलाकर करी का स्वाद बढ़ा सकती हैं। अपने पसंदीदा पुलाव, बिरयानी या फिर दलीय में इसका तड़का लगा सकती हैं। इसके तड़के से आने वाली भीनी सुगंध खाने के स्वाद को बढ़ा देती है।

काली मिर्च

काली मिर्च का इस्तेमाल भी कई तरह से खाने का स्वाद बढ़ाने में किया जाता है। इसका स्वाद तीखा और उत्तेजक होता है जो खाने के स्वाद में बढ़ोत्तरी कर देता है।  इसके पाउडर का तो कभी इसे साबुत रूप से इस्तेमाल में लाया जाता है। काली मिर्च का इस्तेमाल भी चाय में किया जाता है जिससे चाय स्वादिष्ट होने के साथ ज्यादा फायदेमंद हो जाती है। इसके अलावा किसी भी तरह के खाने में काली मिर्च का तड़का और ज्यादा स्वादिष्ट बना देता हैं। सलाद में ऊपर से काली मिर्च पाउडर स्प्रिंकल करने से सलाद स्वादिष्ट और फायदेमंद हो जाती है। इसके अलावा पास्ता या मैकरोनी  में भी काली मिर्च पाउडर डालकर इसे स्वादिष्ट बना सकते हैं।

जीरा

भारतीय व्यंजनों में एक विशिष्ट स्मोकी स्वाद  जोड़ने के लिए जीरे का उपयोग अक्सर साबुत  मसाले के रूप में किया जाता है।  इसकी पहचान इसके विशिष्ट भूरे रंग के बीज और तीव्र सुगंध द्वारा की जा सकती है। यह कभी-कभी सौंफ़ और अजवायन के बीज की तरह भी भ्रमित कर  सकता है लेकिन इसका स्वाद पूरी तरह से अलग होता है। दाल में तड़का लगाने में विशेष तौर पर इसका इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा सलाद या फिर दही  और छांछ में भुना और पिसा हुआ जीरा मिलाकर इसके स्वाद को तो बढ़ाया ही  जा सकता है साथ ही इसे सेहतमंद भी बनाया जा  सकता है। किसी भी सब्जी ,दाल या चावल में जीरे का तड़का खाने के स्वाद और सुगंध को बढ़ा देता है।

धनिया

भारतीय मसाले की श्रंखला में धनिया सबसे ज्यादा प्रसिद्द है। यह दुनिया के सबसे पुराने मसालों में से एक है और इसकी विशेषता इसके सुनहरे-पीले रंग और धीरे से उखड़ी हुई बनावट है। धनिया के  बीज बहुत ज्यादा  सुगंधित और उपयोगी होते हैं। साबुत धनिया का उपयोग कई मसाले के मिश्रणों के लिए आधार के रूप में किया जाता है, और यह भारतीय व्यंजनों में सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाले मसाले में से एक है। जीरे की तरह, इसे सूखा और भुना हुआ प्रयोग  करने से भोजन के  स्वाद में बढ़ोत्तरी होती है। धनिया पाउडर का इस्तेमाल बहुत सी सब्जियों में किया जाता है या फिर यूँ कहा जाए कि धनिया पाउडर के  सब्जियों का स्वाद ही अधूरा है। घर पर  सांभर मसाला या छोले मसाला बनाने के लिए विशेष तौर पर भुनी हुई धनिया के पाउडर का इस्तेमाल किया जाता है।

जायफल और जावित्री

जायफल या मिरिस्टिका एक सदाबहार वृक्ष है  इससे दो मसाले प्राप्त होते हैं - जायफल तथा जावित्री।  मिरिस्टका की अनेक जातियाँ हैं परंतु व्यापारिक जायफल अधिकांश मिरिस्टिका फ्रैग्रैंस से ही प्राप्त होता है। मिरिस्टिका वृक्ष के बीज को जायफल कहते हैं। यह बीज चारों ओर से बीजोपांग से  ढका  रहता है। जायफल और जावित्री ये दोनों ही मसाले  भारतीय खाना पकाने में बहुत ज्यादा उपयोग किए जाते हैं। जावित्री को खाने की सुगंध बढ़ाने का सबसे अच्छा स्रोत माना  जाता है। वहीं जब जायफल जब सूख जाता है, सुनहरा रंग  का  हो जाता है और गर्म स्वाद के संकेत देता  है। एक बार जायफल सूख जाने के बाद, यह  बहुत अधिक समय तक चलता है, इसलिए इसे पूरी तरह से अपने व्यंजनों में आवश्यकतानुसार मिला देना  सबसे अच्छा होता  है। 

 

ये भी पढ़ें-

आपके आहार के ये टॉप-5 मसाले करेंगे चुटकियों में आपका वजन कम...ऐसे करें इस्तेमाल

आपके किचन में मौजूद हैं आपको सेहतमंद बनाने वाले मसाले

आप हमें फेसबुकट्विटरगूगल प्लस और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकती हैं।

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

आपके किचन में मौजूद हैं आपको सेहतमंद बनाने...

default

फ्लेवर्ड चाय के साथ लें ठंड का मजा

default

स्किन से जुड़ी हर समस्या का समाधान है किचन...

default

चोंट के निशान ठीक करने के घरेलू नुस्खे

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

अच्छे शारीरि...

अच्छे शारीरिक, मानसिक...

इलाज के लिए हर तरह के माध्यम के बाद अब लोग हीलिंग थेरेपी...

आसान बजट पर ...

आसान बजट पर पूरा...

आपकी शादी अगले कुछ दिनों में होने वाली है। आपने इसके...

संपादक की पसंद

आध्यात्म ऐसे...

आध्यात्म ऐसे रखेगा...

आध्यात्म को कई सारी दिक्कतों का हल माना जाता है। ये...

बच्चों को हा...

बच्चों को हाइड्रेटेड...

बच्चों के लिए गर्मी का मौसम डिहाइड्रेशन का कारण बन...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription