GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

क्लॉसिक कॉमेडी सिरियल देख भाई देख को अपने बच्चों संग नहीं देखना चाहती यह अभिनेत्री..!

गीतांजली शर्मा

4th April 2020

1993 में आई क्लॉसिक कॉमेडी सिरियल "देख भाई देख" किसे याद नहीं। उन दिनों हर कोई इस सीरियल का दीवाना हुआ करता था।

क्लॉसिक कॉमेडी सिरियल देख भाई देख को अपने बच्चों संग नहीं देखना चाहती यह अभिनेत्री..!

 उर्वशी ढ़ोलकिया टेलीविजन का एक जाना-माना और मशहूर चेहरा हैं। वो भी इस सीरियल का हिस्सा रह चुकी हैं।

नहीं देखना चाहती इस सीरियल को अपने बच्चों संग-

उनका यह कहना है कि वो इस सीरियल को अपने बच्चों संग नहीं देखना चाहेंगी। हालांकि उनके बच्चों ने यूटब पर इसके कुछ एपिसोड्स देखे हैं पर अगर यह धारावाहिक टेलीविजन पर फिर टेलिकास्ट होता है तो वह इसे नहीं देखेंगी क्योंकि इसे देख शायद ही वह अपनी हंसी रोक पाएं।

याद किए पुराने लम्हें-

उन्होनें एक इंटरव्यू में यह कहा कि उन दिनों का यह एक बेहद ही नायाब सीरियल हुआ करता था। इस धारावाहिक में एक से बढ़कर एक उम्दा अभिनेताओं ने काम किया है। शेखर सुमन, भावना बलसावर, नवीन निश्चल, फरीदा जलाल, देवेन भोजानी और अमर उपाध्याय जैसे सरीखे एक्टर्स ने इस सीरियल में काम कर खूब नाम कमाया है।

रखती हैं इस सीरियल के रीमेक की इच्छा-

उनका कहना है कि आजकल रीमेक और सीरियल में लीप जैसे एपिसोड्स बनाना कोई बड़ी बात नहीं। ऐसे में इस धारावाहिक का भी रीमेक बनना चाहिए। वैसे भी इसके लिए स्टार कास्ट आज के दिनों में चुनना कोई बड़ी बात नहीं। एक्टर्स आसानी से मिल जाएंगे। उन्होनें पुरानी बातों को याद करते हुए यह भी बताया कि उस समय का यह पहला ऐसा शो था जो कि मल्टी कैमरा सेटअप पर फिल्माया गया था। उन्हें गर्व है कि वह दूरदर्शन के उन सदाबहार दिनों का हिस्सा भी रह चुकीं हैं। आने वाले दिनों में यह धारावाहिक वापस से दूरदर्शन पर शाम 6 बजे प्रसारित किया जाएगा।

यह भी पढ़िए- 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

दूरदर्शन ने एक बार फिर बनाई लोगों के दिलों...

default

दूरदर्शन पर "द जंगल बुक के पुन: प्रसारण पर...

default

रामानंद सागर की 'रामायण' एक बार फिर बनी लोगों...

default

कोरोना की इस महामारी में आयुष्मान खुराना...

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

जानिए बॉलीवु...

जानिए बॉलीवुड की...

चलिए जानते हैं कुछ एक्ट्रेसेस के बारे में जिन्होंने...

चाणक्य के अन...

चाणक्य के अनुसार...

सदियों से ये सोच चली आ रही है महिलाएं शारीरिक और मानसिक...

संपादक की पसंद

रामायण: घर-घ...

रामायण: घर-घर में...

रामानंद सागर की 'रामायण' लॉकडाउन में जब दोबारा प्रसारित...

खाद्य पदार्थ...

खाद्य पदार्थ जो...

आजकल आप थके-थके रहते हैं। रोमांस करने की आपकी इच्छा...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription