GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

नज़रअंदाज़ न करें पार्टनर की कमियां

संविदा मिश्रा

7th April 2020

एक कहावत है कि जब किसी से प्यार होता है तो उसकी कमियां भी खूबियां लगने लगती हैं। लेकिन क्या ऐसा होना आपके रिश्ते को मजबूती देता है या फिर आप अपने पार्टनर की कमियों को दूर करने की कोशिश करते हैं ?

नज़रअंदाज़ न करें पार्टनर की कमियां

अमूमन यह देखा गया है कि हर कपल के बीच में कभी न कभी किसी न किसी वजह से लड़ाई होती रहती है और इस लड़ाई को जन्म देती हैं दोनों के अंदर छुपी हुई कुछ न कुछ कमियां। दोस्तों छोटी मोटी  कमी तो हम सबके अंदर होती है पर कभी -कभी पार्टनर की बड़ी कमियां तलाक होने तक की दहलीज़  पर ला कर खड़ा कर देती हैं। यही वजह है कि हमें अपने पार्टनर की छोटी सी कमी को भी नज़रअंदाज़ न करते हुए उस पर निरंतर कार्य करते रहना चाहिए क्यूंकि कब छोटी कमियां मिल कर एक बड़ी लड़ाई की वजह बन जाएं यह पता ही नहीं चलता। आइए जानें कि  पार्टनर की कमियों को नज़रअंदाज़ करना भविष्य में पति और पत्नी दोनों के ही जीवन में कैसे नुकसानदेह साबित हो सकता है-

मेन्टल स्ट्रेस 

हम सभी अपनी अपनी रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में बेहद वर्क स्ट्रेस से गुज़रते हैं और घर लौटकर ऑफिस का गुस्सा पार्टनर पर निकालते हैं।  पार्टनर की लगभग हर बात पर हम झल्लाहट भरा ही उत्तर देते हैं जो कि ओवर रिएक्शन कहलाता है।  हमें इस ओवर रिएक्शन को नज़रअंदाज़ न करते हुए अपने पार्टनर को कूल होकर समझाना चाहिए। अगर हम भी ओवर रिएक्शन का जवाब गुस्से से देने लगेंगे तो स्वाभाविक है कि  वो किसी बड़े झगडे को अंजाम दे सकता है और मानसिक तनाव का कारण भी बन सकता है। 

ज़्यादा पज़ेसिव होना 

किसी भी रिश्ते के शुरुआती दौर में देखा जाता है कि पति पत्नी एक दूसरे  के लिए बहुत अधिक पज़ेसिव रहते हैं लेकिन वक़्त की रफ़्तार के साथ ये पज़ेसिवनेस धीरे-धीरे कम होती जाती है जिसका मूल कारण होता है बच्चों पर ज़्यादा ध्यान देना और ऑफिशियल  वर्क लोड। लेकिन इसके विपरीत कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो आजीवन अपने पार्टनर के लिए अत्यधिक पज़ेसिव रहते हैं जो निसंदेह पार्टनर के मन में कहीं न कहीं पीड़ा उत्पन्न करता है जैसे ऑफिस में लेट होने पर बार -बार पूंछना कि अभी तक कहां  थे ? अब  कहां  हो ? क्या कर रहे हो अथवा बार- बार पार्टनर का मोबाइल चेक करना।  अगर आपका पार्टनर भी ऐसे ही ओवर पज़ेसिव है तो यह मन में भरी नेगेटिविटी के कारण हो सकता है अथवा अपने पार्टनर को बिजी रखने के लिए कुछ घरेलू प्रोडक्टिव कामों में लिप्त रखें जिससे घर में एक पॉजिटिव औरा क्रिएट होगा और मन की नेगेटिविटी भी कम हो जाएगी। 

अधिक नशे की लत 

किसी भी प्रकार के नशे का अत्यधिक सेवन स्वास्थ्य  पर बुरा असर डालता है और अनेकों समस्याओं की वजह बन सकता है।  यदि आपके पार्टनर को भी नशे की कोई लत है तो उसे  छुड़वाने का प्रयास करें न कि आप भी उसके साथ इसमें इन्वॉल्व हो जाएं।  कई बार देखा गया है कि ज्यादा प्यार की वजह से पत्नी पति की ये लत छुड़वाने की बजाय खुद भी किसी लत में लिप्त हो जाती है लेकिन ऐसा करना बिलकुल गलत है क्योंकि ये आगे चल कर बड़ी बीमारी का रूप धारण कर सकता है। ख़ासतौर पर घर में पार्टनर के नशा करने पर पूर्णतया प्रतिबन्ध लगा दें क्योंकि  यह बच्चों पर बुरा असर डाल  सकता है। 

घरेलू हिंसा 

प्यार में पढ़कर अपने पार्टनर के अंदर किसी घरेलू हिंसा  की प्रवृत्ति का जन्म न होने दें।  कभी -कभी पार्टनर का हाथ उठाना भी अविश्वसनीय मोड़ ले सकता है और बड़ी हिंसात्मक घटना को अंजाम दे सकता है। ऐसे में उसके हाथ उठाने जैसी प्रक्रिया को नज़रअंदाज़ न करके अपने व अपने पार्टनर की जीवन शैली में बदलाव करके इसको रोकने का प्रयास करें। 

 

ये भी पढ़ें -

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

सेक्स की ये गलतियां ला सकती हैं रिश्ते में...

default

महिलाओं की सेक्स में कम होती रुचि

default

इन रोमांटिक तरीकों से करें प्यार का इजहार...

default

मौसम की तरह तुम भी बदल तो न जाओगे

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

जानिए बॉलीवु...

जानिए बॉलीवुड की...

चलिए जानते हैं कुछ एक्ट्रेसेस के बारे में जिन्होंने...

चाणक्य के अन...

चाणक्य के अनुसार...

सदियों से ये सोच चली आ रही है महिलाएं शारीरिक और मानसिक...

संपादक की पसंद

रामायण: घर-घ...

रामायण: घर-घर में...

रामानंद सागर की 'रामायण' लॉकडाउन में जब दोबारा प्रसारित...

खाद्य पदार्थ...

खाद्य पदार्थ जो...

आजकल आप थके-थके रहते हैं। रोमांस करने की आपकी इच्छा...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription