लॉकडाउन के समय पैट की ऐसे करें देखभाल

Monica Aggarwal

4th May 2020

इस समय हर कोई लॉकडाउन के दौरान घर के अंदर रह रहा है, यहां तक कि हमारे पालतू जानवर भी स्थिति का खामियाजा भुगत रहे हैं। अंदर बंद होना किसी के लिए भी आसान नहीं है, खासकर हमारे चार पैर वाले दोस्तों के लिए। इस सिचुएशन में अपने प्यारे छोटे दोस्तों की अतिरिक्त देखभाल करना बहुत महत्वपूर्ण है।तो हम लेकर आए हैं आपके लिए महत्वपूर्ण टिप्स।

लॉकडाउन के समय पैट की ऐसे करें  देखभाल

pet care

क्या आपके घर में पैट है और आप लॉकडाउन के चलते अपने घर में रहने को मजबूर हैं ?हम में से कई अपने प्यारे सबसे अच्छे दोस्तों के साथ अपने घरों में बंद हैं। लेकिन क्या होता है जब वह पालतू बीमार हो जाता है? या उसके बाल कटवाने की आवश्यकता है? या दिन के दौरान अधिक सोना शुरू कर देता है जब हम सिर्फ उनके साथ खेलना चाहते हैं

 ऐसे में मन में यह सवाल उठना लाज़मी है कि इस कठिन समय में पैट केयर कैसे करें। तो आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि घर में रहते हुए भी आप कैसे बड़ी ही आसानी से अपने पैट की देखभाल कर सकते हैं। तो आइए शुरू करते हैं…

उन्हें एक सुरक्षित स्थान दें

सबसे पहले, सभी पैट्स का घर में एक सुरक्षित स्थान होना चाहिए ।ताकि वे कुछ  समय सिर्फ अपने से खेल सकें। यह कोई सी भी जगह हो सकती है जैसे कि एक बेडरूम, बाथरूम, या सैपरेट रूम  ( बहुत गर्म या ठंडा न हो) या बस कोने में या डेस्क के नीचे एक बिस्तर हो।कई पालतू के लिए एक टोकरा भी एक उत्कृष्ट विकल्प है, और  उनका पसंदीदा स्थान भी बन सकता है। यहाँ, एक बिस्तर, कुछ पसंदीदा खिलौने, और शायद लंबे समय तक चलने वाले चबाने वाली आइटम्स या कुछ सामान रखें। 

स्किल्स सिखाइए - ट्रेनिंग दीजिए  

लॉकडाउन का सबसे बड़ा फायदा है - भरपूर समय का मिलना। जी हां, लॉकडाउन के चलते आपको अपने पैट के साथ भरपूर समय बिताने का मौक़ा मिला है, इसे ज़ाया ना होने दें। इस समय अपने पैट को नई स्किल्स सिखाने की कोशिश करें। यकीन मानिए, लॉकडाउन खुलने के बाद यह आपके बहुत काम आएंगी। 

 

समय बिताइए 

लॉकडाउन के चलते अधिकांश लोग डिप्रेशन का शिकार हो रहे हैं। ऐसे में आप खुद को लकी मानिए,क्योंकि आपके पास आपका सबसे भरोसेमंद साथी आपका पैट जो है। हालिया रिपोर्ट्स भी इस ओर इशारा करती हैं कि घर में मौजूद पैट डिप्रेशन को काफी हद तक कम करते हैं। इसलिए अपने पैट के साथ अधिक से अधिक समय बिताइए। 

पसंदीदा फ़ूड 

एक बात जो पैट्स को सबसे ज्यादा पसंद आती है वह है - पसंद का फ़ूड। जी हां, लॉकडाउन में अपने पैट के लिए पसंदीदा खाना ज़रूर बनाएं। याद रखें कि लॉकडाउन के चलते पैट्स भी घरों में लम्बे समय से कैद हैं और यह उनके मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी उतना ही चुनौतीपूर्ण है जितना कि हमारे। ऐसे में पसंद खाना मिलने से उनका मन भी ख़ुशी से भर उठेगा। कई लोग पैट्स को बचा हुआ बासी खाना खिला देते हैं जिससे उनकी तबियत ख़राब होने की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए पैट्स को भी ताज़ा खाना दें क्योंकि लॉकडाउन में अगर उनकी तबियत ख़राब हो गई तो उनके साथ आप भी परेशान होंगे।  पैट्स को हल्का पचने लायक खाना दें और उनके खाने में नमक, तेल मसाला न हो इस बात का ध्यान ज़रूर रखें।

एक्टिविटी करवाएं

लॉकडाउन के चलते पैट्स का बाहर निकलना बेहद कम हो गया है। ऐसे में उनके स्वास्थ्य के लिए कसरत या किसी भी प्रकार की एक्टिविटी करना बेहद ज़रूरी है। अपने पैट के स्वास्थ्य के अनुसार उससे कोई ना कोई एक्टिविटी जैसे दौड़ लगवाना आदि ज़रूर करवाएं। आप पैट्स के साथ घर में ही खेलने का समय भी बढ़ा सकते हैं, जिससे उनकी फिजिकल एक्टिविटी भी बढ़ेगी और उनका स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा। 

हाइजीन का रखें ध्यान 

कोरोना संक्रमण के इस दौर में  पैट्स के हाइजीन का ध्यान रखना भी बेहद ज़रूरी है। इसलिए आप जब भी इन्हें घर से बाहर वॉक पर लेकर जाएं तो लौटते ही इनके पैरों को अच्छी तरह से साफ़ करना ना भूलें। साथ ही यह भी ध्यान रखें कि आपका पैट किसी भी संदिग्ध वस्तु को ना छुए। इन छोटी-छोटी टिप्स की मदद से आप बड़ी ही आसानी से लॉकडाउन पीरियड में भी पैट्स की देखभाल कर सकेंगे।

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

किशोर और COV...

किशोर और COVID-19: चुनौतियां और अवसर

लॉकडाउन में ...

लॉकडाउन में बेसहारा जानवरों की आप भी कर सकते...

सास का शगल ह...

सास का शगल होती है घर में राजनीति

भुला मत दीजि...

भुला मत दीजिएगा अच्छी आदतों को

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

घर पर वाइट ह...

घर पर वाइट हैड्स...

वाइट हैड्स से छुटकारा पाने के लिए 7 टिप्स

बच्चे पर मात...

बच्चे पर माता-पिता...

आपकी यह कुछ आदतें बच्चों में भी आ सकती हैं

संपादक की पसंद

तोहफा - गृहल...

तोहफा - गृहलक्ष्मी...

'डार्लिंग, शुरुआत तुम करो, पता तो चले कि तुमने मुझसे...

समझौता - गृह...

समझौता - गृहलक्ष्मी...

लेकिन मौत के सिकंजे में उसका एकलौता बेटा आ गया था और...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription