GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

कोविड-19 : ड्राइंग रूम करें सैनिटाइज ,अपनाएं ये टिप्स

मोनिका अग्रवाल

7th May 2020

कोविड 19 के खतरे को देखते हुए ,ऐसी स्थिति में ड्राइंग रूम को कैसे साफ रखें और सैनिटाइजेशन के लिए क्या तरीके अपनाएं

कोविड-19 : ड्राइंग रूम करें सैनिटाइज ,अपनाएं ये टिप्स

कोविड 19 के खतरे को देखते हुए लॉकडाउन की वजह से ज्यादातर जनसंख्या अपने घरों में कैद है। भारत में पिछले डेढ़ महीने से लॉकडाउन के बाद ऑफिस बंद हैं, बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे और जनजीवन पर मानिए जैसे ब्रेक लग गया है। ऐसे में सभी का ज्यादातर समय घर में बीत रहा है। घर के भी कुछ हिस्से बेहद संवेदनशील होते हैं जैसे कि ड्राइंग रूम। यहां लोगों का वक्त सबसे ज्यादा बीतता है इसलिए इन्फेक्शन फैलने की संभावना भी यहां सबसे ज्यादा होती है। 

हम सभी अब तक जानते हैं कि sanitisers आपके हाथों पर कीटाणुओं को मारते हैं लेकिन आपके घर में सतहों के बारे में क्या? खैर, यहां कुछ आवश्यक सुझाव दिए गए हैं कि आप COVID-19 के दौरान अपने घर को कैसे साफ और सुरक्षित रख सकते हैं!

एंट्री से पहले रखें सावधानी

 लॉकडाउन के समय घर का कोई भी व्यक्ति ड्राइंग रूम से होकर ही बाहर आएगा और जाएगा। ऐसे में सावधानी बरतने की बेहद ज़रूरत है। बाहर से कोई भी सामान लेकर आएं तो सीधे घर में प्रवेश न करें। चप्पल बाहर उतारें और बाहर से लाए सामान को भी डिसइन्फेक्ट करने के बाद ही अंदर लेकर जाएं।मास्क और ग्लव्स को भी डिस्पोज करना बेहद ज़रूरी है। राशन के पैकेट को ब्लीचिंग पाउडर के पानी में तकरीबन एक घंटे तक डालकर रखें। इसके अलावा सब्जी को नमक के पानी में एक घंटे तक रखने के बाद धोकर ही इस्तेमाल करें। 

 सफाई के टिप्स

 हफ्ते में कम से कम दो बार ड्राइंग रूम की सफाई करें। सोफे के कवर, कुशन कवर को गर्म पानी में डालकर धोएं। इससे उनमें मौजूद बैक्टीरिया और कीटाणु मर जाएंगे। डस्टिंग के लिए पानी में साबुन का घोल का इस्तेमाल करें। इससे गंदगी तो मिटेगी ही साथ ही ड्राइंग रूम में चमक भी आ जाएगी। फर्श की सफाई के लिए फिनाइल का पोछा सबसे सही है क्योंकि इससे फर्श पर मौजूद कीटाणुओं का सफाया हो जाएगा। अगर घर में फिनाइल मौजूद नहीं है तो आप पानी में नमक डालकर भी उसका पोछा लगा सकते हैं। इससे घर में मौजूद नेगेटिविटी भी दूर होती है।

खिड़की-दरवाजों की करें सैनिटाइजिंग

कोविड-19 श्वास की बूंदों से फैलता है। ऐसे में घर के खिड़की और दरवाजे पर वायरस के चिपकने की संभावना सबसे ज्यादा रहती है। इसलिए उन्हें भी ब्लीचिंग पाउडर के पानी से या साबुन के पानी से समय-समय पर साफ करें। ड्राइंग रूम में रखे टेबल, कुर्सियों भी साफ-सफाई भी इसी से करें। डोर नॉब वगैरह को हैंडल से न छुएं बल्कि कोहनी के धक्के से खोलें तो बेहतर है।

एसी की सफाई भी जरुरी

ड्राइंग रूम में अगर एसी लगा है तो उसका तापमान 26 से 30 डिग्री के बीच रखें। इससे कम तापमान न रखें। एसी की नियमित सफाई करें। कम से कम एक महीने में उसे साफ करें। देखें कि फ़िल्टर स्क्रीन, वेंटिलेशन ठीक से काम कर रहे हैं या नहीं। सफाई के लिए क्लोरीन का पानी एसी के साइड्स में चिढ़क सकते हैं और 30 मिनट बाद उसे पोंछ लें।

जरूरी निर्देश

विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोनावायरस 24 घंटे तक प्लास्टिक और स्टेनलेस स्टील और कार्डबोर्ड जैसी सतहों पर रह सकता है। इन सतहों को अक्सर छुआ जाता है। जैसे डोर नॉब्स,रसोई काउंटर,डाइनिंग चेयर,लाइट का स्विच, सोफा फर्नीचर ,डायनिंग टेबल, काउच  आदि।इसलिए सफाई और कीटाणुरहित करने के लिए इन सभी ज्यादा छूने वाली सतहों को साफ करें। 

  • इसे साबुन के पानी या एक  स्प्रे से अच्छी तरह से पोंछ लें।
  • इन सतहों पर उपयुक्त कीटाणुनाशक लगाएं। ऐसा करते समय डिस्पोजेबल दस्ताने पहनें।
  • ध्यान रखें कि आप जिस जगह में सफाई कर रहे हैं, वहां पर्याप्त वेंटिलेशन हो।
  • कम से कम 70% अल्कोहल सामग्री के साथ एक पतला ब्लीच  या अल्कोहल-आधारित सोल्यूशन का उपयोग करें।
  • अपने हाथों को साबुन से अच्छी तरह से धोएं।

 

 

और यह भी पढ़ें

ऑनलाइन सामान मंगवाने से पहले, जान लें यह जरूरी बातें

सैनिटाइज करें अपना बेडरूम

डाइट स्ट्रांग इम्यूनिटी के लिए

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

कोविड-19 बच्...

कोविड-19 बच्चों का रूम करें सैनिटाइज

कोविड-19 बच्...

कोविड-19 बच्चों का रूम करें सैनिटाइज

घर को बाहर स...

घर को बाहर से कैसे करें सैनिटाइज, जानें कुछ...

कोविड-19 बच्...

कोविड-19 बच्चों का रूम करें सैनिटाइज

पोल

आपकी पसंदीदा हिरोइन

गृहलक्ष्मी गपशप

पहली बार घर ...

पहली बार घर रहे...

लाॅकडाउन से पहले अक्षय कुमार की फिल्म सूर्यवंशी रीलीज़...

अनलाॅक 2 में...

अनलाॅक 2 में 31...

मिनिस्ट्री आफ होम अफेयर्स ने कहा है कि जो डोमैस्टिक...

संपादक की पसंद

गुरु एक सेतु...

गुरु एक सेतु है,...

गुरु तो एक सेतु है, एक संभावना है। गुरु एक तरह की रिक्तता...

दिल जीत लेंग...

दिल जीत लेंगे जयपुर...

जयपुर को गुलाबी शहर कहा जाता है लेकिन ये महलों का शहर...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription