GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

एक्सट्रा मैरिटल अफेयर्स

Poonam Mehta

8th May 2020

विवाहों के टूटने का दंश समाज को, बच्चों को, बुजुर्ग माता पिता को भुगतना पडता है इसीलिए ‘‘एक्सट्रा मैरिटल अफेयर्स’’ पर भी कडा मन रख के माफ कर के एक नए अटूट रिश्ते की शुरुआत की जा सकती है।

एक्सट्रा मैरिटल अफेयर्स

रुटीन हमें व्यवस्थित रखता है पर कई बार बोर भी कर देता है। वर्षो तक साथ रहने के बाद जीवन साथी के प्रति हम लापरवाह से हो चलते है।

‘‘टेकन फाॅर ग्रान्टेड'' होते ही हर अच्छाई कर्तव्य और हर बुराई अवगुण हो जाती है। आज के जमाने की तकनीक भी हमारी निजता को बनाए रखने में कारगर है, फलतः एक्सट्रा मैरिटल अफेयर्स आज आम हो गए है। क्यों हो जाते है पार्टनर बेवफा। क्या देहिक विविधता की तलाष होती है या जीवन में नएपन की, रोमांस की जरुरत महसूस करते हैं या भावनात्मक साथ की ? छिपाने और झूठ बोलने का रोमांच उन्हे अच्छा लगता है या वाकई वे आसक्त रहते है ?

 

आईए पड़ताल करें:-

महिलाएं ध्यान चाहती है:-विवाह काउन्सलर और विषेषज्ञों का मानना है कि महिलाएं अकेलेपन को कम करना चाहती है और मित्रता इसीलिए करती है कि कोई उन्हे ध्यान से सुने। विवाहित जीवन में अक्सर पति या बच्चे महिला को समझ नहीं पाते और यही उनके जीवन की सबसे बड़ी विड़ंबना बन जाती है।

 

बीइंग एप्रीषिएटेड:-  एप्रीषिएट होने की इच्छा हम में से सबको होती है। हम में से प्रत्येक, दूसरे से प्रषंसा सुनकर संतुष्टि पाता है। पर विवाह के गुजरते वर्षो में एक दूसरे को एप्रीषिएट करना हम कम कर देते है। पुरुष अपने पावर और इन्टलेक्ट के लिए पहचाने जाना चाहते है. पुरुषों को अपनी व्यवस्था सम्बन्धी योग्यताओं पर बहुत नाज होता है, वे स्ट्रांग ह्यूमन्स के रुप में पहचाने जाना चाहते है।

स्त्री को डिज़ाएरेबल लगना पसंद है:- स्त्रियों को स्वंय की सेल्फ एस्टीम के लिए और सैक्सी फील करने के लिए पुरुषों के ध्यान की आवष्यकता महसूस होती है।ईगो बूस्ट होता है:-विपरीत लिंगी के साथ बिताए थोडे समय में ईगो को बूस्ट मिलता है और मन को तसल्ली।

स्वंय के प्रति आप पुनः आष्वस्त से हो जाते है। काॅन्फिडेन्स वापस लौट आता है। स्पाउस एक दूसरे का भावनात्मक सहारा नहीं बनना चाहते:-षादी के बाद पति पत्नी एक दूसरे की भावनात्मक जरुरतें पूरी करने से बचते है। उन्हे डर होता है कि दूसरा कहीं उन्हे अपना गुलाम ना बना ले। वे सच सुनना पसंद नहीं करते। अपनी भावनाएं भी कई बार एक दूसरे से छिपा लेते है। षादी षादी नहीं युद्ध का मैदान बन जाती है।

असंतोष पनपता है:- विवाह में जब मन नहीं मिलते, अन्डरस्टेडिंग गडबडा जाती है एक असंतोष सा पनपने लगता है। यही असंतोष किसी दूसरे की तरफ आकर्षित करता है और एक्सट्रामेरिटल अफेयर पनपते है।

एक साईक्रेटरिस्ट के षब्दों में - इंसान हमेषा किसी ऐसी साथ की तलाष में रहता है जो उसे उसकी कमियांे और खूबियों के साथ स्वीकार कर सके। जब आप किसी के साथ कम्फर्टेबल होते हो तो आप ज्यादा संयम नहीं रखते बस यहीं से षुरुआत होती है अफेयर की आपको अपना तथाकथित पार्टनर (अफेयर वाला) जन्मों जन्मों का साथी लगने लगता है। उसका साथ आपमें एक नशा सा भरने लगता है और नैतिकता अनैतिकता की समस्त सीमाएं आप लांघ जाते है। सामने आया अवसर और अफेयर का थ्रिल आपसे कई ऐसे काम करवाता है जिस पर खुद आपको भी यकीन नहीं आता।

आप अपनी प्रत्येक हरकत को सही ठहराते है आपको लगने लगता है कि आपको नए सम्बन्ध बनाने का पूरा हक है। ‘‘शारीरिक भूख'' अफेयर को एक मदमस्त कर देने वाले रोमांच से सरोबार कर देती है। नएपन की चाह, उससे उपजा अहसास बहुत हद तक इन रिश्तों को टिकाए रखता है। यदि आपके साथ भी ऐसा कुछ हुआ हो, आपके पार्टनर का यह सच आपको पता चले कि वो आपको बिना बताए किसी और से मानसिक, शारीरिक और भावनात्मक रुप से जुडा हुआ है तो निःसन्देह आप टूट जायेंगे। शाॅक की अवस्था में आ जायेंगे।

 

आप अलग तरीके से रीएक्ट करेंगे:- गुस्से दुःख उत्तेजना से सरोबार आप उसके हर काम को, हर क्रिया को शक की निगाहों से देखेंगे। आप समझने की कोशिश करेंगे कि क्या वो हमेशा से ही आपसे झूठ बोलता रहा ? दूसरे के प्रति आकर्षित होने का उसका कारण क्या था ? क्या वो आपसे बेहतर था ?शारीरिक हो या भावनात्मक स्तर पर बेवफाई से दिल टूटता है:- रिश्ते छिन्न भिन्न हो जाते है। जिसका दिल टूटता है कई बार तो वो अपने आप में सिमट से जाते है पर कई लोग पार्टनर को उसी अफेयर के बारे में बार बार जाहिर करके बेइज्जत करते है। हर अफेयर का मतलब पुराने रिश्तों का हमेशा के लिए टूट जाना नहीं होता:- हो सकता है आपके बच्चों की खातिर आपको साथ में रहना पडे या बूढे़ माॅ बाप को आप दुःख न पहुंचाना चाहते हो। तलाक से जुडे हर पहलू पर सोच समझ के निर्णय लेने के बाद आप यदि हर तरह के परिणाम के लिए तैयार हो तो सम्बन्ध खत्म कर दीजिए।

क्या रिश्ता तोडने योग्य मुद्दा है:- अपने जीवन पर नजर डालिए। क्या आप दोनो साथ में खुश और सन्तुष्ट रहे है ? क्या आप एक दूसरे के पूरक है ? यदि उत्तर हां में है तो फिर सिर्फ एक फ्लिंग को या अफेयर के कारण अपना रिश्ता खत्म मत कीजिए।

 

धमकाईये मत और भीख भी मत मांगिए:- अफेयर का पता चलने के बाद साथी को ब्लेकमेल करना, धमकाना या उससे दया की भीख मांगना गलत है। अपनी गरिमा बनाए रखिए। अपने पार्टनर के साथ कनेक्टेड रहने के लिए आपको स्वंय का व्यक्तित्व लुभावना और बोल्ड बनाए रखना पडेगा।

 एक्स्ट्रस मैरिटल अफेयर रिश्ते का अन्त नहीं:- रिसर्च बताते है कि शुरुआत में भले ही लगे पर ऐसे अफेयर तीन चार प्रतिशत ही विवाह में तब्दील होते है। बाकी तीस प्रतिशत तो दो महीने से भी कम चल पाते है और बाकी तीस प्रतिशत कुछ ज्यादा चलते है पर चार साल से ज्यादा नहीं इसलिए धीरज रखिए।

समय निकालिए:- एक्सट्रा मैरिटल अफेयर का पता चलते ही निष्कर्ष पर मत पहुंचिए। समय निकालिए धैर्य से सोचिए। कह देने के बाद आप वापिस नहीं आ सकते या तो रिश्ता निभाना पडेगा या तुरन्त छोडना पडेगा।

सोच समझ के निर्णय लें:- सच्चाई उगलवाने से पहले आपको मालूम होना चाहिए कि आप कितना सह पायेंगे। क्या आप उसके शारीरिक सम्बन्धों की बात सुनके उद्वेलित हो उठेंगे या उसके भावनात्मक स्तर पर जुडाव से परेशान होंगे।

सच्चाई जाने:- क्या आप तलाक ले के अकेले गुजारा कर लेंगे ? क्या आप आर्थिक रुप से  सक्षम है ? पति पत्नी पर घर के कामों के लिए और पत्नी पति पर आर्थिक दृष्टि से निर्भर होती है अतः सोच समझ कर निर्णय लेना सही रहता है।

माफ करना सीखें:- यदि पार्टनर गलती मान रहा है और आगे से कभी ऐसा नहीं होगा कह रहा है तो आप भी उसके आचरण को परखने के बाद उसे माफ कर दीजिए। गलती सभी से होती है।

प्रौफेशनल की मदद लें:- विवाह काउन्सलर्स इस काम में अपने प्रौफेशनल स्किल्स से आपकी मदद कर सकते है। उनसे मदद लेना रिश्ते जोडने के लिए अच्छा है। हम सभी इन्सान है। मानव स्वाभाव से कई गलतियां हो जाती है। शादी जैसे बन्धन जिसको निभाने में साल लग जाते है उसे ऐसे ही तोड देना श्रेयस्कर नहीं। विवाहों के टूटने का दंश समाज को, बच्चों को, बुजुर्ग माता पिता को भुगतना पडता है इसीलिए  ‘‘एक्सट्रा मैरिटल अफेयर्स'' पर भी कडा मन रख के माफ कर के एक नए अटूट रिश्ते की शुरुआत की जा सकती है।

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

आखिर क्या है...

आखिर क्या है एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की वजह.........

आप भी इमोशनल...

आप भी इमोशनल अफेयर में है

Extramarital...

Extramarital Affair- तुम करो तो माफी, हम...

ग्रेट सेक्स ...

ग्रेट सेक्स के हॉट अंदाज

पोल

आपकी पसंदीदा हिरोइन

गृहलक्ष्मी गपशप

पहली बार घर ...

पहली बार घर रहे...

लाॅकडाउन से पहले अक्षय कुमार की फिल्म सूर्यवंशी रीलीज़...

अनलाॅक 2 में...

अनलाॅक 2 में 31...

मिनिस्ट्री आफ होम अफेयर्स ने कहा है कि जो डोमैस्टिक...

संपादक की पसंद

गुरु एक सेतु...

गुरु एक सेतु है,...

गुरु तो एक सेतु है, एक संभावना है। गुरु एक तरह की रिक्तता...

दिल जीत लेंग...

दिल जीत लेंगे जयपुर...

जयपुर को गुलाबी शहर कहा जाता है लेकिन ये महलों का शहर...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription