GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

बच्चों की डाइट और फिजिकल एक्टिविटी का रखें ध्यान,लॉकडाउन में

मोनिका अग्रवाल

13th May 2020

खाने पीनी की कई वस्तुओं की उपलब्धता कम होने से इसका सीधा असर सेहत पर भी पड़ता है। सवाल उठता है कि हम बच्चों के लिए ऐसा क्या करें, जिससे पोषण की कमी और फिजिकल एक्टिविटी प्रभावित नहीं हो

बच्चों की डाइट और फिजिकल एक्टिविटी का रखें ध्यान,लॉकडाउन में

diet n Physical Activity

बच्चों के खाने-पीने की आदतें अक्सर अनियमित रहती हैं, ऊपर से लॉकडाउन का होना इस परेशानी को और बढ़ा देता है। लॉकडाउन होने की वजह से एक तो बच्चा कहीं बाहर ठीक से खेलने नहीं जा सकता, दूसरी तरफ खाने पीनी की कई वस्तुओं की उपलब्धता कम होने से इसका सीधा असर सेहत पर भी पड़ता है। सवाल उठता है कि हम बच्चों के लिए ऐसा क्या करें, जिससे पोषण की कमी और फिजिकल एक्टिविटी प्रभावित नहीं हो, आइए जानते हैं। 

diet for kids

लिक्विड डाइट का रखें ख़याल 

लॉकडाउन के चलते अधिकांश घरों में सीमित खाद्य पदार्थ मौजूद हैं और ज़्यादातर आलू या दालें ही बनती हैं। चूंकि, बच्चे इस डाइट से बेहद जल्दी ऊब से जाते हैं, ऐसे में ज़रूरी है कि समय-समय पर बच्चों को लिक्विड डाइट दी जाए। यह डाइट बच्चे आसानी से फॉलो भी कर लेंगे और इससे उनके शरीर में पोषक तत्वों की कमी नहीं होगी। लिक्विड डाइट में आप उन्हें - दही की लस्सी, छाछ, ग्लूकोस, चॉकलेट शेक आदि दे सकते हैं, जिससे बच्चों को अच्छी एनर्जी मिलेगी।

liquid diet

कैलोरीज का लेखा-जोखा 

बढ़ते हुए बच्चों के ओवरऑल विकास के लिए यह बेहद ज़रूरी है कि कैलोरीज का ध्यान रखा जाए। इसके लिए आप बच्चों को दी जाने वाली खाने-पीने की चीजों में मौजूद कैलोरीज को ध्यान से पढ़ें। इनकी मात्रा कम होने से कुपोषण का खतरा होता है, वहीं अधिक कैलोरी का मतलब है मोटापा। इसलिए, बच्चों को दी जाने वाली डाइट में कैलोरी का ध्यान रखने से आप बड़ी ही आसानी से पोषक तत्वों की कमी को पूरा कर सकते हैं।

calorie count

उम्र के अनुसार एक्टिविटी चुनें 

बच्चे की उम्र के अनुसार उसके लिए एक्टिविटी चुनें, यदि आपका बच्चा छोटा है तो घर में ही उससे कोई ना कोई एक्टिविटी - जैसे साइकल चलवाना आदि करवा सकते हैं। वहीं, बच्चे यदि थोड़े बड़े हैं तो आप उन्हें कोई भी अन्य स्पोर्ट्स खेलने के लिए भी प्रेरित कर सकते हैं। कुल मिलाकर, आपको यह देखना है कि बच्चा अपनी उम्र से अधिक या कम मेहनत वाली एक्टिविटी में शामिल ना हो और एक प्रॉपर बैलेंस बना रहे।

null
agewise activity

कितने समय तक एक्टिविटी करवाएं

बच्चों को दिन में कम से कम 1 घंटे कोई ना कोई फिजिकल एक्टिविटी करना चाहिए। यह उनकी हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद है। इससे ना सिर्फ उनमें ऊर्जा का संचार होता है, बल्कि रोग प्रतिरोधक क्षमता भी इससे बढ़ती है। बच्चा यदि बाहर खुले में खेलने जा सके तो सबसे बढ़िया लेकिन लॉकडाउन में ऐसा संभव नहीं। इसलिए आप ऐसी कोई एक्टिविटी चुनें जिसे बच्चे घर में रहते हुए ही आसानी से कर सकें।

null
time bound Activity

यह भी पढ़ें--

जानिए, कोरोनासंक्रमण से बचाव के लिए कौन सा मास्क है सबसे बेहतर

ऑनलाइन क्लासेस लेने से पहले जाने जरूरी बातें

किशोर और कोविड-19 की चुनौतियां

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

लॉकडाउन में कैसे रखें स्पेशल किड्स का ध्यान,...

default

बच्चे को गलती की सजा से भी मिल सकती है सीख...

default

वीकेंड या हालिडे को बदलें फनडे में

default

कोविड-19 बच्चों का रूम करें सैनिटाइज

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

अच्छे शारीरि...

अच्छे शारीरिक, मानसिक...

इलाज के लिए हर तरह के माध्यम के बाद अब लोग हीलिंग थेरेपी...

आसान बजट पर ...

आसान बजट पर पूरा...

आपकी शादी अगले कुछ दिनों में होने वाली है। आपने इसके...

संपादक की पसंद

आध्यात्म ऐसे...

आध्यात्म ऐसे रखेगा...

आध्यात्म को कई सारी दिक्कतों का हल माना जाता है। ये...

बच्चों को हा...

बच्चों को हाइड्रेटेड...

बच्चों के लिए गर्मी का मौसम डिहाइड्रेशन का कारण बन...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription