GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

क्या आपका मोबाइल आपके गर्दन के दर्द का कारण है

मोनिका अग्रवाल

14th May 2020

कुछ तरीके जिनका उपयोग आप गर्दन पर पड़ने वाले तनाव से बचने के लिए कर सकते हैं

क्या आपका मोबाइल आपके गर्दन के दर्द का कारण है

स्मार्टफोन के प्रसार के साथ बड़ी संख्‍या में भारतीय इसके उपयोगकर्ता बन गये हैं। स्मार्टफोन के निर्माता विवो द्वारा किए गए एक संयुक्त सर्वे के अनुसार, भारतीय जितनी देर जागते रहते हैं उसका एक तिहाई समय स्‍मार्टफोन की स्‍क्रीन देखने में बिता देते हैं। लंबे समय तक स्‍क्रीन पर देखने से सर्वाइकल स्‍पाइन (रीढ़ की हड्डी) पर अधिक दबाव पड़ता है, जिससे कारण गर्दन में दर्द होने लगता है। मात्र 15 डिग्री तक का झुकाव रीढ़ पर 25 पाउंड से अधिक दबाव डाल सकता है। यह मुद्रा बहुत हद तक अप्राकृतिक है और अधिक समय तक अनियमित तनाव बने रहने से रीढ़ के साथ-साथ आसपास के ऊतकों पर भी बुरा असर पड़ता है।एच.पी. भारती - उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी और डॉ.राजीव राजेश - जिंदल नेचरक्योर इंस्टीट्यूट में मुख्य योग अधिकारी  कुछ तरीके बता रहे हैं जिनका उपयोग आप गर्दन पर पड़ने वाले तनाव से बचने के लिए कर सकते हैं --

null
neck pain
  • सामने की तरफ देखें - अपने फोन को आंखों के स्तर तक ऊपर उठाएं। इससे आपके गर्दन का झुकाव कम होगा और इससे यह सुनिश्चित होगा कि आपकी रीढ़ की हड्डी सीधी है। यदि आप बार-बार उपयोग के दौरान अपने डिवाइस को उठाने में सहज नहीं हैं, तो अपनी गर्दन झुकाने के बजाय खुद को इस तरह से प्रशिक्षित करें जिससे बिना गर्दन नीचे झुकाये आप अपने स्‍क्रीन को देख सकें। 

सामने की तरफ देखें
  • अपनी मुद्रा की जांच करें - आप बैठकर डिवाइस का उपयोग कर रहे हैं तब रीढ़ की हड्डी को एकदम सीधा रखने की कोशिश करें। यदि आप अधिक समय तक अपने डिवाइस का उपयोग करना चाहते हैं तो किसी कुर्सी पर पीछे की तरफ सहारा देकर आराम से बैठ जायें और अपने हाथ को सीधा रखते हुए इसका प्रयोग करें। 

look straight
  • थोड़ा ब्रेक लें - यदि कई घंटों तक अपने डिवाइस का उपयोग करते हैं, तो अपनी पीठ और गर्दन को आराम देने के लिए नियमित अंतराल पर छोटे-छोटे ब्रेक लें। अपने डिवाइस के उपयोग को एक बार में 15 मिनट तक के लिए सीमित करें। यदि आपकी नौकरी में लगातार टेक्सटिंग (मैसेज भेजना) शामिल है, तो ऐसा करने की बजाय फ़ोन कॉल कर लें। 

null
neck movement
  • इन स्ट्रेच (खिंचाव) को आजमाएं - सीधे बैठें और अपनी ठुड्डी (चिन) को पीछे की तरफ दबायें। कुछ सेकंड के लिए इसी स्थिति में रहें और इस क्रिया को कई बार दोहराएं। रीढ़ की हड्डी को सीधा रखने के लिए सीधी लकड़ी की कुर्सी का प्रयोग करें। अपने कंधों को अपने कानों की सीध में रखें। कंधे का व्‍यायाम आपकी गर्दन को रीढ़ की हड्डी की सीध में रखने का सबसे अच्‍छा तरीका है। 

neck exercise

गर्दन के दर्द से निपटने के लिए योगासन करें

मांसपेशियों के दर्द से निपटने के लिए कुछ योगासन फायदेमंद हैं। आइए हम कुछ ऐसे आसनों पर नजर डालें जो गर्दन के दर्द को कम करने में मददगार हैं। 

  • पुर्वोत्‍तनासन - यह मुद्रा न केवल सीने के मांसपेशियों को फैलाती है, बल्कि कंधे के पसलियों को भी स्थिर करती है। इसे करने के लिए अपने पैरों को सीधा फैलाकर बैठें। कंधे के पसलियों को बाहर की ओर मोड़ें और अपने हथेलियों को अपने कूल्हों के बगल में जमीन पर दबाएं। धीरे-धीरे अपने कूल्हों को उठाएं और अपने पैरों को सीधा करें जब तक कि आप पूरी तरह से सीधे तन न जायें। अपने सिर को पीछे की तरफ ले जाएं और पांच बार गहरी सांस लेते हुए इस स्थिति में रहें, फिर सामान्‍य स्थिति में आ जायें। 

पुर्वोत्‍तनासन
  • गोमुखासन - योगासन की यह मुद्रा आपके ऊपरी बांहों को खोलती है और कंधों और सीने की मांसपेशियों को फैलाती है। इसे करने के लिए सामने अपने पैरों को फैलाकर सीधे बैठ जायें। अब दाएं पैर को मोड़ें और बाएं पैर के नीचे इस तरह रखें कि दायां पैर कूल्हे को छूए। बाएं पैर को दाहिने पैर के ऊपर रखें ताकि उसकी एड़ी दाएं कूल्हे को छूए। बाएं हाथ को बाएं कंधे के ऊपर ले जाएं। दाहिने हाथ को पीठ के पीछे रखें। हाथों की उंगली को पकड़ें। रीढ़ और सिर एकदम सीधा रखें। सामान्य रूप से सांस लेते रहें। पैरों और हाथों की स्थिति को बदलकर इसी अभ्यास को दोहराएं।

गोमुखासन
  • मार्जरीआसन - यह मुद्रा रीढ़ को ढीलाकर लचीला बनाती है। घुटने के बल खड़े रहें और घुटनों के बीच थोड़ा अंतर रखें। आगे की तरफ झुकें और हथेलियों को कंधे के नीचे और घुटने के सामने जमीन पर रखें। सांस लेते समय धीरे-धीरे अपने सिर, छाती और कूल्‍हे की हड्डियों को ऊपर उठाएं और पीठ के निचले हिस्से पर दबाव डालें। दस सेकंड तक के लिए इसी स्थिति में रहें। जब सांस छोड़ें तो सिर को नीचे की तरफ झुकाएं और ठोढ़ी को अपने सीने और अपनी पीठ के ऊपर जितना संभव हो ले जाएं और नितंबों को आराम दें। इस क्रिया को कई बार दोहराएं।

मार्जरीआसन

सुनिश्चित करें कि इन योगासनों का अभ्‍यास आप किसी प्रशिक्षित और अनुभवी योग प्रशिक्षक के मार्गदर्शन में तब करें जब तक इनको आप पूरी तरह से सीख न जायें। यदि आप इसे अपने तरीके से करेंगे और अगर सही तरीके से न कर पाये तो फायदे की जगह नुकसान होगा और आपके गर्दन का दर्द ठीक होने की बजाय और बढ़ जायेगा।

यह भी पढ़ें-

वीकेंड या हालिडे को बदलें फनडे में

टिप्स जो मानसून में रोमांस को लगा देंगे चार चांद

योगासन जो तनाव में देंगे आराम

फेशियल एक्सरसाइज जिससे आप पा सकती है सुन्दर एवं स्वस्थ त्वचा

 

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

फोन के अत्यधिक इस्तेमाल से हो सकती है फोन...

default

योगासन जो तनाव में देंगे आराम

default

ब्रैस्ट फीडिंग करवा रही हैं तो अपनी डाइट...

default

वर्क फ्रॉम होम के दौरान ऐसे रखें अपने इम्‍यून...

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

अच्छे शारीरि...

अच्छे शारीरिक, मानसिक...

इलाज के लिए हर तरह के माध्यम के बाद अब लोग हीलिंग थेरेपी...

आसान बजट पर ...

आसान बजट पर पूरा...

आपकी शादी अगले कुछ दिनों में होने वाली है। आपने इसके...

संपादक की पसंद

आध्यात्म ऐसे...

आध्यात्म ऐसे रखेगा...

आध्यात्म को कई सारी दिक्कतों का हल माना जाता है। ये...

बच्चों को हा...

बच्चों को हाइड्रेटेड...

बच्चों के लिए गर्मी का मौसम डिहाइड्रेशन का कारण बन...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription