GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

हद से ज्यादा रोमांस भी सही नहीं...जानिए क्यों

चयनिका निगम

14th May 2020

अधिकता हर चीज की खराब होती है। प्यार और रोमांस के मामले में भी बात ठीक बैठती है।

हद से ज्यादा रोमांस भी सही नहीं...जानिए क्यों
प्यार में होना कितना सुंदर हो सकता है, ये तो प्यार करने वाले ही जानते हैं। लेकिन वो ये नहीं जानते हैं कि प्यार की अधिकता अच्छी नहीं होती है। हद से ज्यादा प्यार पर मानो प्यार का रंग चढ़ ही नहीं पाता है। याद रखिए, प्यार करना अच्छा है, रोमांस भी अच्छा है लेकिन सिर्फ इन्हीं के बारे में सोचते रहना और महसूस करना सही नहीं है। वो कहते हैं न ‘एक्सेस ऑफ एव्रिथिंग इज बैड'। बस यही फंडा प्यार और रोमांस पर भी फिट बैठता है। इनकी भी अधिकता जीवन में खुशियां नहीं लातीं बल्कि दिक्कत और चिढ़चिढ़ापन ले आती हैं। ऐसे में जरूरी है कि प्यार और रोमांस की जरूरत और अधिकता में अंतर समझा जाए। समझा जाए कि प्यार लिमिट में करेंगे तो ही अच्छा रहेगा। कैसे होगा ये, आइए जानें-
क्वालिटी हो क्वांटिटी नहीं-
वैसे ये बात कई चीजों के साथ सूट करती है कि उसमें क्वांटिटी से पहले क्वालिटी होनी चाहिए। रोमांस का भी यही हाल है। आपको समझना होगा कि रोमांस और प्यार दिखाने में क्वालिटी जरूरी होती है। मतलब आप दिल की गहराई से प्यार करते हैं या नहीं ये जरूरी है। ना कि आप दिनभर में कितनी बार पार्टनर पर प्यार न्योछावर करते हैं। इसलिए प्यार दिल की गहराइयों से करना ज्यादा जरूरी होता है। 
ज्यादा रोमांस, ज्यादा पजेसिव तो नहीं-
कई बार हर वक्त रोमांस में डूबे रहने का मतलब ज्यादा पजेसिव होने से भी लगाया जाता है। आपको लगता है, आपका प्यार किसी और के पास न चला जाए। इसलिए आप हमेशा रोमांस और प्यार में डूबे रहना चाहते हैं। साथ में चाहते हैं कि पार्टनर भी आपकी तरह ही सोचे और इस भावना को समझे भी। जबकि आपकी ये आदत पार्टनर को दिक्कत दे सकती है। हो सकता है कि वो आपके पास आने भर से चिढ़ने लगे। एक तरफ आप सोच रहे होते हैं कि आप उन्हें प्यार दिखा रहे हैं, लेकिन दूसरी तरफ आपका पार्टनर आपसे दूर जा रहा होता है। उसको कह सकते हैं स्पेस मिल ही नहीं पाती है।
चीटिंग तो नहीं-
कई बार देखा गया है पार्टनर से चीटिंग करने और फिर इस बात का एहसास होने के बाद अक्सर लोग कुछ ज्यादा ही प्यार दिखाने लगते हैं। खुद को जांचिए कहीं ये सबकुछ इसी वजह से तो नहीं है। कुलमिलाकर बात ये है कि आप जो रोमांस और प्यार जता रहे हैं, वो सच्चा है भी या नहीं। कहीं एक्सट्रा लव खुद के झूठे एहसासों को छुपाने के लिए तो नहीं है। 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

ऑनलाइन पार्टनर: चुनें या नहीं

default

शादी हो धमाल, गिफ्ट हों कमाल

default

जब पुराना प्यार बन जाए पड़ोसी...

default

लॉकडाउन के दौरान पति-पत्नी अपने रिश्ते को...

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

अच्छे शारीरि...

अच्छे शारीरिक, मानसिक...

इलाज के लिए हर तरह के माध्यम के बाद अब लोग हीलिंग थेरेपी...

आसान बजट पर ...

आसान बजट पर पूरा...

आपकी शादी अगले कुछ दिनों में होने वाली है। आपने इसके...

संपादक की पसंद

आध्यात्म ऐसे...

आध्यात्म ऐसे रखेगा...

आध्यात्म को कई सारी दिक्कतों का हल माना जाता है। ये...

बच्चों को हा...

बच्चों को हाइड्रेटेड...

बच्चों के लिए गर्मी का मौसम डिहाइड्रेशन का कारण बन...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription