GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

लॉकडाउन में कैसे रखें स्पेशल किड्स का ध्यान, जानिए कुछ टिप्स

मोनिका अग्रवाल

17th May 2020

ध्यान करें कि बच्चा सुरक्षित महसूस करे न कि चिंतित रहे। लॉक डाउन की इस तनावपूर्ण स्थिति के दौरान माता-पिता का व्यवहार , उनके स्पेशल किड की बेचैनी बढ़ा सकता है।

लॉकडाउन में कैसे रखें स्पेशल किड्स का ध्यान, जानिए कुछ टिप्स

लॉक डाउन के समय स्पेशल किड की केयर

आपके घर में स्पेशल किड है, सामान्य दिनों तो आप  उसका  बेहतर ढ़ंग से ध्यान रखती होंगी लेकिन लॉकडाउन लगने से आपकी ज़िम्मेदारी थोड़ी और बढ़ गई हैं।हम अब लॉक डाउन के चौथे चरण की ओर बढ़ चले हैं ।  असल में इन दिनों आप बच्चे को लेकर कहीं आ-जा नहीं सकतीं, तो घर में रहते हुए आपका स्पेशल किड् भी बेचैन होगा।जिस वजह से इन दिनों  उसको संभालना आपके लिए चैलेंज से कम नहीं होगा । ऐसे में आप समझ नहीं पा रही होंगी कि उसका ध्यान कैसे रखें?तो यह लेख आपके लिए है ।मैं लाई हूं आपके लिए कुछ महत्वपूर्ण टिप्स जिन्हें अपनाकर आप इस सिचुएशन से आराम से बाहर निकल सकती है।

नॉर्मल रखें घर का माहौल

लॉकडाउन के चलते घरों में ज़रा सा भी तनावपूर्ण माहौल ना बने, इसका विशेष ध्यान आपको रखना है। कोशिश करें कि बच्चे के सामने घर का माहौल एकदम नॉर्मल रखा जाए, उसे उसकी पसंद के टीवी शो दिखाइए, पसंद की खाने-पीनी की चीजें दीजिए, साथ ही उसे आराम करवाइए ताकि वह रिलैक्स रहे। याद रखें, स्पेशल किड्स के सामने ऐसे कोई भी बात या न्यूज़ ना चलाएं जिसे देख वह डर जाए। घर के सदस्यों के लिए भी यह ज़रूरी है कि हर समय हंसी-ख़ुशी का माहौल बना रहे।

नॉर्मल रखें घर का माहौल

समय निकालें

यह स्वाभाविक है कि लॉकडाउन के चलते बच्चे के डेली रूटीन पर थोड़ा बहुत असर पड़े, ऐसे में वह बहुत जल्दी परेशानी का अनुभव कर सकता है। इसलिए आप, बच्चे को ज्यादा से ज्यादा समय देने की कोशिश करें, ताकि वह नॉर्मल रहे और बदली हुई सिचुएशन का उसपर ज्यादा प्रभाव ना पड़े। उसके मन की बात समझने का प्रयास करें। कई बार स्पेशल किड्स बहुत कुछ कहना चाहते हैं, ऐसे में उन्हें ध्यान से सुने ताकि कोई भी ऐसी बात उनके मन में ना रह जाए जिसे लेकर वह आगे परेशान होते रहें। 

null
समय निकालें

सुरक्षा का भाव मन में भरें

स्पेशल किड्स भावनात्मक रूप से थोड़े कमजोर होते हैं। ऐसे में लॉकडाउन उनकी मनोदशा पर गहरा असर डाल सकता है। इसलिए आप जितना हो सके बच्चे से बात करें, उन्हें यह विश्वास दिलाएं कि सबकुछ ठीक और आप उसके साथ हैं। ऐसा करने से उसके मन में उमड़ने वाली नकारात्मक भावना कम हो जाएगी और वह सामान्य बर्ताव करेगा।

null
सुरक्षा का भाव मन में भरें

प्रॉपर एक्सरसाइज़ और खाने-पीने का ध्यान रखें

लॉक डाउन के समय में घर से बाहर निकलना लगभग असंभव है। फिर भी, यदि आप बच्चे को बाहर ना ले जा सकें तो घर में ही किसी ना किसी एक्टिविटी में उसे शामिल करें। ऐसा करने से ना सिर्फ उसकी प्रॉपर एक्सरसाइज़ होगी बल्कि वह चिढ़चिढ़ा भी नहीं होगा। इसके ही साथ आपको बच्चे की डाइट का भी विशेष ध्यान रखना होगा, ताकि कोरोना संक्रमण के इस समय में उसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी बनी रहे।

null
प्रॉपर एक्सरसाइज़

यदि बच्चा बड़ा है

 बच्चे को स्थिति समझने की कोशिश करें और आश्वासन दें कि कुछ समय बाद ये स्थिति नहीं रहने वाली। इस समय नई चीजों को सिखाने पर जोर न दें।उन गतिविधियों के लिए प्रोत्साहित करें जिनके लिए आपका बच्चा सहज और परिचित है ताकि वह कंफर्ट जोन में रहे।  नई गतिविधियों पर जोर देना बच्चे को परेशान कर सकता  है।

null
यदि बच्चा बड़ा है

 

यह भी पढ़ें

  1. बच्चों में कोविड-19 का डर दूर करें। अपनाएं यह टिप्स 

  2. किशोर और कोविड-19 की चुनौतियां 

  3. कोविड-19 बच्चों का रूम करें सैनिटाइज

  4. बच्चों की डाइट और फिजिकल एक्टिविटी का रखें ध्यान,लॉकडाउन में

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

मां कैसे डाल सकती है बढ़ते बच्चे में अच्छे...

default

कोविड-19 बच्चों का रूम करें सैनिटाइज

default

कोविड-19 बच्चों का रूम करें सैनिटाइज

default

बच्चों की डाइट और फिजिकल एक्टिविटी का रखें...

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

अच्छे शारीरि...

अच्छे शारीरिक, मानसिक...

इलाज के लिए हर तरह के माध्यम के बाद अब लोग हीलिंग थेरेपी...

आसान बजट पर ...

आसान बजट पर पूरा...

आपकी शादी अगले कुछ दिनों में होने वाली है। आपने इसके...

संपादक की पसंद

आध्यात्म ऐसे...

आध्यात्म ऐसे रखेगा...

आध्यात्म को कई सारी दिक्कतों का हल माना जाता है। ये...

बच्चों को हा...

बच्चों को हाइड्रेटेड...

बच्चों के लिए गर्मी का मौसम डिहाइड्रेशन का कारण बन...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription